BREAKING NEWS

राहुल ने भीमा-कोरेगांव मामले की NIA जांच को लेकर केंद्र सरकार पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने वरिष्ठ नेता आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी से मुलाकात की ◾दिल्ली विधानसभा चुनाव: भाजपा के पूर्व विधायक हरशरण सिंह बल्ली AAP में शामिल◾बुर्के को लेकर बवाल बढ़ने पर पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज का यू-टर्न, जारी किया नया ड्रेस कोड◾प्रधानमंत्री मोदी और ब्राजील के राष्ट्रपति ने द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ करने के मुद्दों पर चर्चा की, 15 समझौतों पर किये हस्ताक्षर ◾निर्भया मामला : कोर्ट ने कहा किसी नए दिशा-निर्देश की जरूरत नहीं, दोषियों के वकील की याचिका निपटाई ◾प्रशांत किशोर ने सुशील मोदी पर साधा निशाना, कहा- लोगों को चरित्र प्रमाणपत्र देने में इनका कोई जोड़ नहीं ◾देश में घुसे पाक और बांग्लादेशी घुसपैठियों को निकालो : शिवसेना ◾राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर PM मोदी और उपराष्ट्रपति नायडू ने दी बधाई, देशवासियों से की ये अपील◾मौलाना कल्बे सादिक बोले- देश मोदी-शाह की मर्जी से नहीं, संविधान से चलेगा◾तुर्की में 6.8 तीव्रता का भूकंप, 18 लोगों की मौत◾...जब दिल्ली में चुनाव प्रचार खत्म कर कार्यकर्ता के घर पहुंचे अमित शाह, खाया खाना◾केंद्र सरकार ने भीमा कोरेगांव मामले की जांच NIA को सौंपी, महाराष्ट्र के गृहमंत्री देशमुख ने की निंदा◾पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी बोले- SCO बैठक के लिए भारत के आमंत्रण का है इंतजार◾फांसी टलवाने के लिए सभी हथकंडे आजमा रहे निर्भया के दोषी, तिहाड़ जेल प्रशासन के खिलाफ आज होगी सुनवाई◾रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ PMLA मामला : प्रवासी कारोबारी थम्पी की हिरासत 4 दिनों के लिए बढ़ी ◾3-4 दिनों में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा : बी एस येदियुरप्पा◾CAA के बाद देश से वापस लौटने वाले बांग्लादेशी प्रवासियों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है : BSF◾TOP 20 NEWS 24 January : आज की 20 सबसे बड़ी ◾विजयवर्गीय के पोहे वाले बयान पर जावड़ेकर बोले- मैं भी पोहा खाता हूं ◾

मोबाइल एप के जरिए जुटाए जाएंगे जनगणना 2021 के आंकड़े : अमित शाह

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को सभी नागरिकों के लिए एक बहुउद्देश्यीय पहचान पत्र का विचार रखा जिसमें आधार, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस और बैंक खाते जैसी सभी सुविधाएं जुड़ी हों। शाह ने यह भी कहा कि जनगणना 2021 के आंकड़े मोबाइल एप के जरिए जुटाए जाएंगे। गृह मंत्री ने कहा कि इस तरह की प्रणाली भी होनी चाहिए जिसमें किसी व्यक्ति की मृत्यु होते ही यह जानकारी जनसंख्या आंकड़े में अद्यतन हो जाए। 

उन्होंने कहा, ‘‘आधार, पासपोर्ट, बैंक खाते, ड्राइविंग लाइसेंस, और वोटर कार्ड जैसी सभी सुविधाओं के लिए एक ही कार्ड हो सकता है। इसकी संभावनाएं हैं।’’ जनसंख्या जनगणना एक बोरिंग काम नहीं है। यह एक अभ्यास है जो लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करने में मदद करता है। राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) सरकार को देश में कई मुद्दों को हल करने में मदद करेगा।

चिदंबरम ने CBI के वित्त मंत्री पद का इस्तेमाल करने वाले दावे को किया खारिज

शाह ने कहा कि देश के सामाजिक प्रवाह, देश के अंतिम व्यक्ति के विकास और देश के भविष्य के काम के आयोजन के लिए जनगणना आधार है। देश के सामाजिक प्रवाह, देश के अंतिम व्यक्ति के विकास और देश के भविष्य के काम के आयोजन के लिए जनगणना आधार है। 

उन्होंने आगे कहा, सन् 1865 में सबसे पहले जनगणना की गई तब से लेकर आज 16वीं जनगणना होने जा रही है। कई बदलाव और नई पद्धति के बाद आज जनगणना डिजिटल होने जा रही है। साल 2014 में नरेंद्र मोदी के देश के प्रधानमंत्री बनने के बाद हमारे सोचने की क्षमता में बदलाव होने लगा। देश को समस्याओं से मुक्त किया जाए, ऐसी प्लानिंग की शुरुआत 2014 के बाद हुई। इससे जनगणना रजिस्टर के सही उपयोग की शुरुआत हुई।