BREAKING NEWS

राजीव गांधी फाउंडेशन समेत तीन ट्रस्ट की फंडिंग की जांच के लिए MHA ने बनाई कमेटी◾विकास दुबे के खिलाफ पुलिस का एक्शन सख्त, 25 हजार का इनामी बदमाश श्यामू बाजपेयी गिरफ्तार ◾चीनी सैनिकों की वापसी का सिलसिला जारी, लद्दाख में 3 प्वाइंट्स पर पीछे हटी चीन◾देश में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े सात लाख के करीब, 20 हजार 500 से अधिक लोगों की मौत ◾World Corona : दुनियाभर में लगभग साढ़े पांच लाख लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 17 लाख के पार ◾कानपुर एनकाउंटर : गैंगस्टर विकास दुबे का करीबी अमर दुबे मुठभेड़ में मारा गया◾आर्थिक कुप्रबंधन लाखों लोगों को कर देगा तबाह, अब यह त्रासदी स्वीकार नहीं : राहुल गांधी◾योगी सरकार का बड़ा फैसला : डीआईजी एसटीएफ अनंत देव का हुआ ट्रांसफर◾ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो पाए गए कोरोना पॉजिटिव◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 224 लोगों की मौत, 5134 नये मामले ◾दिल्ली में कोरोना का कोहराम जारी, बीते 24 घंटे में 2008 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1,02,831 तक पहुंचा◾पश्चिम बंगाल: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कोलकाता में फिर से लग सकता है लॉकडाउन ◾CBSE का बड़ा ऐलान, अगले साल 9वीं से 12वीं क्लास के सिलेबस में 30 फीसदी की होगी कटौती, बोर्ड ने ट्वीट कर दी जानकारी◾भारत में कोरोना टेस्टिंग का आंकड़ा पहुंचा 1 करोड़ के पार, मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राहुल के आरोपों पर AgVa कंपनी का जवाब, कहा- वह डॉक्टर नहीं है, दावा करने से पहले करनी चाहिए थी पड़ताल◾यथास्थिति बहाल होने तक LAC से भारत को एक इंच भी पीछे नहीं हटना चाहिए : कांग्रेस◾राहुल का केंद्र सरकार से सवाल, कहा- भारतीय जमीन पर निहत्थे जवानों की हत्या को कैसे सही ठहरा रहा चीन?◾भारत-चीन बॉर्डर पर IAF ने दिखाया अपना दम, चिनूक और अपाचे हेलीकॉप्टर ने रात में भरी उड़ान◾विकास दुबे की तलाश में जुटी पुलिस की 50 टीमें, चौबेपुर थाने में 10 कॉन्स्टेबल का हुआ तबादला◾कोरोना वायरस : देश में मृतकों का आंकड़ा 20 हजार के पार, संक्रमितों की संख्या सवा सात लाख के करीब ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा- विकास के विकेंद्रीकरण में प्रवासी मजदूरों की समस्या का है समाधान

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि शहरों के विकेंद्रीकरण और दूर-दराज के इलाकों का विकास करने से प्रवासी मजदूरों के संकट को कम करने में मदद मिल सकती है। गडकरी ने कहा, ‘‘प्रवासी मजदूरों का संकट बहुत बड़ा दुर्भाग्य है।’’ उन्होंने जोर देकर कहा कि यह समय है कि विकास के माध्यम से गांव, ग्रामीण, पिछड़े इलाकों और दूर-दराज के क्षेत्रों में रोजगार के अवसर पैदा किए जाएं। गौरतलब है कि लॉकडाउन की वजह से प्रवासी मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है और वह अपने मूल निवास स्थानों की ओर लौटने को मजबूर हैं। इसमें भी कुछ लोग पैदल अपने घरों को लौट रहे हैं। इसके चलते कई लोगों की सड़क दुर्घटनाओं मृत्यु हो गई।

गडकरी ने कहा, ‘‘हमें कोरोना वायरस के साथ रहना सीखना होगा। कोई भी बड़े शहर में अपनी मर्जी से नहीं आता। बहुत गरीबी और अवसरों की कमी उसे बड़े शहर आने के लिए मजबूर करती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ दर्द और डर (रोजगार और भुखमरी का) की वजह से वह अपनी जड़ों की ओर लौटने को मजबूर हैं। हमने उनके लिए टोल बूथ पर खाना इत्यादि का प्रबंध किया है लेकिन हमें उनके अंदर सकारात्मकता भरनी है।’’गडकरी ने कहा कि डर ने ही इस भयावह स्थिति को खड़ा किया है।

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि हमें उद्योगों का विकेंद्रीकरण करने की जरूरत है जिसके वजह से लोग गुड़गांव, नोएडा, दिल्ली, लुधियाना, चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद, मुंबई और पुणे आते हैं। यह समय की मांग है। हमें पिछड़े इलाकों को आर्थिक, सामाजिक और शैक्षिक रूप से विकसित करना होगा। गडकरी ने कहा कि वह इस संबंध में महाराष्ट्र सरकार के साथ एक योजना पर काम कर रहे हैं। यह बाद में अन्य राज्यों के लिए मिसाल बनेगा। 

ज्ञात हो कि गडकरी के पास सड़क परिवहन, राजमार्ग, पोत परिवहन और सूक्ष्म,लुघु और मध्यम उद्योग जैसे महत्वपूर्ण विभाग हैं। उन्होंने कहा कि धारावी के करीब डेढ़ लाख लोग चमड़ा उद्योग से जुड़े हैं। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे राज्य के ठाणे से गुजरता है। हमारे पास वहां जमीन है। हमने राज्य सरकार से कहा है कि हम वहां चमड़ा संकुल बना सकते हैं। इससे इन डेढ़ लाख लोगों को वहां भेजने में मदद मिलेगी। उन्हें वहां सस्ते आवास मिले जहां वह सम्मानजनक जीवन जी सकते हैं।