BREAKING NEWS

FIFA World Cup 2022 : जापान को कोस्टा रिका ने हराया, 1-0 से दी मात◾PM मोदी ने कहा- कांग्रेस और अन्य दल आतंकवाद को कामयाबी के ‘शॉर्टकट’ के रूप में देखते ◾ Punjab: पंजाब में दिल दहला देने वाला मामला, ट्रेन की चपेट में आने से तीन की मौत, जानें पूरी स्थिति◾Delhi: हाई कोर्ट ने कहा- मसाज पार्लर की आड़ में होने वाली वेश्यावृत्ति रोकने के लिए कदम उठाए दिल्ली पुलिस◾Bihar News: उमेश कुशवाहा को फिर मिला मौका, बने रहेंगे जदयू की बिहार इकाई के अध्यक्ष◾Maharashtra: महाराष्ट्र में दर्दनाक हादसा, रेलवे स्टेशन फुटओवर ब्रिज का गिरा एक हिस्सा, इतने लोग हुए घायल◾Mainpuri bypoll: डिंपल की अपील, मतदान से पहले अपने घर में ना सोएं सपा के नेता और कार्यकर्ता◾कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा- पार्टी के नेता नर्सरी के छात्र नहीं, जो एक दूसरे से बात नहीं कर सकते◾2019 Jamia violence: कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से मांगा स्पष्टीकरण◾दिल्ली पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, दो हथियार सप्लायरों को किया गिरफ्तार, बिश्नोई गैंग से है संबंध◾Pakistan: इमरान खान ने कहा- वजीराबाद में तीन शूटरों मुझे जाने से मारने की कोशिश की थी◾भाजपा का दावा, केजरीवाल के करीबी लोग सत्येंद्र जैन के वीडियो करा रहे हैं लीक◾बीजेपी सरकारें बिना तुष्टीकरण के सशक्तीकरण करती हैं: मुख्तार अब्बास नकवी◾ब्लेक गोवर्स की शानदार हैट्रिक से पस्त हुई टीम इंडिया, ऑस्ट्रेलिया ने 7-4 से दी पटखनी◾UP News: गाजीपुर में बड़ी सड़क दुर्घटना, अज्ञात वाहन ने कार को बुरी तरह कुचला, मौके पर 3 की मौत◾गुजरात ATS का एक्शन, पीएम मोदी को आपत्तिजनक ई-मेल भेजने वाले बदायूं के युवक को पकड़ा ◾कनाडा में भारतीय छात्र की मौत, रोड क्रॉस करते हुए ट्रक ने साइकिल को कुचला, पुलिस ने लिया तुरंत एक्शन◾अशोक गहलोत और सचिन पायलट के मसले को सुलझाने के लिए जयराम लेंगे कठोर निर्णय◾आजम खान का गंभीर आरोप, कहा- सपा कार्यकर्ताओं को धमकाने के लिए पुलिस, प्रशासन का उपयोग कर रही भाजपा◾Delhi News : भागीरथ पैलेस में लगी आग को बुझाने का अभियान चौथे दिन भी जारी◾

up : कासगंज में फिर हिंसा, तनाव बरक़रार

उत्तर प्रदेश के कासगंज में शुक्रवार को भड़की हिंसा पर अभी भी काबू नहीं पा सके शनिवार को कई इलाक़ों में पथराव, लूटपाट की सामने आईं हालांकि इन घटनाओं में किसी के हताहत होने की ख़बर नहीं है, लेकिन शहर में तनाव बरक़रार है. दूसरी तरफ पुलिस स्थिति को पूरी तरह नियंत्रण में बता रही है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक घटना को लेकर दो प्राथमिकी दर्ज़ की गई हैं और नौ लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. 39 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

