BREAKING NEWS

सिख विवाह अधिनियम लागू कराने के लिए महाराष्ट्र अदालत में सिख दंपति ने दायर की याचिका ◾गहलोत को क्लीनचिट, समर्थकों पर कार्रवाई की अनुशंसा, पर्यवेक्षकों ने सोनिया गांधी को सौंपी रिपोर्ट◾KSRTC ने ठोका PFI पर 5 करोड़ का दावा, छापेमारी के विरोध में की थी बसों में तोड़फोड़ ◾राहुल गांधी का पीएम पर तंज, कहा- प्रधानमंत्री का नारा ‘बेटी बचाओ’ और भाजपा के कर्म ‘बलात्कारी बचाओ’◾ Haryana News: सीएम खट्टर ने कहा- स्वतंत्रता संग्राम की गाथा पर जागरूकता फैलाने... के लिए कार्यक्रम आयोजित करें ◾ जयशंकर की पाकिस्तान-अमेरिकी संबंधों को लेकर की गयी टिप्पणी पर 'पाकिस्तान' ने दी प्रतिक्रिया ◾29-30 सितंबर को गुजरात जाएंगे पीएम मोदी, गृहराज्य को कई बड़ी सौगातों से नवाजेंगे ◾ उद्धव को सुप्रीम झटका, चुनाव आयोग की कार्रवाई रोकने की मांग करने वाली याचिका खारिज◾SC ने EWS 10 फीसदी कोटा आपत्ति याचिका पर फैसला सुरक्षित, एक सवाल को लेकर फंसा पेंच ◾दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले के बाद LG ने ट्वीट किया- ‘सत्यमेव जयते’, AAP ने लगाए थे गंभीर आरोप ◾jharkhand News: झारखंड में खौफनाक मामला! डायन बताकर एक महिला की गई हत्या, आरोपी गिरफ्तार, जानें मामला ◾ राजस्थान में मचे सियासी तूफान के बीच पायलट की दिल्ली दरबार में दस्तक, मीडिया के सवालों से बचे◾गहलोत के शक्ति प्रदर्शन पर थरूर को फायदा ! अध्यक्ष पद की दौड़ में बंसल भी शामिल◾प्यारे दोस्त शिंजो को PM की अंतिम विदाई, Tweet कर बोले-लाखों लोगों के दिलों में जिंदा रहेंगे आप◾ विवादों में सेमखोर,फिल्म में संस्कृति को गलत चित्रण करने का आरोप ◾दिल्ली : बारिश के बाद अब डेंगू के मामलों में हुई बढ़ोतरी, पिछले 4 दिनों में आए 129 नए केस ◾पायलट के अलावा कोई और नहीं है CM का विकल्प, गहलोत के मंत्री की राय◾CM मान ने सदन और पंजाब के लोगों को किया गुमराह, मुद्दे पर नहीं हुई बात : कांग्रेस◾गहलोत पर एक्शन तय ! शक्ति प्रदर्शन कर हाईकमान को नीचे दिखाने की थी कोशिश◾ मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री आशा पारेख को किया जाएगा दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित ◾

क्या केंद्र कश्मीर में शांतिपूर्ण प्रदर्शन का सामना करने में सक्षम नहीं है : महबूबा

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने रविवार को सवाल किया कि  वह कश्मीर में मुख्यधारा के राजनीतिक दलों के शांतिपूर्ण प्रदर्शन का सामना नहीं कर सकता है। मुफ्ती की टिप्पणी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कश्मीर में हत्याओं को लेकर राष्ट्रीय राजधानी में केंद्र के खिलाफ एक रैली को संबोधित करने के बीच आई है। मुफ्ती ने कहा कि यह विडंबना है कि घाटी के राजनीतिक दलों को अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों की हत्याओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है, जबकि अन्य राज्यों में दलों को इसकी अनुमति है।
अल्पसंख्यकों की हत्याओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं दी गई
जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘विडंबना यह है कि कश्मीर में मुख्यधारा के दलों को अल्पसंख्यकों की हत्याओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं दी गई। क्या इसे जम्मू कश्मीर में सामान्य स्थिति के बिगड़ने को लेकर भारत सरकार की घबराहट के रूप में देख सकते हैं? या वे शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन का सामना करने में सक्षम नहीं हैं?’’
आप की ‘‘जन आक्रोश रैली’’ को संबोधित करते हुए
नयी दिल्ली के जंतर मंतर पर रविवार को आम आदमी पार्टी (आप) की ‘‘जन आक्रोश रैली’’ को संबोधित करते हुए, केजरीवाल ने कश्मीर में आतंकी गतिविधियों का समर्थन करने का आरोप लगाते हुए पाकिस्तान पर निशाना साधा। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कश्मीर में लक्षित हत्याओं के खिलाफ आयोजित रैली में कहा, ‘‘मैं पाकिस्तान से कहना चाहता हूं कि वह छोटी-छोटी चालबाजियां बंद करे। कश्मीर हमेशा भारत का हिस्सा रहेगा।