BREAKING NEWS

CM नीतीश कुमार ने पटना में भारी बारिश से हुये जलजमाव की उच्चस्तरीय समीक्षा की ◾मोबाइल वैन के जरिए प्याज बेचने की दिल्ली सरकार की योजना बेहद सफल रही : केजरीवाल ◾रविशंकर प्रसाद बोले- अफवाह फैलाने वाले संदेशों के स्रोत तक हो एजेंसियों की पहुंच◾भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार, PM ने ट्वीट कर दी बधाई◾TOP 20 NEWS 14 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ PM नरेंद्र मोदी ने नीदरलैंड के राजा-रानी से वार्ता की ◾हरियाणा विधानसभा चुनाव : PM मोदी बोले- विपक्ष में दम तो कहे कि 370 वापस लाएंगे◾हरियाणा: राहुल का PM पर वार, बोले- अडानी और अंबानी के लाउडस्पीकर हैं मोदी◾अयोध्या विवाद : मुस्लिम पक्षकारों का आरोप-हिन्दु पक्ष से नहीं सिर्फ हमसे ही किए जा रहे है सवाल◾हुड्डा बोले- हरियाणा में कांग्रेस के पास है जबरदस्त समर्थन, बनाएंगे अगली सरकार◾उत्तर प्रदेश: मऊ में सिलेंडर ब्लास्ट से मरने वालो की संख्या हुई 12 ◾जम्मू-कश्मीर में पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवा हुई बहाल, 72 दिन से ठप थी सेवा ◾ अजीत डोभाल बोले- FATF का पाकिस्तान पर गहरा दबाव◾NIA का बड़ा खुलासा, कहा-देश के 4 राज्यों में सक्रिय है बांग्लादेश का खूंखार आतंकी संगठन JMB ◾होशंगाबाद: कार हादसे में राष्ट्रीय स्तर के 4 हॉकी खिलाड़ियों की मौत, कमलनाथ और शिवराज ने जताया शोक◾हरियाणा में आज PM मोदी, शाह और राहुल गांधी भरेंगे हुंकार, इन जगहों पर करेंगे रैली◾राम जन्मभूमि विवाद : आज से सुप्रीम कोर्ट करेगा अयोध्या मामले की अंतिम दौर की सुनवाई ◾महाराष्ट्र में राहुल गांधी की मौजूदगी का मतलब है भाजपा की जीत : योगी आदित्यनाथ◾भारत-सियेरा लियोन के बीच छह समझौतों पर हस्ताक्षर◾प्रदूषण को लेकर केजरीवाल सरकार के खिलाफ मनोज तिवारी ने बांटे ‘मास्क’◾

देश

कोलोकेशन ‘सफेदपोशों’ का काम, चिदंबरम की भूमिका की भी जांच हो : जिग्नेश शाह

संकट में फंसे कारोबारी जिग्नेश शाह ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के को लोकेशन मामले में पूर्ववर्ती संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार में वित्त मंत्री रहे पी चिदंबरम और अन्य की भूमिका की मांग की है। शाह ने इसे ‘बड़े सफेदपोशों का अपराध’ बताया है और कहा है कि इसमें एक सेकेंड से भी कम समय में अरबों डालर की गैर कानूनी कमाई की जा सकती है। 

को लोकेशन का मामला एक जगह विशेष पर लगे कुछ शेयर ब्रोकरों के सर्वर पर शेयर बाजार से जुड़ी सूचनाएं कथित रूप से कुछ पहले पहुंचाने से संबंधित है। उन्होंने सरकार से कहा कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि कैसे एक शीर्ष शेयर बाजार ने कुछ चुनिंदा ब्रोकरों को एक तरजीह सुविधा दी थी। 

मोदी सरकार को ‘विकास रहित’ 100 दिन पूरे होने पर बधाई : राहुल गांधी

उन्होंने कहा कि इस तरह के मामले में सेकेंड के एक छोटे अंश भी में अरबों डॉलर अवैध तरीके से लाभ कमाया जा सकता है। शाह ने छह द्वीपों पर 14 एक्सचेंज शुरू किए थे। इसमें शीर्ष जिंस एक्सचेंज एमसीएक्स भी है। इस वजह से शाह को ‘भारत का एक्सजेंस मैन’ भी कहा जाता था। फाइनेंशियल टेक्लोलॉजीज समूह के पूर्ववर्ती कृषि जिंस एक्सचेंज एनएसईएल में 5,600 करोड़ रुपये की भुगतान चूक के बाद शाह को अपने इन सभी कारोबारों से हटना पड़ा था। 

शाह ने अपने कारोबारी साम्राज्य के समक्ष आई सभी दिक्क्तों के लिए चिदंबरम को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि यदि उनके सामने गैरकानूनी अड़चनें पैदा नहीं की गई होतीं तो भारत विश्व वित्तीय बाजार के लिए ‘कीमत तय’ करने वाला बन सकता था। शाह ने कहा, ‘‘हमने एक बड़ा अवसर गंवा दिया। हमने जो भी एक्सचेंज स्थापित किए उनमें हम शीर्ष पर थे और हम जो शेयर बाजार शुरू करने जा रहे थे उनमें भी इसे दोहराते।’’ 

उन्होंने कहा कि भारत ने दुनिया का शीर्ष वित्तीय बाजार बनने का अवसर गंवा दिया और हम उसी रफ्तार को फिर से नहीं पाया जा सकता क्योंकि एक्सचेंज क्षेत्र अब उस स्तर पर वापस जा चुका है जहां यह कई साल पहले होता था। चिदंबरम पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि पूर्व वित्त मंत्री ने अपने प्रिय एक्सचेंज के हितों के संरक्षण के लिए उन्हें निशाना बनाया। 

एमसीएक्स-एसएक्स की वजह से उन एक्सचेंजों का दबदबा कम हो रहा है। एमसीएक्स-एसएक्स को पूर्व शेयर बाजार के संचालन का लाइसेंस मिल गया था और एनएसईएल संकट शुरू होने से पहले हम पूर्ण परिचालन शुरू करने की तैयारी में थे। पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम इस समय एक अन्य मामले में न्यायिक हिरासत में हैं। वहीं एनएसई के अधिकारियों ने एनएसईएल मामले में किसी भूमिका से इनकार किया है। उन्होंने इन आरोपों को भी खारिज किया कि को लोकेशन सुविधा के जरिये चुनिंदा लोगों को फायदा पहुंचाया गया।