BREAKING NEWS

राज्यसभा में सीट बदले जाने पर भड़के संजय राउत, स्पीकर वेंकैया नायडू को लिखा पत्र ◾CM ममता का अमित शाह पर पलटवार, कहा- बंगाल में एनआरसी को नहीं लागू होने देंगे◾पूरे देश में लागू होगा NRC, किसी को भी डरने की जरूरत नहीं : अमित शाह◾ महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान के बीच NCP प्रमुख शरद पवार ने PM मोदी से की मुलाकात◾राज्यसभा में बोले शाह- जम्मू एवं कश्मीर में 5 अगस्त के बाद से नहीं हुई एक भी मौत ◾कांग्रेस ने राज्यसभा में फिर उठाया SPG सुरक्षा का मुद्दा, भाजपा ने दिया ये जवाब◾INX मीडिया केस: चिदंबरम की जमानत याचिका पर SC का ईडी को नोटिस, 26 नवंबर को होगी अगली सुनवाई◾JNU विवाद : दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर प्रदर्शन करने जा रहे नेत्रहीन छात्रों को थाने ले गई पुलिस◾महाराष्ट्र में सरकार बनाने की प्रक्रिया अगले 5-6 दिनों में हो जाएगी पूरी : संजय राउत◾सरकारी उपक्रमों को खोखला कर बेच रही है सरकार : प्रियंका गांधी◾राजनाथ सिंह ने क्रांजी युद्ध स्मारक का किया दौरा, द्वितीय विश्वयुद्ध में मारे गए लोगों को दी श्रद्धांजलि◾गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाने के खिलाफ प्रदर्शन करेगी युवक कांग्रेस ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर दिल्ली में कांग्रेस-एनसीपी नेताओं की मुलाकात आज ◾PMC बैंक के खाताधारकों को बड़ी राहत, मेडिकल इमरजेंसी में 1 लाख रुपये तक निकाल सकेंगे◾सदन में रणनीति को लेकर कांग्रेस ने बुलाई लोकसभा सांसदों की बैठक, अध्यक्षता करेंगी सोनिया गांधी◾महाराष्ट्र : सरकार बनाने की राह में आदित्य को सीएम बनाने की मांग से बाधा ◾आतंक वित्तपोषण : प्रवर्तन निदेशालय ने सलाहुद्दीन, अन्य से जुड़ी सम्पत्तियों को कब्जे में लिया ◾श्रीलंका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति 29 नवम्बर को आयेंगे भारत की यात्रा पर : जयशंकर ◾रजनीकांत, हासन ने तमिलनाडु की भलाई के लिए हाथ मिलाने के दिए संकेत◾जम्मू कश्मीर में जल्द से जल्द राजनीतिक गतिविधियां बहाल होनी चाहिये : राम माधव ◾

देश

यशवंत सिन्हा ने शुरू किया राष्ट्र मंच, शत्रुघ्न सिन्हा भी हुए शामिल

भाजपा के असंतुष्ट सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा द्वारा शुरू किये गए नए राजनैतिक मंच में शामिल होने के लिये नेताओं के एक समूह का आज नेतृत्व किया। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि उनका राष्ट्र मंच एक राजनैतिक कार्रवाई समूह है। वह केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ आंदोलन शुरू करेगा।

तृणमूल कांग्रेस सांसद दिनेश त्रिवेदी, कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी, राकांपा सांसद मजीद मेमन, आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह, गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश मेहता और जद (यू) नेता पवन वर्मा उन लोगों में शामिल थे जिन्होंने मोर्चा शुरू करने के लिये आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

रालोद नेता जयंत चौधरी और पूर्व केंद्रीय मंत्री सोमपाल और हरमोहन धवन भी उपस्थित थे। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वह मंच में इसलिये शामिल हुए हैं, क्योंकि उनकी पार्टी ने अपनी राय जाहिर करने के लिये उन्हें मंच नहीं दिया है। हालांकि, उन्होंने कहा कि मोर्चे का समर्थन करने के उनके फैसले को पार्टी विरोधी गतिविधि के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिये क्योंकि यह राष्ट्र हित में है।

यशवंत सिन्हा ने मौजूदा स्थिति की तुलना 70 साल पहले के समय से की जब महात्मा गांधी की आज ही के दिन हत्या कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र और उसकी संस्थाओं पर हमले हो रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों को ‘भिखारियों की स्थिति’ में ला दिया है।

उन्होंने सरकार पर अपने हितों के अनुरूप ‘मनगढ़ंत’ आंकड़े पेश करने का आरोप लगाया। वरिष्ठ नेता ने हालांकि दावा किया कि राष्ट्र मंच एक गैर दलीय राजनैतिक कार्रवाई समूह होगा। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि यह मंच किसी पार्टी के खिलाफ नहीं है और राष्ट्रीय मुद्दों पर जोर देने के लिये वह कार्य करेगी। उन्होंने कहा, "यह कोई संगठन नहीं है, बल्कि राष्ट्रीय आंदोलन है।"

उन्होंने आर्थिक और विदेश नीतियों के लिये सरकार पर हमले किये। उन्होंने कहा, "भाजपा में सभी लोग डरे हुए हैं। हम नहीं ।" उन्होंने कहा कि देश में संवाद और चर्चा ‘‘असभ्य, एकतरफा और खतरनाक’ हो गई है। उन्होंने दावा किया, "ऐसा लगता है कि भीड़ का काम न्याय देने का हो गया है।"

उन्होंने कहा कि संसद के बजट सत्र के पहले चरण में प्रभावी रूप में सिर्फ चार कामकाजी दिन होंगे। यह अभूतपूर्व है। उन्होंने कहा कि किसानों के मुद्दे को उठाना उनके संगठन की शीर्ष प्राथमिकता होगी। 80 वर्षीय नेता, अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में वित्त और विदेश मंत्री रह चुके हैं।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें।