BREAKING NEWS

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री पहुंचे दिल्ली, मिलेंगे प्रधानमंत्री एवं केंद्रीय मंत्रियों से ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता दिल्ली हवाई अड्डे पहुंची, पुलिस ने अस्पताल तक बनाया ग्रीन कॉरीडोर ◾अनुच्छेद 370 : लाइव स्ट्रीमिंग संबंधी याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾हफ्ते भर बाद भी मंत्रियों को नहीं मिला विभाग, भाजपा ने की आलोचना ◾बैंक धोखाधड़ी : ईडी ने रतुल पुरी की जमानत अर्जी का किया विरोध◾राहुल गांधी ने प्याज पर सीतारमण के बयान को लेकर तंज कसा ◾TOP 20 NEWS 05 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PNB घोटाला : नीरव मोदी भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित ◾DTC और क्लस्टर बसों में लगेंगे CCTV कैमरे, पैनिक बटन, GPS : केजरीवाल ◾मायावती ने केंद्र द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया विभाजनकारी और असंवैधानिक◾चिदंबरम ने पहले ही दिन जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया: प्रकाश जावड़ेकर◾अर्थव्यवस्था पर असामान्य रूप से मौन हैं PM मोदी, सरकार को नहीं कोई खबर : चिदंबरम ◾रेपो दर में नहीं हुआ कोई बदलाव, RBI ने GDP ग्रोथ अनुमान घटाकर किया 5 फीसदी◾वायनाड में बोले राहुल- PM मोदी और अमित शाह ‘काल्पनिक’ दुनिया में जी रहे हैं इसलिए देश संकट में है◾जेल से बाहर आते ही एक्शन में दिखे चिदंबरम, संसद परिसर में मोदी सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन◾प्रियंका ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहतर होने के फर्जी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए◾महाराष्ट्र में शिवसेना को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए 400 पार्टी कार्यकर्ता◾उत्तर प्रदेश : उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश, सभी आरोपी फरार ◾अमेरिका : पर्ल हार्बर शिपयार्ड में हुई गोलीबारी, बाल-बाल बचे भारतीय वायुसेना प्रमुख भदौरिया◾मध्य प्रदेश : रीवा में बस-ट्रक के बीच भीषण टक्कर, 9 की मौत, 10 लोग घायल◾

जम्मू-कश्मीर

केंद्र सरकार ने कश्मीर में 'विरोध प्रदर्शन' की बात अब कबूली

 kashmir protest

घाटी में शुक्रवार की प्रार्थना के बाद बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शनों की मीडिया रिपोर्टों को खारिज करने के तीन दिन बाद, मंगलवार को सरकार ने स्वीकार किया कि श्रीनगर के सौरा में एक 'घटना' हुई थी, जिसमें उपद्रवियों ने स्थानीय लोगों के साथ बदसलूकी की और सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी की। 

केंद्रीय गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट कर कहा, 'श्रीनगर के सौरा क्षेत्र में एक घटना 09/08 को हुई एक घटना के बारे में मीडिया में खबरें चली हैं, जिसमें एक स्थानीय मस्जिद में नमाज के बाद घर लौट रहे लोगों के साथ बदमाशों ने बदसलूकी की और व्यापक अशांति पैदा करने के लिए उन्होंने कानून प्रवर्तन बलों के खिलाफ पथराव किया।'

 

इस पोस्ट में जम्मू और कश्मीर पुलिस और सूचना और जनसंपर्क विभागों को टैग कर कहा गया, 'कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने संयम दिखाया और कानून और व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने की कोशिश की। यह बात दोहराई जा रही है कि अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद से जम्मू और कश्मीर में एक गोली नहीं चलाई गई है।'

 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 10 अगस्त को रायटर की रिपोर्ट को 'पूरी तरह से मनगढं़त और गलत' करार दिया था, जिसमें दावा किया गया था कि प्रतिबंधों में ढील दिए जाने पर शुक्रवार को श्रीनगर में 10,000 लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। 

मंत्रालय ने कहा कि समाचार रिपोर्ट 'मूल रूप से रॉयटर्स में प्रकाशित हुई और जो 'डॉन' में छपी थी, जिसमें दावा किया गया था कि श्रीनगर में 10,000 लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया।'

 

ट्वीट में कहा गया, 'यह पूरी तरह से मनगढ़ंत और गलत है। श्रीनगर/बारामूला में कुछ छिटपुट विरोध प्रदर्शन हुए हैं, और इसमें 20 से ज्यादा लोग शामिल नहीं थे।' 

शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने मस्जिदों में नमाज की इजाजत देने और लोगों को सोमवार के जश्न के लिए इंतजाम करने में मदद के लिए निषेधात्मक आदेशों में ढील दी थी। 

जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को रद्द करने के सरकार के कदम को देखते हुए 4 अगस्त से वहां प्रतिबंध लागू है।