BREAKING NEWS

निर्मला सीतारमण पूर्व PM एच डी देवेगौड़ा का हालचाल जानने पहुंचीं◾America Cyclone : अमेरिका के फ्लोरिडा में चक्रवात से भारी तबाही, बिजली गुल होने से 25 लाख लोग प्रभावित◾दशहरे पर हैदराबाद में मंच सजाएंगे केसीआर, राष्ट्रीय दल की करेंगे घोषणा ◾गहलोत को झटका, सचिन को ताज ? सोनिया गांधी से दोनों के मुलाकात अलग -अलग मायने◾Congress: सोनिया गांधी अगले दो दिन के अंदर सीएम पद के लिए करेगी फैसला, जानें पूरी मिस्ट्री ◾दिग्विजय सिंह का कांग्रेस अध्यक्ष बनना तय ? परिस्थिति के अनुसार बदलते गए समीकरण ◾2023 में ही तेजस्वी को सीएम बनाएंगे नीतीश ? आरजेड़ी नेता के बयान को लगी सियासी हवा ◾पंजाब : चर्च में तोड़फोड़, धार्मिक तनाव, छावनी में तब्दील हुआ घटनास्थल◾Maharashtra: ठाकरे का एकनाथ शिंदे पर तीखा वार- भगवा ध्वज दिल में होना चाहिए, केवल हाथ में नहीं ◾14 साल पहले गोद ली गई लड़की ने आशिक के साथ मिलकर घोटा पिता का गला, दोनों गिरफ्तार ◾इशारों-इशारों में अखिलेश ने दिए मायावती से फिर दोस्ती के संकेत, सपा और बसपा का हो सकता है गठबंधन?◾कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे अशोक गहलोत, सोनिया से मांगी माफी◾असम में दर्दनाक हादसा, ब्रह्मपुत्र नदी में नाव डूबने से 10 लोग लापता, SDRF- NDRF ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया ◾पीएफआई को केरल हाईकोर्ट ने दी बड़ी चोट, हिंसा में तोड़फोड़ का वसूला जाएगा हर्जाना ◾बिहार : बालू माफियाओं के बीच वर्चस्व की खूनी जंग, पांच लोगों की हत्या ◾राहुल गांधी के कर्नाटक दौरे से पहले फटे पोस्टर, कांग्रेस ने भाजपा पर उठाए सवाल ◾बिहार बीजेपी का अगला अध्यक्ष कौन ? गठबंधन टूटने के बाद सियासी समीकरणों को साधने की कोशिश◾UP News: अलीगढ़ की मीट फैक्ट्री में हादसा, अमोनिया गैस का हुआ रिसाव, 50 मजदूर बेहोश, DM-SP मौके पर मौजूद ◾दिग्विजय भी लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, कल दाखिल करेंगे नामांकन पत्र ◾उत्तर प्रदेश : छोटी सी बात को लेकर हुआ पति-पत्नी में विवाद, लेनी पड़ी एक अपनी जान ◾

'पाकिस्तानी-खालिस्तानी' बुलाये जाने पर फारूक अब्दुल्ला ने जताया खेद, बोले- गांधी का भारत लाए वापस

नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह महात्मा गांधी का भारत वापस लाना चाहते हैं। जम्मू में शेर-ए-कश्मीर भवन में पार्टी के एक दिवसीय सम्मेलन के दौरान कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए, अब्दुल्ला ने इस तथ्य पर भी खेद व्यक्त किया कि उन्हें "पाकिस्तानी और खालिस्तानी" कहा जाता था।

गांधी के भारत को लाना चाहते हैं वापस :फारूक अब्दुल्ला

उन्होंने कहा, 'हमने कभी भारत के खिलाफ कोई नारा नहीं लगाया। हमें पाकिस्तानी कहा जाता था। इधर जम्मू में हमारे कार्यकर्ताओं से पूछो, हमें पाकिस्तानी कहा जाता था। भगवान का शुक्र है कि हमें खालिस्तानी नहीं कहा गया। लेकिन मुझे वह भी बुलाया गया था। उन्होंने कहा कि मैं भिंडरांवाले के साथ हूं। 

अब्दुल्ला ने आगे कहा कि किस गुरुद्वारे में गोलियां चलाई गईं?…उन्हें लगता है कि हम डर जाएंगे….हम आपसे लड़ेंगे और ईमानदारी से करेंगे….हम (महात्मा) गांधी के रास्ते पर चलते हैं और गांधी के भारत को वापस लाना चाहते हैं। हमने गांधी के हिंदुस्तान से समझौता किया है, गोडसे के हिंदुस्तान से नहीं। हमने कभी हिंदू, मुस्लिम और सिखों के बीच अंतर नहीं किया।

'दिल की दूरी और दिल्ली की दूरी' को घटने में मोदी असफल 

अब्दुल्ला ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'दिल की दूरी और दिल्ली की दूरी' को हटाने का वादा किया था। “न तो दिल जुड़े थे और न ही जम्मू-कश्मीर और दिल्ली के बीच की दूरी को पाट गया था। अगर कुछ बदला है तो उन्हें लोगों को बताना चाहिए।" 

अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा बहाल करने की लड़ाई न तो आसान होगी और न ही भगवान किसी को उनके लिए लड़ने के लिए भेजेगा। हमें अपने अधिकारों के लिए खड़ा होना होगा और लड़ना होगा। हमने न तो बंदूकें या हथगोले उठाए हैं और न ही पथराव किया है। हम प्रधान मंत्री या राष्ट्रपति पद की मांग नहीं करते हैं, लेकिन हमारी लड़ाई हमारे अधिकारों के लिए है जो हमसे छीन लिए गए थे।”

जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर कही ये बात 

अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर भी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि नौकरशाह खुद के लिए अधिकारी बन गए हैं, जिसने लोगों को दुखों और कठिनाइयों के अधीन किया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब विरोधी निर्णय बहुत अधिक हैं और उन्होंने 'दरबार मूव' को रोकने का उल्लेख किया, जिसे उन्होंने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों के बीच एकीकरण सुनिश्चित करने के लिए जानबूझकर पेश किया था।

लालू के घर बजेंगी शहनाई, तेजस्वी यादव की शादी हुई पक्की, दिल्ली में आज या कल होगी सगाई