BREAKING NEWS

Punjab News: मान ने पंजाब कैबिनेट का किया विस्तार, इन पांच विधायकों ने ली मंत्री पथ की शपथ ◾मीडिया का परिदृश्य पिछले कुछ सालों में बदल गया......., बोले केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ◾RCP Singh: भाजपा को बड़ा झटका! केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह BJP में नहीं हुए शामिल ◾आप आग से नहीं खेल सकते... नूपुर शर्मा को करें गिरफ्तार! CM ममता ने फिर उठाई कड़ी कार्रवाई की मांग ◾ खाली हाथ रह गया उद्धव गुट, अजीत पवार को चुना गया महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ◾ ज्ञानवापी केस : जिला अदालत में सुनवाई टली, 12 को पक्ष रखेंगे मुस्लिम अधिवक्ता ◾Punjab Board Result 2022: पंजाब में कल छात्र-छात्राओं का अहम दिन, जारी होगा 10वीं का रिजल्ट, इस लिंक पर करें चेक◾ यशवंत सिन्हा की मुर्मू से अपील उनकी ओछी मानसिकता को दर्शाती है - सीटी रवि ◾शरद के बाद कांग्रेस ने भी शिंदे सरकार को लेकर की भविष्यवाणी, कहा - लंबे समय तक नही़ टिकेगी सरकार ◾महाराष्ट्र में 'कानून का शासन' नहीं, शिवसेना बोली- BJP का स्पीकर चुनाव जीतना हैरानी की बात नहीं... ◾राम रहीम को लेकर याचिकाकर्ता पर भड़का हाईकोर्ट, कहा - ये फिल्म चल रही है क्या ◾गुजरात को भी बनाएंगे दिल्ली और पंजाब मॉडल, केजरीवाल बोले- 300 यूनिट तक देंगे मुफ्त बिजली, भाजपा पर भी साधा निशाना◾दिल्ली में विधायकों के वेतन में 66 प्रतिशत की होगी वृद्धि, विधानसभा में पारित हुआ विधेयक ◾शिंदे के सीएम बनने पर दिग्विजय ने सिंधिया पर ली सियासी चुटकी ◾कन्हैयालाल, उमेश कोल्हे... अगला नबंर किसका? नागपुर में भी नूपुर शर्मा के समर्थन में युवक को मिली धमकियां, सदमें में परिवार◾Rahul Gandhi Fake Video: BJP कार्यकर्ताओं पर होगी कड़ी कार्रवाई, कांग्रेस बोली- झूठ नहीं करेंगे बर्दाश्त! ◾महाराष्ट्र : व्हिप मान्यता को लेकर ठाकरे गुट ने सुप्रीमकोर्ट का किया रूख ◾Yogi Government 2.0: मुख्यमंत्री योगी ने सामने रखा रिपोर्ट कार्ड, बोले- ‘जो कहा सो किया’, आगे भी करते रहेंगे ◾'मैंने कहा था मैं वापस आऊंगा, लेकिन...', विधानसभा में बोले डिप्टी CM फडणवीस◾ असम : ईद पर इस्लामी संगठन ने मुसलमानों से बकरीद पर गाय की कुर्बानी नही देने का किया आग्रह ◾

अमरनाथ यात्रा के दौरान तैनात CRPF को 'स्टिकी बम' के खतरों से निपटने के लिए किया जा रहा है प्रशिक्षित

जम्मू कश्मीर में वार्षिक अमरनाथ यात्रा के दौरान तैनात किए जाने वाले केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों को “स्टिकी बम” के खतरों से निपटने के लिये प्रशिक्षित किया जा रहा है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस समस्या से निपटने में सतर्कता सबसे अहम है। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने पिछले साल फरवरी में सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के निकट ड्रोन से गिराए गई हथियारों की एक खेप को जब्त किया था जिसमें 14 संवर्धित विस्फोटक उपकरण (आईईडी) के अंदर चुंबक लगा हुआ था। यह इस तरह की बरामद की गई विस्फोटक की पहली खेप थी।

स्टिकी बम’ के खतरे से निपटने में सतर्कता सबसे अहम 

इनका इस्तेमाल ‘स्टिकी बम’ (चिपकाने वाले बम) के तौर पर हो सकता है जिसे किसी भी वाहन पर चिपकाया जा सकता है और टाइमर या रिमोट के जरिये इसे नियंत्रित किया जा सकता है। सीआरपीएफ के हीरानगर रेंज के उप महानिरीक्षक देवेंदर यादव ने कहा कि ‘स्टिकी बम’ के खतरे से निपटने में सतर्कता सबसे अहम है।

यहां सीआरपीएफ इकाइयों की अंतर-बटालियन भारोत्तोलन प्रतियोगिता के उद्घाटन के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “इस समस्या से निपटने का सतर्कता बरतने के अलावा और कोई तरीका नहीं है। हमारे दायित्व वाले क्षेत्र में सुरक्षा बंदोबस्त को चौकस रखा जाएगा और जवानों को इस खतरे के बारे में प्रशिक्षित किया जाएगा।

पूर्व में पुंछ जिले में अगस्त में चार ‘स्टिकी बम’ जब्त किए गए थे

हिमालयी तीर्थ स्थल की 43 दिनों तक चलने वाली यह यात्रा 30 जून से दो मार्गों – दक्षिण कश्मीर के पहलगाम में नूनवान से 48 किलोमीटर और मध्य कश्मीर के गांदेरबल से 14 किलोमीटर छोटे मार्ग बालटाल – से होगी। कोविड महामारी के कारण इस बार दो साल के अंतराल के बाद यात्रा हो रही है।

सुरक्षा बलों की सतर्कता के कारण आतंकवादियों द्वारा ‘स्टिकी बम’ का इस्तेमाल कर हमला करने की कई साजिशों को बीते एक साल के दौरान नाकाम किया गया है। बीते 28 अप्रैल को भी सुरक्षा बलों ने जम्मू के बाहरी इलाके सिधरा बाइपास क्षेत्र में समय पर एक आईईडी का पता लगा हमले को नाकाम बना दिया था। पूर्व में पुंछ जिले में अगस्त में चार ‘स्टिकी बम’ जब्त किए गए थे। इससे पहले पिछले साल सितंबर में भी यहां चार आईईडी बरामद हुए थे। सीआरपीएफ अधिकारी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा से संबंधित सुरक्षा इंतजाम किए जा रहे हैं और सभी एजेंसियां अपनी भूमिका निभा रही हैं।