शुक्रवार को तिरंगा यात्रा निकाले जाने के दौरान हुई हिंसा में मारे गए युवक का शनिवार को अंतिम संस्कार किया गया और इसी के बाद शहर में एक बार फिर अचानक हिंसा भड़क उठी. सहावर गेट इलाक़े में क़रीब दो दर्जन दुकानों में लूटपाट करने के बाद आगजनी करने की कोशिश की गई. इसके अलावा नदरई गेट और बाराद्वारी में कई दुकानों में आग लगा दी गई।

ये दोनों इलाक़े कासगंज नगर कोतवाली से मुश्किल से तीन सौ मीटर की दूरी पर हैं. यूपी के कासगंज में सांप्रदायिक हिंसा, एक की मौत ये घटनाएं तब हुईं जबकि पूरे कासगंज शहर को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. हर जगह पुलिस और सुरक्षाबलों की मौजूदगी है. कासगंज शहर के भीतर दाख़िल होने वाले सारे रास्तों को लगभग बंद कर दिया गया है और आने-जाने वालों की तलाशी ली जा रही है.

कासगंज की सड़कों पर पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी गश्त लगा रहे हैं और सड़क पर किसी को भी देखते ही भगा रहे हैं. लेकिन चौकसी के बावजूद शहर के अंदर तीन बसों को आग के हवाले कर दिया गया जिनमें एक रोडवेज़ बस भी शामिल है. इसके अलावा कई दोपहिया वाहन भी जला दिए गए. दुकानों और वाहनों में लगी आग घंटों बाद भी बुझाई नहीं जा सकी है. नदरई गेट पर अलीगढ़ परिक्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अजय आनंद भी गश्त कर रहे थे।

बातचीत करने पर उन्होंने कहा कि अब स्थिति बिल्कुल नियंत्रण में है. ये पूछने पर कि इतने भारी-भरकम पुलिस बल के बावजूद शनिवार को हिंसा दोबारा कैसे भड़क गई, तो उनका जवाब था, "देखिए हर एक व्यक्ति पर तो निगरानी रखी नहीं जा सकती है लेकिन पुलिस और प्रशासन पूरी मुस्तैदी से तैनात हैं. जो लोग भी हिंसा के लिए दोषी हैं उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी. 39 लोगों को एहतियात के तौर पर हिरासत में लिया गया है और दूसरे लोगों की तलाश की जा रही है।"

एडीजी अजय आनंद के मुताबिक घटना से संबंधित दो एफ़आईआर दर्ज की गई हैं और उन्हीं के आधार पर नौ लोगों को गिरफ़्तार भी किया गया है. इससे पहले, शुक्रवार रात क़रीब नौ बजे कासगंज शहर में ही मथुरा-बरेली हाइवे पर सफ़ारी सवार एक मुस्लिम परिवार पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया. हमले में गाड़ी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई और उसमें सवार एक व्यक्ति की आँख में गंभीर चोटें आई हैं. इस बीच, मामले को राजनीतिक रंग देने की भी कोशिश की गई. कासगंज-एटा क्षेत्र के सांसद राजवीर सिंह और इलाक़े के तीन बीजेपी विधायक मृत युवक के अंतिम संस्कार में शामिल हुए।

इससे पहले साध्वी प्राची भी कासगंज आने की कोशिश कर रही थीं लेकिन प्रशासन ने उन्हें अनुमति नहीं दी.कासगंज में शुक्रवार की शाम हिंसा उस वक़्त शुरू हुई जब कुछ युवक तिरंगा यात्रा निकाल रहे थे और बड्डूनगर इलाक़े में मुस्लिम समुदाय के कुछ युवकों के साथ उनकी झड़पें हुईं. इन्हीं झड़पों के बाद दोनों पक्षों के बीच पथराव और आगजनी की घटनाओं के अलावा गोलीबारी भी हुई जिसमें चंदन गुप्ता नाम के एक युवक की मौत हो गई और नौशाद नाम के एक युवक गोली से गंभीर रूप से घायल हो गए जिसे अलीगढ़ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहाँ क्लिक  करें।