BREAKING NEWS

बाबरी मस्जिद फैसले पर 'जय श्री राम' के नारे के साथ आडवाणी बोले - आज हम सबके लिए है ख़ुशी का दिन◾बाबरी विध्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट ने सभी 32 आरोपियों को किया बरी, नियोजित नहीं थी योजना ◾हाथरस गैंगरेप : PM मोदी ने CM योगी से की बात, UP सरकार ने जांच के लिए SIT का किया गठन◾बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में कोर्ट के फैसले से पहले लखनऊ में हाई अलर्ट◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों का आरोप, पुलिस ने जबरन रात में कराया अंतिम संस्कार ◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 80 हजार नए केस की पुष्टि, 1179 लोगों ने गंवाई जान ◾हाथरस गैंगरेप पर बोले राहुल- भारत की एक बेटी का रेप-कत्ल कर तथ्य दबाए जाते हैं ◾हाथरस मामले को लेकर प्रियंका ने CM योगी का मांगा इस्तीफा, कहा- आपके शासन में है अन्याय का बोलबाला◾US : डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा-अब हम कोरोना वैक्सीन से केवल कुछ सप्ताह ही दूर हैं◾लम्बे इंतज़ार के बाद आने वाला है सीबीआई का फैसला, 49 अभियुक्तों में से हो चुकी है 17 की मौत ◾आज का राशिफल (30 सितम्बर 2020)◾हाथरसः ग्रामीणों के भारी विरोध के बीच गैंगरेप पीड़िता का किया गया अंतिम संस्कार◾इजराइल ने भारत-इजराइल मित्रता के प्रमुख सूत्रधार दिवंगत शिमोन पेरेज को श्रद्धांजलि देने के लिए PM मोदी को दिया धन्यवाद◾SRH vs DC ( IPL 2020 ) : सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को 15 रनों से हराया ◾ संजय सिंह ने CM योगी पर साधा निशाना , कहा - बलात्कारियों को संरक्षण दे रही है UP सरकार◾महाराष्ट्र में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, बीते 24 घंटे में 14,976 नए केस, 430 की मौत ◾उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव ◾IPL-13: जॉनी बेयरस्टो का शानदार अर्धशतक, हैदराबाद ने दिल्ली के सामने रखा 163 रनों का लक्ष्य ◾दिल्ली में कोरोना से 24 घंटे में 48 लोगों की मौत , 3227 नए मामले भी सामने आए ◾सच्चाई से परे और बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है एमनेस्टी इंटरनेशनल का बयान : गृह मंत्रालय◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जम्मू में व्यापक प्रदर्शन के बाद कर्फ्यू लागू, सेना ने फ्लैग मार्च किया 

जम्मू : पुलवामा आतंकवादी हमले को लेकर हुए व्यापक प्रदर्शन तथा पथराव एवं आगजनी की घटनाओं के बाद जम्मू शहर में शुक्रवार को कर्फ्यू लगा दिया गया और सेना ने संवेदनशील क्षेत्रों में फ्लैग मार्च किया। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए।  अधिकारियों ने बताया कि जम्मू में ऐहतियाती उपाय के तौर पर इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गयीं। शहर में बंद के दौरान क्रुद्ध लोंगों ने कर्फ्यू को तोड़ते हुए इस आतंकवादी हमले के खिलाफ रैलियां निकाली। पुलिस को रेजीडेंसी रोड, काची छावनी और डोगरा हॉल क्षेत्रों में लोगों को तितर बितर करने के लिए लाठी चार्ज करना पड़ा। गुज्जर नगर इलाके में पांच वाहनों में आग लगा दी गयी जबकि प्रदर्शनकारियों ने कई अन्य वाहनों को पलट दिया। प्रदर्शनकारियों कहना था कि जब वे हमले के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे उस दौरान छतों से उन पर पथराव किया गया। अधिकारियों ने बताया कि सांप्रदायिक झगड़ों की आशंका के चलते जम्मू शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया। संभागीय आयुक्त संजय वर्मा ने पीटीआई को बताया कि प्रशासन ने सेना की मदद मांगी गयी । सेना ने गुज्जर नगर एवं शहीद चौक इलाकों में फ्लैग मार्च किया। वर्मा ने बताया कि संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त बल तैनात किये गये हैं। खबरों के अनुसार हिंसा तब भड़क उठी जब गुज्जर नगर इलाके में रैली निकाली गयी तथा कुछ लोगों ने छत से प्रदर्शनकारियों पर ईंटें फेंकी। छतों से किए जाने वाले पथराव और वाहनों को जलाये जाने के कथित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए हैं। पुलिस आनन फानन में मौके पर पहुंची तथा क्रुद्ध भीड़ को तितर बितर करने के लिए आंसू गैस का प्रयोग किया गया और लाठियां चलायी गयीं।

जम्मू चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (जेसीसीआई) ने बृहस्पतिवार को आतंकवादी हमले का विरोध करते हुए जम्मू में बंद का आह्वान किया था। सड़क पर यातायात नहीं चल रहा था तथा बाजार में दुकानों को बंद रखा गया था। जम्मू शहर में ज्वैल चौक, पुरानी मंडी, रेहारी, शक्तिनगर, पक्का डंगा, जानीपुर, गांधीनगर और बक्शीनगर समेत दर्जनों स्थानों पर लोगों ने पाकिस्तान के विरोध में सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किए। जम्मू के पुलिस उपायुक्त रमेश कुमार ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हमने एहतियाती कदम के तौर पर जम्मू शहर में कर्फ्यू लागू कर दिया है।’’ अधिकारियों के अनुसार, जम्मू शहर पूरी तरह बंद है और सड़कों पर कोई वाहन नहीं है। सभी दुकानें और बाजार बंद हैं।पाकिस्तान विरोधी, आतंकवादी विरोधी नारे लगाते हुए प्रदर्शनकारियों ने कई सड़कों पर टायर फूंके। प्रदर्शनकारियों ने बदले की मांग करते हुए सड़कों को अवरुद्ध कर दिया।

बजरंग दल, शिवसेना और डोगरा फ्रंट के नेतृत्व में लोगों ने शहर में कैंडल मार्च निकाला और पाकिस्तान विरोधी प्रदर्शन किए। पुलवामा हमले का विरोध करते हुए जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय बार संघ ने उच्च न्यायालय और अधिकरणों समेत जम्मू में सभी अदालतों में काम स्थगित कर दिया। जम्मू कश्मीर को तीन भागों में बांटने की पैरवी करते रहे संगठन ने पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 सैनिकों को पुष्पांजलि अर्पित की। संगठन के संस्थापक हरिओम ने कहा कि राज्य की स्थिति बहुत चिंताजनक हो गयी है। उन्होंने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्रियों पर बरसते हुए मांग की कि उनकी सुरक्षा हटा ली जानी चाहिए क्योंकि वे मुख्यधारा की राजनीति की आड़ में नरम अलगाववाद को आगे बढ़ा रहे हैं।