BREAKING NEWS

दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट ने शैली ओबेरॉय को याचिका वापस लेने की दी इजाजत, मेयर चुनाव से जुड़ा है मामला ◾अखिलेश यादव के काफिले के साथ बड़ा हादसा, आपस में टकराईं गाड़ियां, कई लोग घायल◾पद के दुरुपयोग करने के मामले में दक्षिण कोरिया के पूर्व मंत्री को दो साल की हुई जेल◾चीन ने कहा- 'अमेरिका को ईमानदारी दिखानी चाहिए और श्रीलंका की मदद करनी चाहिए'◾Bihar: नालंदा में मिलीं 1200 साल पुरानी मूर्तियां, ASI ने कब्जे में लेने की मांग की◾बिहार से असम तक तैयार हो रहा 4 लेन का एक्सप्रेसवे, इन जिलों को मिलने वाला है फायदा ◾अडाणी विवाद को लेकर बोलें शशि थरूर, कहा- संसद में चर्चा नहीं होने दे रही है सरकार◾त्रिपुरा चुनाव: वाम गठबंधन ने जारी किया घोषणापत्र, किए ये वादे ◾मनीष सिसोदिया ने बदले एक दर्जन से ज्यादा फोन, दूसरे नामों से खरीदे Sim cards, शराब घोटाले को लेकर ED ने किए कई बड़े दावे◾आर्थिक कंगाली के बीच अब 'पाकिस्तान 18 दिनों तक ही कर पाएगा अपना गुजारा' ◾पश्चिम बंगाल : चार बांग्लादेशी घुसपैठियों को सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने दबोचा◾2019 से राष्ट्रपति की विदेश यात्राओं पर सवा छह करोड़ रुपये खर्च हुए◾भाजपा-ठाकरे गुट में तनातनी: संजय राउत ने 'आधारहीन आरोप' लगाने के लिए नारायण राणे को भेजा कानूनी नोटिस◾चीन: अमेरिकी वायु क्षेत्र में जासूसी गुब्बारा उड़ने की रिपोर्ट पर गौर कर रहे हैं◾ब्रिटेन के PM के रूप में 100 दिनों पर सुनक को औसत ग्रेड◾असम : बाल विवाह करने वालों की अब खैर नहीं, सरकार ने शुरू की मुहिम, 1,800 लोगों की हुई गिरफ़्तारी ◾कंझावला कांड : सच साबित हुई निधि की बात, हादसे के वक्त शराब के नशे में थी अंजलि, विसरा रिपोर्ट में हुआ खुलासा◾ संबंधों को सामान्य करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे' 'इजराइल और सूडान◾SC ने किया BBC की Documentary पर तुरंत बैन हटाने से इनकार, केंद्र सरकार से मांगे Original दस्तावेज◾SC को जल्द मिलेंगे 5 नए जज, केंद्र सरकार ने कॉलेजियम की सिफारिश को मंजूरी देने का आश्वासन दिया ◾

अमरनाथ यात्रा के दौरान तैनात CRPF को 'स्टिकी बम' के खतरों से निपटने के लिए किया जा रहा है प्रशिक्षित

जम्मू कश्मीर में वार्षिक अमरनाथ यात्रा के दौरान तैनात किए जाने वाले केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों को “स्टिकी बम” के खतरों से निपटने के लिये प्रशिक्षित किया जा रहा है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस समस्या से निपटने में सतर्कता सबसे अहम है। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने पिछले साल फरवरी में सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के निकट ड्रोन से गिराए गई हथियारों की एक खेप को जब्त किया था जिसमें 14 संवर्धित विस्फोटक उपकरण (आईईडी) के अंदर चुंबक लगा हुआ था। यह इस तरह की बरामद की गई विस्फोटक की पहली खेप थी।

स्टिकी बम’ के खतरे से निपटने में सतर्कता सबसे अहम 

इनका इस्तेमाल ‘स्टिकी बम’ (चिपकाने वाले बम) के तौर पर हो सकता है जिसे किसी भी वाहन पर चिपकाया जा सकता है और टाइमर या रिमोट के जरिये इसे नियंत्रित किया जा सकता है। सीआरपीएफ के हीरानगर रेंज के उप महानिरीक्षक देवेंदर यादव ने कहा कि ‘स्टिकी बम’ के खतरे से निपटने में सतर्कता सबसे अहम है।

यहां सीआरपीएफ इकाइयों की अंतर-बटालियन भारोत्तोलन प्रतियोगिता के उद्घाटन के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “इस समस्या से निपटने का सतर्कता बरतने के अलावा और कोई तरीका नहीं है। हमारे दायित्व वाले क्षेत्र में सुरक्षा बंदोबस्त को चौकस रखा जाएगा और जवानों को इस खतरे के बारे में प्रशिक्षित किया जाएगा।

पूर्व में पुंछ जिले में अगस्त में चार ‘स्टिकी बम’ जब्त किए गए थे

हिमालयी तीर्थ स्थल की 43 दिनों तक चलने वाली यह यात्रा 30 जून से दो मार्गों – दक्षिण कश्मीर के पहलगाम में नूनवान से 48 किलोमीटर और मध्य कश्मीर के गांदेरबल से 14 किलोमीटर छोटे मार्ग बालटाल – से होगी। कोविड महामारी के कारण इस बार दो साल के अंतराल के बाद यात्रा हो रही है।

सुरक्षा बलों की सतर्कता के कारण आतंकवादियों द्वारा ‘स्टिकी बम’ का इस्तेमाल कर हमला करने की कई साजिशों को बीते एक साल के दौरान नाकाम किया गया है। बीते 28 अप्रैल को भी सुरक्षा बलों ने जम्मू के बाहरी इलाके सिधरा बाइपास क्षेत्र में समय पर एक आईईडी का पता लगा हमले को नाकाम बना दिया था। पूर्व में पुंछ जिले में अगस्त में चार ‘स्टिकी बम’ जब्त किए गए थे। इससे पहले पिछले साल सितंबर में भी यहां चार आईईडी बरामद हुए थे। सीआरपीएफ अधिकारी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा से संबंधित सुरक्षा इंतजाम किए जा रहे हैं और सभी एजेंसियां अपनी भूमिका निभा रही हैं।