BREAKING NEWS

PM मोदी ने SP पर साधा निशाना , कहा - लाल टोपी वाले लोग खतरे की घंटी,आतंकवादियों को जेल से छुड़ाने के लिए चाहते हैं सत्ता◾ किसान आंदोलन को खत्म करने के लिए राकेश टिकैत ने कही ये बात◾DRDO ने जमीन से हवा में मार करने वाली VL-SRSAM मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾बिना कांग्रेस के विपक्ष का कोई भी फ्रंट बनना संभव नहीं, संजय राउत राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बोले◾केंद्र की गलत नीतियों के कारण देश में महंगाई बढ़ रही, NDA सरकार के पतन की शुरूआत होगी जयपुर की रैली: गहलोत◾अमरिंदर ने कांग्रेस पर साधा निशाना, अजय माकन को स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त करने पर उठाए सवाल◾SKM की बैठक खत्म, क्या समाप्त होगा आंदोलन या रहेगा जारी? कल फाइनल मीटिंग◾महाराष्ट्र: आदित्य ठाकरे ने 'ओमिक्रॉन' से बचने के लिए तीन सुझाव सरकार को बताए, केंद्र को भेजा पत्र◾गांधी का भारत अब गोडसे के भारत में बदल रहा है..महबूबा ने केंद्र सरकार को फिर किया कटघरे में खड़ा, पूर्व PM के लिए कही ये बात◾UP चुनाव: सपा-रालोद आई एक साथ, क्या राज्य में बनेगी डबल इंजन की सरकार, रैली में उमड़ा जनसैलाब ◾बेंगलुरु का डॉक्टर रिकवरी के बाद फिर हुआ कोरोना पॉजिटिव, देश में ओमीक्रॉन के 23 मामलों की हुई पुष्टि ◾समाजवादी पार्टी पर PM मोदी का हमला, बोले-'लाल टोपी' वालों को सिर्फ 'लाल बत्ती' से मतलब◾पीेएम मोदी ने पूर्वांचल को दी 10 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात, सपा के लिए कही ये बात◾सदन में पैदा हो रही अड़चनों के लिए सरकार जिम्मेदार : मल्लिकार्जुन खड़गे◾UP चुनाव में BJP कस रही धर्म का फंदा? आनन्द शुक्ल बोले- 'सफेद भवन' को हिंदुओं के हवाले कर दें मुसलमान... ◾नगालैंड गोलीबारी केस में सेना ने नगारिकों की नहीं की पहचान, शवों को ‘छिपाने’ का किया प्रयास ◾विवाद के बाद गेरुआ से फिर सफेद हो रही वाराणसी की मस्जिद, मुस्लिम समुदाय ने लगाए थे तानाशाही के आरोप ◾लोकसभा में बोले राहुल-मेरे पास मृतक किसानों की लिस्ट......, मुआवजा दे सरकार◾प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों को दी कड़ी नसीहत-बच्चों को बार-बार टोका जाए तो उन्हें भी अच्छा नहीं लगता ...◾Winter Session: निलंबन वापसी के मुद्दे पर राज्यसभा में जारी गतिरोध, शून्यकाल और प्रश्नकाल हुआ बाधित ◾

केंद्र सरकार ने कश्मीर में 'विरोध प्रदर्शन' की बात अब कबूली

घाटी में शुक्रवार की प्रार्थना के बाद बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शनों की मीडिया रिपोर्टों को खारिज करने के तीन दिन बाद, मंगलवार को सरकार ने स्वीकार किया कि श्रीनगर के सौरा में एक 'घटना' हुई थी, जिसमें उपद्रवियों ने स्थानीय लोगों के साथ बदसलूकी की और सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी की। 

केंद्रीय गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट कर कहा, 'श्रीनगर के सौरा क्षेत्र में एक घटना 09/08 को हुई एक घटना के बारे में मीडिया में खबरें चली हैं, जिसमें एक स्थानीय मस्जिद में नमाज के बाद घर लौट रहे लोगों के साथ बदमाशों ने बदसलूकी की और व्यापक अशांति पैदा करने के लिए उन्होंने कानून प्रवर्तन बलों के खिलाफ पथराव किया।'

 

इस पोस्ट में जम्मू और कश्मीर पुलिस और सूचना और जनसंपर्क विभागों को टैग कर कहा गया, 'कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने संयम दिखाया और कानून और व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने की कोशिश की। यह बात दोहराई जा रही है कि अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद से जम्मू और कश्मीर में एक गोली नहीं चलाई गई है।'

 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 10 अगस्त को रायटर की रिपोर्ट को 'पूरी तरह से मनगढं़त और गलत' करार दिया था, जिसमें दावा किया गया था कि प्रतिबंधों में ढील दिए जाने पर शुक्रवार को श्रीनगर में 10,000 लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। 

मंत्रालय ने कहा कि समाचार रिपोर्ट 'मूल रूप से रॉयटर्स में प्रकाशित हुई और जो 'डॉन' में छपी थी, जिसमें दावा किया गया था कि श्रीनगर में 10,000 लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया।'

 

ट्वीट में कहा गया, 'यह पूरी तरह से मनगढ़ंत और गलत है। श्रीनगर/बारामूला में कुछ छिटपुट विरोध प्रदर्शन हुए हैं, और इसमें 20 से ज्यादा लोग शामिल नहीं थे।' 

शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने मस्जिदों में नमाज की इजाजत देने और लोगों को सोमवार के जश्न के लिए इंतजाम करने में मदद के लिए निषेधात्मक आदेशों में ढील दी थी। 

जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को रद्द करने के सरकार के कदम को देखते हुए 4 अगस्त से वहां प्रतिबंध लागू है।