BREAKING NEWS

BJP सांसद ओम बिड़ला बने नए लोकसभा स्पीकर, कांग्रेस सहित सभी दलों का मिला समर्थन◾49 साल के हुए राहुल गांधी, PM मोदी ने की लम्बी उम्र और अच्छे स्वास्थ्य की कामना◾बिहार में जारी है चमकी बुखार का कहर, अब तक 112 बच्चों की हुई मौत◾'एक देश, एक चुनाव' पर मोदी की बैठक में ये नेता नहीं होंगे शामिल, मायावती ने ट्वीट कर दिया बयान◾'एक देश एक चुनाव' पर PM मोदी की बैठक आज, ममता नहीं होंगी शामिल◾पेट्रोल और डीजल के दाम स्थिर, जाने आपके राज्य में क्या है भाव !◾बंगाल में BJP कार्यकर्ता की हत्या, तृणमूल पर लगाया आरोप◾CM योगी ने नड्डा,शाह से की मुलाकात◾कांग्रेस ने ‘पार्टी विरोधी’ गतिविधियों के लिए रोशन बेग को किया सस्पेंड◾तृणमूल के विधायक, कई पार्षदों ने थामा BJP का दामन◾‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर बुधवार सुबह निर्णय लेंगे कांग्रेस और सहयोगी दल ◾अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में कांग्रेस के बने नेता◾स्पीकर के चुनाव में बिड़ला का समर्थन करेगा UPA, ''एक राष्ट्र, एक चुनाव'' पर अभी निर्णय नहीं ◾बजट से पहले मोदी के साथ महत्वपूर्ण विभागों के सचिवों की बैठक ◾J&K : पुलवामा में पुलिस थाने पर ग्रेनेड हमला, 5 घायल, 2 की हालत गंभीर◾PM मोदी ने 19 जून को बुलाई सर्वदलीय बैठक, 'एक राष्ट्र एक चुनाव' पर करेंगे चर्चा◾मेरठ : गमगीन माहौल में हुआ शहीद मेजर का अंतिम संस्कार, अंतिम दर्शन को उमड़ा जनसैलाब ◾WORLD CUP 2019, ENG VS AFG : इंग्लैंड ने अफगानिस्तान के खिलाफ रिकार्डों की झड़ी लगाई ◾विपक्ष ने महाराष्ट्र के वित्त मंत्री के ट्विटर हैंडल पर बजट लीक को लेकर की सरकार आलोचना की◾Top 20 News - 18 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾

जम्मू-कश्मीर

पिछले 14 दिनों से कश्मीर के इस गांव के लोग नहीं सो पा रहे , सेना के कहने पर भी नहीं करते लाइटे बंद

भारत और पाकिस्तान के बीच हो रही लड़ाई की वजह से उत्तरी कश्मीर के उरी कस्बे के गांव बालाकोट के बाशिंदे काफी ज्यादा सहमे हुए हैं। ये स्थान पहाडिय़ों पर तैनात पाकिस्तानी सैन्य चौकियों की जद में आती है। गांव के लोग इस परेशानी में है कि वह खुद को सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं या फिर किसी आधिकारिक ऐलान का इंतजार करें।

\"\"

पूर्व सैनिक फारूख अहमद और गांव के एक निवासी ने बताया कि हम आश्वस्त नहीं हैं कि क्या करें। हम जंग के बीच फंस गए हैं।उन्होंने आगे कहा, अगर हम अपने घर छोड़ देंगे तो हमें नहीं पता कि कहां जाना है। अगर हम गांव छोड़ते हैं तो हमारे घरों की हिफाजत कौन करेगा?

\"\"

एलओसी के करीब गांव वाले सभी लोगों के मन में ये सवाल तब से घूमने लगा है जब स्थानीय बाशिंदों की नींद गोलाबारी की आवाज से खुली। वहीं कुछ ही घंटे बाद जम्मू क्षेत्र में भारत और पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के बीच टकराव हुआ।

\"\"

बालाकोटा मंगलवार को तब से चर्चा का विषय बन गया जब से जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकाने पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई की बात सामने आई है। हालांकि बाद में ये साफ हो गया कि जिस बालाकोट में इस अभियान को अंजाम दिया गया वो पाकिस्तान के बहुत अंदर जाकर खैबर पख्तूनख्वा क्षेत्र है।

\"\"

कश्मीर के बालाकोटा के लोगों ने बताई अपनी दास्तान

बालाकोट के 31 साल के शबीर अहमद ने बताया कि पुलवामा हमले के बाद से हम सो नहीं पाए हैं क्योंकि हर कोई काफी ज्यादा डरा हुआ है कि कुछ भी कभी भी हो सकता है। हम सबसे पहले निशाना बनते हैं और आगे भी रहेंगे जब कभी सीमा पर गोलीबारी होती है।

\"\"

पाकिस्तान से सटे आखिरी गांव में से एक सिलिकोट के नागरिकों ने भी बुधवार की सुबह से गांव छोडऩा शुरू कर दिया है। इस गांव में केवल 20 परिवार ही रहते हैं। गांव के ही एक शख्स ने बताया है कि उसने अपने परिवार को उरी में रहने वाले अपने रिश्तेदारों के यहां भेज दिया है। वहीं एक अन्य नागरिक ने दावा किया है कि उसे दिन के समय पास की आर्मी कैंप से फोन आया। इसमें रात के समय लाइटें बंद करने को कहा गया है। जबकि गांवो वालों को ऐसा लगता है कि यदि हम रात के समय लाइट जालाकर सोंएगे तो हम निशाना नहीं बनेंगे। क्योंकि हम अपनी जान खतरे में नहीं डालना चाहते हैं।

गांववालों ने बताया कि 2005 में आए भूकंप के बाद बंकर तहस-नहस हो गए। इसके बाद सरकार ने इन्हें दोबारा बनाने की नहीं सोची है। बालाकोट की रहने वाली 70 साल की मीरा बेगम ने कहा कि मेरे बेटों ने सेना में सेवा दी है। क्या हम इस देश का हिस्सा नहीं है। सरकार को हमारे बारे में चिंता क्यों नहीं है? ऊपरवाला भी हमारी नहीं सुन रहा और न ही हमारी सरकार। हमें क्या करना चाहिए। वहीं डिविजनल मजिस्टे्रट रियाज मलिक ने बोला है कि यूरी में एक इमर्जेंसी कंट्रोल रूम बनाया गया है। उनके अनुसार सभी तैयारियां पूरी हैं।