BREAKING NEWS

कर्नाटक उपचुनाव में 62.18 प्रतिशत मतदान, 12 सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला ◾प्याज को लेकर भाजपा सांसद ने कांग्रेस पर कसा तंज ◾मोदी को तानाशाह के रूप में बदनाम करने की साजिश : स्वामी◾आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री पहुंचे दिल्ली, मिलेंगे प्रधानमंत्री एवं केंद्रीय मंत्रियों से ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता दिल्ली हवाई अड्डे पहुंची, पुलिस ने अस्पताल तक बनाया ग्रीन कॉरीडोर ◾अनुच्छेद 370 : लाइव स्ट्रीमिंग संबंधी याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾हफ्ते भर बाद भी मंत्रियों को नहीं मिला विभाग, भाजपा ने की आलोचना ◾बैंक धोखाधड़ी : ईडी ने रतुल पुरी की जमानत अर्जी का किया विरोध◾राहुल गांधी ने प्याज पर सीतारमण के बयान को लेकर तंज कसा ◾TOP 20 NEWS 05 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PNB घोटाला : नीरव मोदी भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित ◾DTC और क्लस्टर बसों में लगेंगे CCTV कैमरे, पैनिक बटन, GPS : केजरीवाल ◾मायावती ने केंद्र द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया विभाजनकारी और असंवैधानिक◾चिदंबरम ने पहले ही दिन जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया: प्रकाश जावड़ेकर◾अर्थव्यवस्था पर असामान्य रूप से मौन हैं PM मोदी, सरकार को नहीं कोई खबर : चिदंबरम ◾रेपो दर में नहीं हुआ कोई बदलाव, RBI ने GDP ग्रोथ अनुमान घटाकर किया 5 फीसदी◾वायनाड में बोले राहुल- PM मोदी और अमित शाह ‘काल्पनिक’ दुनिया में जी रहे हैं इसलिए देश संकट में है◾जेल से बाहर आते ही एक्शन में दिखे चिदंबरम, संसद परिसर में मोदी सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन◾प्रियंका ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहतर होने के फर्जी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए◾महाराष्ट्र में शिवसेना को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए 400 पार्टी कार्यकर्ता◾

जम्मू-कश्मीर

पिछले 14 दिनों से कश्मीर के इस गांव के लोग नहीं सो पा रहे , सेना के कहने पर भी नहीं करते लाइटे बंद

 hreyhewt

भारत और पाकिस्तान के बीच हो रही लड़ाई की वजह से उत्तरी कश्मीर के उरी कस्बे के गांव बालाकोट के बाशिंदे काफी ज्यादा सहमे हुए हैं। ये स्थान पहाडिय़ों पर तैनात पाकिस्तानी सैन्य चौकियों की जद में आती है। गांव के लोग इस परेशानी में है कि वह खुद को सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं या फिर किसी आधिकारिक ऐलान का इंतजार करें।

\"\"

पूर्व सैनिक फारूख अहमद और गांव के एक निवासी ने बताया कि हम आश्वस्त नहीं हैं कि क्या करें। हम जंग के बीच फंस गए हैं।उन्होंने आगे कहा, अगर हम अपने घर छोड़ देंगे तो हमें नहीं पता कि कहां जाना है। अगर हम गांव छोड़ते हैं तो हमारे घरों की हिफाजत कौन करेगा?

\"\"

एलओसी के करीब गांव वाले सभी लोगों के मन में ये सवाल तब से घूमने लगा है जब स्थानीय बाशिंदों की नींद गोलाबारी की आवाज से खुली। वहीं कुछ ही घंटे बाद जम्मू क्षेत्र में भारत और पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के बीच टकराव हुआ।

\"\"

बालाकोटा मंगलवार को तब से चर्चा का विषय बन गया जब से जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकाने पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई की बात सामने आई है। हालांकि बाद में ये साफ हो गया कि जिस बालाकोट में इस अभियान को अंजाम दिया गया वो पाकिस्तान के बहुत अंदर जाकर खैबर पख्तूनख्वा क्षेत्र है।

\"\"

कश्मीर के बालाकोटा के लोगों ने बताई अपनी दास्तान

बालाकोट के 31 साल के शबीर अहमद ने बताया कि पुलवामा हमले के बाद से हम सो नहीं पाए हैं क्योंकि हर कोई काफी ज्यादा डरा हुआ है कि कुछ भी कभी भी हो सकता है। हम सबसे पहले निशाना बनते हैं और आगे भी रहेंगे जब कभी सीमा पर गोलीबारी होती है।

\"\"

पाकिस्तान से सटे आखिरी गांव में से एक सिलिकोट के नागरिकों ने भी बुधवार की सुबह से गांव छोडऩा शुरू कर दिया है। इस गांव में केवल 20 परिवार ही रहते हैं। गांव के ही एक शख्स ने बताया है कि उसने अपने परिवार को उरी में रहने वाले अपने रिश्तेदारों के यहां भेज दिया है। वहीं एक अन्य नागरिक ने दावा किया है कि उसे दिन के समय पास की आर्मी कैंप से फोन आया। इसमें रात के समय लाइटें बंद करने को कहा गया है। जबकि गांवो वालों को ऐसा लगता है कि यदि हम रात के समय लाइट जालाकर सोंएगे तो हम निशाना नहीं बनेंगे। क्योंकि हम अपनी जान खतरे में नहीं डालना चाहते हैं।

गांववालों ने बताया कि 2005 में आए भूकंप के बाद बंकर तहस-नहस हो गए। इसके बाद सरकार ने इन्हें दोबारा बनाने की नहीं सोची है। बालाकोट की रहने वाली 70 साल की मीरा बेगम ने कहा कि मेरे बेटों ने सेना में सेवा दी है। क्या हम इस देश का हिस्सा नहीं है। सरकार को हमारे बारे में चिंता क्यों नहीं है? ऊपरवाला भी हमारी नहीं सुन रहा और न ही हमारी सरकार। हमें क्या करना चाहिए। वहीं डिविजनल मजिस्टे्रट रियाज मलिक ने बोला है कि यूरी में एक इमर्जेंसी कंट्रोल रूम बनाया गया है। उनके अनुसार सभी तैयारियां पूरी हैं।