जम्मू कश्मीर स्थित माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए हर साल करीब लाखों श्रद्धालु जाते हैं और मंदिर प्रबंधन ने इसके आसपास पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पर्यावरण के अनुकूल नवीनतम प्रौद्योगिकी इस्तेमाल करने का निर्णय लिया है।

रियासी जिले में मंदिर का कामकाज देखने वाली श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (एसएमवीएसबी) ने बताया कि पर्यावरण के संरक्षण को बाजिव महत्व दिया जा रहा है।

तीर्थयात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुये बुनियादी ढांचे में सुधार किया जा रहा है और इस तरह के नये निर्माण भी किये जा रहे हैं। पिछले साल 81.78 लाख तीर्थयात्रियों ने त्रिकूटा स्थित मंदिर में माता के दर्शन किए जो 2016 के करीब 4.54 लाख तीर्थयात्री से अधिक है।

एसएमवीएसबी के एक प्रवक्ता ने बताया कि पहली बार , शौचालयों की सफाई के लिए रासायनिक पदार्थ की जगह जैव स्वच्छता उत्पाद का इस्तेमाल किया जाएगा।