BREAKING NEWS

PM मोदी की अपील पर आज रात 9 बजे 9 मिनट के लिए देश भर की लाइट होंगी बंद◾जमातियों का जमघट : देर रात इंडोनेशियाई की 5 महिला मौलवी सहित मस्जिद में छिपे 15 दबोचे गए◾कोरोना वायरस : देश में संक्रमितों की संख्या 3,300 के पार, 77 लोगों की मौत की पुष्टि ◾अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या 3 लाख के पार हुई, इटली में 15362 लोगों की मौत ◾कोविड-19: दिल्ली में संक्रमण के मामले बढ़कर हुए 445, उनमें से 301 लोग हुए थे निजामुद्दीन के कार्यक्रम में शामिल ◾लॉकडाउन : शहर में फंसे विदेशियों के लिए ट्रांजिट पास जारी करेगी दिल्ली सरकार◾ कोरोना वायरस : राष्ट्रपति ट्रम्प ने दी मास्क पहन कर घर से बाहर निकलने की सलाह, खुद नहीं पहनेंगे मास्क ◾PM मोदी ने की उच्चाधिकार प्राप्त समूहों की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता◾तिहाड़ जेल कैदियों ने जेल में ही बना डाले 75000 मास्क, सेनेटाइजर◾महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र आव्हाड का दावा : गृह मंत्रालय ने ही दी थी तबलीगी जमात को अनुमति◾कोविड-19 का प्रकोप : दुनियाभर में कोरोना के मामले 11 लाख के पार, 59 हजार से अधिक लोगों की मौत ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,072 तक पहुंची, अब तक 75 लोगों की मौत ◾दिल्ली में 445 लोग COVID-19 से संक्रमित, और बढ़ सकते हैं मामलें : CM केजरीवाल◾तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने क्राइम ब्रांच को भेजा जवाब, कहा- अभी सेल्फ क्वारनटीन में हूं, बाकी सवाल बाद में◾स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान : देश के कुल कोरोना संक्रमित मामलों में 30 फीसदी तबलीगी जमात के लोग◾राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾कोविड-19 पर सरकार ने जारी किया परामर्श, चेहरे और मुंह के बचाव के लिए घर में बने सुरक्षा कवर का करे प्रयोग◾जानिये क्यों, पीएम की 9 मिनट लाइट बंद करने की अपील के बाद अलर्ट मोड पर है बिजली विभाग की कंपनियां◾तबलीगी जमातियों पर भड़के राज ठाकरे,कहा- ऐसे लोगों को गोली मार देनी चाहिए ◾PM मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी की कविता को शेयर करते हुए कहा- आओ दीया जलाएं◾

कश्मीर में शांतिपूर्ण रही ईद-उल-अजहा की नमाज, किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं : पुलिस

कश्मीर घाटी में सोमवार की सुबह मस्जिदों में ईद-उल-अजहा की नमाज शांतिपूर्ण ढंग से अदा की गई, लेकिन कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगे होने के कारण सड़कों से त्योहार की रौनक गायब रही। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुसार जम्मू कश्मीर में लोग नमाज अदा करने के लिए बड़ी संख्या में बाहर निकले। श्रीनगर और शोपियां में प्रमुख मस्जिदों में नमाज अदा की गई। 

प्रशासन ने सोमवार को कहा था कि लोगों को नमाज अदा करने के लिए पास की मस्जिदों में जाने की इजाजत होगी। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने ट्वीट किया, "घाटी के अनेक हिस्सों में ईद की नमाज शांतिपूर्ण तरीके से अदा की गई। अभी तक किसी अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है।" 

खबरों के अनुसार, अधिकारियों ने विभिन्न मस्जिदों में मिठाइयां भी बांटीं। केंद्रीय गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट किया, "अनंतनाग, बारामूला, बडगाम, बांदीपुर में बिना किसी अप्रिय घटना के सभी मस्जिदों में शांतिपूर्ण ढंग से ईद-उल-अजहा की नमाज अदा की गई।" 

प्रवक्ता ने कहा कि जम्मू के ईदगाह में 4,500 से अधिक लोगों ने नमाज अदा की। ईद-उल-अजहा के मौके पर घाटी में प्रतिबंधों में थोड़ी छूट दी गई थी, ताकि लोग त्योहार के लिए खरीदारी कर सकें। बहरहाल, कश्मीर के सबसे बड़े त्योहारों में से एक ईद-उल- अजहा की रौनक इस बार नजर नहीं आ रही है। 

पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त करने और राज्य को दो हिस्सों में बांटने के केंद्र सरकार के फैसले के बाद से घाटी में कड़ी सुरक्षा है, आवाजाही पर प्रतिबंध है और संचार सुविधा बंद कर दी गयी है। इससे घाटी में जनजीवन प्रभावित है। 

अधिकारी ने बताया कि जिला प्रशासन लगातार जम्मू-कश्मीर में स्थिति की समीक्षा कर रहा है। साथ ही यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि प्रतिबंधों से लोगों को कम से कम परेशानी हो। इस संबंध में एक अन्य अधिकारी ने बताया कि सरकार ने कश्मीर घाटी में पर्याप्त भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित की है और कुछ सामग्री घरों तक पहुंचाए जाने की व्यवस्था करने के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं। 

उन्होंने बताया कि जम्मू-कश्मीर में शांति कायम रखना और किसी भी अप्रिय घटना को रोकना सरकार की प्राथमिकता है। पिछले शुक्रवार को लोगों को पास की मस्जिदों में जाने और नमाज अदा करने की इजाजत दी गयी थी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने की गत बुधवार को घोषणा की थी। 

उससे पहले इससे संबंधित प्रस्ताव को संसद के दोनों सदनों ने मंजूरी दी थी। शनिवार को कोविंद ने जम्मू कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों- जम्मू कश्मीर और लद्दाख में बांटने के संसद से पारित प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी। ये दोनों केंद्रशासित प्रदेश 31 अक्टूबर को अस्तित्व में आ जायेंगे।