BREAKING NEWS

राजधानी में फूटा कोरोना बम, 24 घंटे में आए 19,486 नये मामले और 141 कि हुई मौत◾पश्चिम बंगाल चुनाव : EC ने शाम सात से सुबह 10 बजे तक रैलियों, जनसभाओं पर लगाया प्रतिबंध ◾कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए CICSE ने 10वीं,12वीं की परीक्षा टाली ◾ममता संविधान की रक्षा करने में विफल रहीं, केंद्रीय बलों पर लगा रही है आरोप : नड्डा ◾वीकेंड कर्फ्यू के दौरान ज्यादा अंतराल पर चलेंगी दिल्ली मेट्रो ट्रेनें, इन लाइन्स पर आधे घंटे का होगा इंतजार ◾भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी जल्द आएगा भारत, प्रत्यर्पण की मांग को ब्रिटेन सरकार ने दी मंजूरी◾अदार पूनावाला की अमेरिका से अपील, टीका उत्पादन बढ़ाने के लिए बाइडन हटाए कच्चे माल पर लगा निर्यात प्रतिबंध◾उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की बेकाबू रफ़्तार, रिकॉर्ड 27,426 नये मामले, 103 और मरीजों की मौत ◾बंगाल में कोरोना मामलों में बढ़ोतरी के लिए BJP जिम्मेदार, बाहरी लोगों के आने पर रोक लगाए EC : ममता बनर्जी ◾बंगाल में समाज को बांटने का रचा जाता है षड्यंत्र, ममता जी सहित TMC के सभी नेता दलित विरोधी : नड्डा ◾देश में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर PM मोदी ने की समीक्षा, राज्यों के साथ सहयोग सुनिश्चित करने के दिए निर्देश◾बंगाल में पांचवें चरण में 45 सीटों पर कल होगा मतदान, सुरक्षा के मद्देनजर केन्द्रीय बलों की 853 कम्पनियां तैनात◾यूपी में हर रविवार को होगा कंप्लीट लॉकडाउन, बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रू जुर्माना : CM योगी ◾अमित शाह ने राहुल को बताया ‘पर्यटक राजनेता’, कहा- दीदी मतुआ समुदाय को नहीं देगी नागरिकता◾डॉ. हर्षवर्धन ने AIIMS का किया दौरा, कहा- कोरोना जंग जीतने के लिए किसी चीज की नहीं है कमी ◾कोरोना से जंग जीतने के लिए केंद्र ने निकाला उपाय, राज्यों को UK मॉडल पर काम करने की दी सलाह ◾केंद्र की कोरोना रणनीति पर राहुल का तंज, 'तुगलकी लॉकडाउन लगाओ-घंटी बजाओ-प्रभु के गुण गाओ'◾रणदीप सुरजेवाला और जिग्नेश मेवाणी कोरोना पॉजिटिव, दिग्विजय सिंह भी हुए संक्रमित◾EC की आज सर्वदलीय बैठक, चुनावी रैलियों में कोविड नियमों के पालन पर होगी चर्चा◾देश में फिर टूटे कोरोना के सारे रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 2 लाख 16 हजार केस, 1185 लोगों की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

TOP 5 NEWS 14 FEBRUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें

1 - WEATHER UPDATES : बिहार में शीत का प्रभाव कम, अधिकतम तापमान में हो रही बढ़ोतरी

मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार सूबे में उत्तर पश्चिमी हवा का प्रभाव कम होने लगा है इस वजह से धूप में गर्मी महसूस हो रही है। पिछले दो दिनों से सभी शहरों का अधिकतम पारा सामान्य से दो से तीन डिग्री ऊपर रह रहा है। पिछले 24 घंटे में पूर्णिया में घने कोहरे की स्थिति रही और आर्द्रता 98 प्रतिशत तक रही। हालांकि धूप निकलने के बाद कोहरे का प्रभाव कम हो गया। अन्य शहरों में सुबह से बेहतर धूप रही। धूप में गर्मी की वजह से दोपहर में लोग ऊनी कपड़ों से परहेज कर रहे हैं। मौसमविदों का अनुमान है कि अगले दो दिनों में धूप की तपिश और बढ़ सकती है। अधिकतम पारा दो डिग्री तक ऊपर चढ़ सकता है। गया का न्यूनतम पारा अब भी दो डिग्री के नीचे बना हुआ है। अगले हफ्ते में गया के न्यूनतम पारे में दो डिग्री तक बढ़ोतरी हो सकती है। बता दें कि गया का अधिकतम तापमान 27.9 जबकि न्यूनतम 9.4 रहा। पटना का अधिकतम तापमान 26.4 डिग्री जबकि न्यूनतम 13.4 डिग्री सेल्सियस रहा। 

2 - अब मेंथा ऑयल को भारत से हासिल करने में छूटेंगे पसीने!

