BREAKING NEWS

पूर्वी लद्दाख में सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया जटिल, चीन की हर गतिविधि पर रहेगी नजर : थल सेना◾17 जुलाई से अमेरिका और 18 जुलाई से फ्रांस के बीच भारत शुरू करेगा उड़ान सेवा : हरदीप सिंह पुरी◾पाकिस्तान ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को दिया दूसरा कॉन्सुलर ऐक्सेस◾पायलट दल ने याचिका में बदलाव के लिए HC से मांगा समय, कल होगी अगली सुनवाई◾बिहार : गंडक नदी पर 264 करोड़ की लागत से बना पुल 29 दिन में टूटा,CM नीतीश ने किया था उद्घाटन ◾पानी में बह गया 264 करोड़ की लागत से बना पुल, तेजस्वी बोले-भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह CM नीतीश ◾MP में पुलिस द्वारा दलित परिवार की पिटाई को लेकर बोले राहुल- हमारी लड़ाई अन्याय के खिलाफ हैं ◾कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने सचिन पायलट से पूछा- 'घर वापसी' को लेकर क्या ख्याल हैं? ◾देश में 24 घंटे में कोरोना के 32 हजार से अधिक नये मामले सामने के बाद मरीजों की संख्या 9 लाख 69 हजार के पार ◾मायावती ने CM शिवराज पर साधा निशाना, बोलीं-दलितों का बसाने का ढिंढोरा पिटती है सरकार ◾US के पूर्व राष्ट्रपति ओबामा,बिल गेट्स समेत दुनिया के कई बड़े कारोबारियों और नेताओं के ट्विटर अकाउंट हुए हैक ◾असम में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 90 के पार, 26 जिलों के 36 लाख लोग प्रभावित ◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, मरीजों की संख्या 1 करोड़ 33 लाख के पार ◾गजेंद्र शेखावत का CM गहलोत पर तीखा हमला, कहा- जनता गिन रही सरकार की विदाई के दिन◾अगले 18 घंटे में मुंबई, ठाणे और कोंकण में बहुत तेज बारिश होने की संभावना, रेड अलर्ट जारी◾देश में बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड 20572 रोगी कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए, रिकवरी दर 63 % से ज्यादा : स्वास्थ्य मंत्रालय◾दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 1674 नए मामले, अब तक 3487 लोगों की मौत◾कोविड - 19 : महाराष्ट्र में संक्रमण के 7,975 नए मामले और 11 हजार के करीब पहुंचा मौत का आंकड़ा ◾डीएसी बैठक में सशस्त्र बलों को हथियार खरीदने के लिए 300 करोड़ रुपये का इमरजेंसी फंड मंजूर◾कोरोना इफ़ेक्ट : एअर इंडिया कर्मचारियों को पांच साल तक के लिए बिना वेतन छुट्टी पर भेज सकता है ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा- बड़े उद्योगों, सरकारी एजेंसियों पर MSME का लगभग 5 लाख करोड़ रुपये बकाया

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को कहा कि सरकारी एजेंसियों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और बड़े उद्योगों के ऊपर एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम) का लगभग 5 लाख करोड़ रुपये बकाया है। उन्होंने कहा कि सरकार ग्रामीण एमएसएमई उद्योगों की एक अलग श्रेणी सृजित करने के बारे में सोच रही है ताकि गांवों में इकाइयां लगाने को प्रोत्साहित किया जा सके।

एमएसएमई मंत्री ने कहा कि केंद्र ने यह निर्णय किया है कि उसके मंत्रालय और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम 45 दिनों के भीतर एमएसएमई का बकाया चुका देंगे। कोलकाता चैंबर ऑफ कामर्स के सदस्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत में गडकरी ने कहा, ‘‘राज्य सरकारों, उनके मंत्रालयों और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, भारत सरकार, उसके मंत्रालयों और उपक्रमों एवं बड़े उद्योगों पर कुल मिलाकर एमएसएमई का 5 लाख करोड़ रुपये बकाया है। उद्योगों का यह पैसा फंसा हुआ है।’’

मंत्री ने कहा कि उन्होंने राज्य सरकारों से भी उनके विभागों और सार्वजनिक उपक्रमों पर बकाये को चुकाने का आग्रह किया है। वह बड़े उद्योगों से भी बातचीत के दौरान सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों के बकाये का निपटान करने की बार-बार अपील करते रहे हैं। गडकरी ने कहा कि सरकार ने वित्त पोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) को सुदृढ़ करने के लिये योजना तैयार की है। उन्होंने कहा कि सरकार एमएसएमई के अंतर्गत आने वाले ग्रामीण उद्योग की एक अलग श्रेणी सृजित करने के बारे में सोच रही है ताकि गांवों में इकाइयां लगाने को प्रोत्साहित किया जा सके।