BREAKING NEWS

महाराष्ट्र: सरकारी कर्मचारियों ने हड़ताल ली वापस, पुरानी पेंशन के बराबर मिलेगा लाभ◾केरल: अस्पताल में महिला के साथ यौन उत्पीड़न का आरोप, आरोपी अरेस्ट◾JDU चीफ ललन सिंह बोले- भाजपा देशभक्ति और देशद्रोह की परिभाषा तय नहीं कर सकती◾World Happiness Report 2023: टॉप पर फिनलैंड, भारत की रैंकिंग यहाँ जानें.!◾‘राहुल ने कुछ भी गलत नहीं कहा...’, महिलाओं के यौन उत्पीड़न वाले बयान पर बोले उमर अब्दुल्ला ◾उमेश पाल हत्याकांड: योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, शूटर मोहम्मद गुलाम के मकान पर चला बुलडोजर ◾खालिस्तान पर वार... Amritpal फरार, चाचा और ड्राइवर ने किया सरेंडर, जानें अब तक क्या-क्या हुआ? ◾पंजाब सरकार निर्दोष सिख युवकों की गिरफ्तारी करना बंद करे - SGPC प्रमुख◾‘10 लाख नौकरियों का ऐलान...BJP को बताया 40% कमीशन की सरकार’, कर्नाटक में राहुल ने फूंका चुनावी बिगुल ◾UP power strike: बिजली हड़ताल नुकसान पर HC सख्‍त, सरकार से मांगा हिसाब; कहा-लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ की छूट किसी को नहीं◾MSP मांग को लेकर किसानों के प्रतिनिधिमंडल ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से की मुलाकात◾PM आवास योजना में हुई अनियमितताओं को लेकर ED की महाराष्ट्र के 9 जगहों पर छापेमारी ◾Delhi Assembly: विधानसभा में मनीष सिसोदिया को लेकर हुआ हंगामा, AAP को BJP ने भी पोस्टर से दिया जवाब◾कर्नाटक में BJP कार्यकर्ताओं के बीच झड़प के बाद विजय संकल्प यात्रा रद्द◾लगातार बढ़ती जा रही मनीष सिसोदिया की मुश्किलें, 14 दिनों की न्यायिक हिरासत और बढ़ी◾कर्जमाफी व पेंशन संबंधी मांगें पूरी नहीं हुई तो मजबूरी में एक और आंदोलन करना पड़ेगा : SKM◾उत्तराखंड के पिथौरागढ़ और रुद्रप्रयाग में एक बार फिर भूकंप के झटके हुए महसूस ◾ राजनीतिक इतिहास में काले दिन के तौर पर कांग्रेस ने मनाया आज गद्दार दिवस◾राहुल गांधी के बयान को लेकर लोकसभा में जोरदार हंगामा, कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित◾US Banking Crisis: सिग्नेचर बैंक को खरीदेगा न्यूयॉर्क कम्युनिटी बैंक, जानें कितने में होगी डील ◾

आपके बुरे दिन आएंगे! मैं श्राप देती हूँ...ED का समन मिलने पर जया बच्चन का सरकार पर फूटा गुस्सा

पनामा पेपर लीक मामले में सोमवार को एक तरफ बॉलीवुड अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन को ईडी के सामने पेश होना पड़ा तो वहीं दूसरी तरफ सोमवार को ही राज्यसभा में ऐश्वर्या राय की सास यानि कि जया बच्चन का गुस्सा फूट पड़ा। आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने संसद में अपना आपा खो दिया और उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बहुत जल्द उनकी सरकार के बुरे दिन शुरू होने वाले हैं।

दरअसल, नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रॉपिक पदार्थ (संशोधन) विधेयक पर चर्चा के लिए जया बच्चन को आमंत्रित किया गया। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘मैं आपको धन्यवाद नहीं देना चाहती हूं। ऐसा इसलिए क्योंकि मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि एक समय आप इस ओर से चिल्लाते हुए वेल में जाते थे। क्या मुझे उस समय को याद करना चाहिए, या फिर उस समय को याद करूं, जब आप कुर्सी पर बैठे हैं। समाजवादी पार्टी की राज्यसभा सांसद जया बच्चन की इस बात से बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा नाराज हो गए।

संसद की गरिमा को ठेस पहुंचाने का लगा आरोप

राकेश सिन्हा ने जया बच्चन पर संसद की गरिमा का अपमान करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बच्चन ने संसद के स्पीकर को व्यक्तिगत तौर पर संबोधित किया है, ये सदन के व्यवहार के अनुरूप नहीं है। इससे सदन की गरिमा को ठेस पहुंची है।किसी भी सदस्य को स्पीकर का अपमान करने का अधिकार नहीं है। इस दौरान भुवनेश्वर कालिता स्पीकर का पद संभाल रहे थे। उन्होंने जया बच्चन को माननीय कहते हुए अपनी बातों को फिर से रखने को कहा।

वहीं, जया बच्चन ने इसके जवाब में कहा, ‘मैं आपका शुक्रिया कहना चाहती हूं कि आपने मुझे माननीय कहा, लेकिन अगर आपको सच में लगता है कि मैं माननीय हूं, तो मेरी बातों पर आपको गौर करना चाहिए। हम लोग न्याय की मांग कर रहे हैं। हम सरकार से न्याय की उम्मीद नहीं कर रहे हैं। लेकिन क्या हम लोग आपकी तरफ न्याय से मिलने की उम्मीद कर सकते हैं? सदन के बाहर 12 सदस्य बैठे हुए हैं, आप उनके लिए क्या कर रहे हैं?’

जया बच्चन ने सदन में क्या कहा?

स्पीकर ने बच्चन को याद दिलाया कि सदन में नारकोटिक्स बिल पर चर्चा हो रही है। इस पर जया बच्चन ने कहा, ‘मुझे बोलने का मौका दिया गया है। हम बड़े मुद्दों पर चर्चा नहीं करते हुए सिर्फ इस बिल के क्लैरिकल एरर पर चर्चा कर रहे हैं। आखिर हो क्या रहा है?’ उन्होंने कहा, ‘आप किसके आगे बीन बजा रहे हैं? देखिए आपका रवैया ऐसा रहा, तो आपके बुरे दिन बहुत जल्द आएंगे। इसके बाद जया को जब रोका गया तो उन्होंने कहा कि आप मुझे बात ही मत कहने दीजिए। क्या अब हम सदन में भी न बैठें, गला घोंट दीजिए आप लोग हमारा।

वहीं, इसी दौरान किसी सदस्य ने जया बच्चन पर व्यक्तिगत टिप्पणी कर डाली, इसके बाद सांसद ने अपना आपा खो दिया और कहा, ‘इस पर कार्रवाई होनी चाहिए। कोई कैसे व्यक्तिगत टिप्पणी कर सकता है। यहां पर बैठे किसी भी सांसद के पास अपने बाहर बैठे हुए साथी के लिए सम्मान नहीं है। आपके बुरे दिन आएंगे। मैं श्राप देती हैं।’ दूसरी ओर, सदन से बाहर आने पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए जया ने कहा, ‘मैं किसी पर व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं करना चाहती हूं, जो हुआ वो नहीं होना चाहिए था। वो दुर्भाग्यपूर्ण था। उन्हें उस तरह से नहीं बोलना चाहिए था, जैसा उन्होंने कहा। इसने मुझे बहुत निराश किया।