चीन को बीमा पेमेंट के लिए ए वन श्रेणी से हटाकर ए टू श्रेणी में शिफ्ट कर दिया गया है। जिस वजह से मेंथा ऑयल को भारत से हासिल करने में उसे अब  पहले से ज्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। मुरादाबाद मंडल से मेंथा ऑयल का चीन को निर्यात करने वाले निर्यातक अब थोड़ा हतोत्साहित हो सकते हैं क्योंकि उन्हें चीन को माल भेजने पर इसके पेमेंट का सुरक्षा कवर प्राप्त करना महंगा पड़ेगा। एक्सपोर्ट क्रेडिट गारंटी कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (ईसीजीसी) ने चीन को अब ए वन से हटाकर ए टू श्रेणी में डाल दिया है। केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय के अधीन संचालित ईसीजीसी ने भारत-चीन संबंधों में टकराव और तल्खी बढ़ने के मद्देनजर अनिश्चितता से भरी राजनैतिक परिस्थितियों व कारोबार पर बढ़े जोखिम को देखते हुए यह कदम उठाया है। जिसके नतीजे में चीन को माल का निर्यात करने वाले निर्यातकों को इसके पेमेंट इंश्योरेंस की पॉलिसी पहले की तुलना में डेढ़ गुना महंगी पड़ेगी। पेमेंट बीमा के मामले में चीन अभी तक, अमेरिका व कई यूरोपीय देशों की तरह ए वन श्रेणी में था, लेकिन, भारत-चीन में तनातनी बढ़ने के मद्देनजर ईसीजीसी ने चीन को ए वन से हटाकर ए टू श्रेणी में रखने का फैसला किया है।

3 - चीन ने WHO की टीम को नहीं दिया कोरोना के शुरुआती मरीजों का डेटा

चीन किसी भी कीमत पर कोरोना वायरस का डेटा देने से इनकार कर दिया जो कोरोना वायरस से सबसे पहले संक्रमित हुए थे। इस बात की पुष्टि हाल ही में चीन के वुहान से लौटी विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीम के एक ऑस्ट्रेलियन सदस्य ने भी कर दी है। दरअसल, टीम में मौजूद ऑस्ट्रेलियाई एक्सपर्ट ने बताया है कि चीन ने उन शुरुआती मरीजों का डेटा देने से इनकार कर दिया जो कोरोना वायरस से सबसे पहले संक्रमित हुए थे। विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीम ने चीन से उन 174 कोरोना मरीजों का रॉ डेटा मांगा था जो दिसंबर 2019 में वुहान में इस वायरस से सबसे पहले संक्रमित पाए गए थे। टीम के सदस्य डॉमिनिक ड्वायर के मुताबिक, चीन ने बदले में सभी मरीजों का एक सार मुहैया कराया। रॉ डेटा के अंदर कुछ इस तरह की डिटेल्स होती हैं जैसे इन मरीजों से क्या सवाल पूछे गए थे, उनकी प्रतिक्रियाएं क्या थीं और इन प्रतिक्रियाओं का आंकलन किस तरह से किया गया। प्रोफेसर डॉमिनिक के मुताबिक, रॉ डेटा इसलिए भी महत्वपूर्ण था क्योंकि शुरुआती 174 मामलों में से आधे मरीज हुनान मार्केट गए थे। यह वुहान की होलसेल सीफूड मार्केट है, जहां सबसे पहले वायरस का पता लगा था।

4 - ARJUN TANK : पीएम मोदी आज सेना को सौंपेंगे अचूक निशाने वाले अर्जुन टैंक की चाबी

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे को अर्जुन टैंक के उन्नत संस्करण मार्क-1ए (एमके-1ए) की चाबी सौंपेंगे। पूरी तरह स्वदेश में निर्मित अर्जुन टैंक के इस उन्नत संस्करण का निशाना अचूक बताया जा रहा है, जिससे भारतीय सेना की जमीन पर मारक क्षमता को और ज्यादा मजबूती मिलेगी। अर्जुन टैंक का डिजाइन तैयार करने वाले रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन (डीआरडीओ) के चेयरमैन जी. सतीश रेड्डी ने प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से अर्जुन एमके-1ए को देश को समर्पित करने का फैसला लेने की प्रशंसा की है। रक्षा शोध व विकास सचिव की भी जिम्मेदारी संभाल रहे रेड्डी ने बताया कि नए संस्करण में 71 अतिरिक्त फीचर जोड़े गए हैं, जो इसे दुनिया के सभी श्रेष्ठ टैंकों के समकक्ष खड़ा करते हैं। बता दें कि हाल ही में रक्षा मंत्रालय की बैठक में 118 उन्नत अर्जुन टैंक सेना में शामिल करने को मंजूरी दी गई थी।

5 - CANDLE MARCH : किसान आज निकालेंगे कैंडल मार्च, आंदोलन तेज करने के लिए भरी हुंकार

मंच से 14 फरवरी को देशभर में कैंडल मार्च निकालने, 16 को सर छोटूराम का जंयती पर  समारोह मनाने और 18 फरवरी को दोपहर 12 से चार बजे तक रेलें रोकने का एलान किया। उन्होंने कहा कि यह आंदोलन जीविका बचाने की लड़ाई है। कृषि कानूनों को रद्द करवाने के लिए वह आखिरी सांस तक संघर्ष करते रहेंगे। नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान जहां आंदोलन को विस्तार देने की रणनीति में जुटे हैं, वहीं संयुक्त किसान मोर्चा ने दिल्ली हिंसा और किसानों पर दर्ज मुकदमों की उच्चस्तरीय न्यायिक जांच की मांग की है। मोर्चा का कहना है कि किसानों के खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज किए गए हैं।