BREAKING NEWS

शशि थरूर ने कहा- कांग्रेस वास्तविक ‘केंद्र बिंदु’, छोटे दलों को विपक्षी गठबंधन का संयोजक बनने को प्रेरित करता◾Bihar News: हिंसा पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- बंगाल के रास्ते पर जा रहा राज्य◾सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी सीबीआई के हीरक जयंती समारोह का करेंगे उद्घाटन◾पाकिस्तान में मंहगाई से बेहाल जनता, मार्च में दर्ज की गई सबसे ज्यादा महंगाई◾दिल्ली में कोरोना का अलर्ट, स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग◾अनुराग ठाकुर ने TMC पर साधा निशाना, कहा- 'क्या हिंदुस्तान में अब ये होगा कि हम कहीं जलूस निकाल सकते हैं और कहीं नहीं'◾'मोदी सरनेम' मामले में 2 साल की सज़ा वाले CJM Court के फैसले को चुनौती देंगे राहुल गांधी ◾PM मोदी ने भारतीय क्रिकेटर सलीम दुर्रानी के निधन पर जताया शोक ◾ यूपी के रायबरेली में कांशीराम की मूर्ति का अनावरण करेंगे अखिलेश यादव ◾शिवपाल यादव ने राम राज्य को लेकर कही बड़ी बात, समाजवाद के बिना राम राज्य की कल्पना बेमानी ◾राजधानी में कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार, वायरस के 416 नए मामले, 14 फीसदी से ज्यादा हुई पॉजिटिविटी रेट◾अमित शाह बिहार में आज भरेंगे हुंकार, नवादा जिले में जनता को करेंगे संबोधित◾PM मोदी ने कांग्रेस सहित विपक्षी दलों पर साधा निशाना, कहा- 'मुझे मारने के लिए सुपारी दे रखी है'◾आज देश में इतिहास की सबसे नाकारा सरकार, महंगाई के लिए जिम्मेदार : राहुल गांधी◾शाह बिहार पहुंचे, सासाराम का दौरा रद्द होने को लेकर भाजपा और जदयू के बीच आरोप-प्रत्यारोप◾जब पीएम मोदी ने 'मन की बात' में कश्मीर के कमल के तने का किया जिक्र ◾IPL 2023 : मेयर्स का अर्धशतक, वेड का धमाल, लखनऊ सुपर जायंट्स ने दिल्ली कैपिटल्स को 50 रन से हराया ◾अमेरिका के ‘मिडवेस्ट’ और ‘साउथ’ में बवंडर ने मचाई तबाही, 18 लोगों की मौत◾IPL 2023 : पंजाब किंग्स ने वर्षा बाधित मुकाबले में कोलकाता नाईट राइडर्स को 7 रन से हराया ◾हावड़ा के काजीपाड़ा में स्थिति शांतिपूर्ण; सीआईडी ने झड़पों की जांच शुरू की◾

फारूक अब्दुल्ला दिसंबर में छोड़ेंगे नेशनल कॉन्फ्रेंस अध्यक्ष का पद ; PAGD के प्रमुख बने रहेंगे

वरिष्ठ नेता एवं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष पद से अगले महीने हटने की घोषणा करते हुए शुक्रवार को कहा कि अब नयी पीढ़ी को जिम्मेदारी सौंपने का समय आ गया है।

उम्मीद की जा रही है कि 85 वर्षीय अब्दुल्ला पार्टी संरक्षक बने रहेंगे और जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त होने के बाद संघ शासित प्रदेश में होने वाले पहले विधानसभा चुनावों में पार्टी का मार्गदर्शन करेंगे। हालांकि, चुनाव की तारीख अभी तक घोषित नहीं की गई है। अब्दुल्ला 2002 से अगले सात वर्षों को छोड़कर तकरीबन चार दशकों तक पार्टी का अध्यक्ष रहे हैं।

अटकलें हैं कि अब्दुल्ला के पद छोड़ने के बाद उनके बेटे एवं नेकां के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला इसके नए प्रमुख बन सकते हैं। उमर को 2002 में पार्टी अध्यक्ष चुना गया था और वह 2009 तक इस पद पर बने रहे। उसके बाद उन्होंने तत्कालीन जम्मू-कश्मीर राज्य के मुख्यमंत्री का पद ग्रहण करने से पहले नेकां अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दिया था।

अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘मैं अब अध्यक्ष पद के लिए चुनाव नहीं लड़ूंगा। इस पद के लिए चुनाव पांच दिसंबर को होगा। अब समय आ गया है कि नयी पीढ़ी इस जिम्मेदारी को संभाले।’’

लोकसभा के सदस्य अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘पार्टी का कोई भी सदस्य इस पद के लिए चुनाव लड़ सकता है। यह एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया है।’’

फारूक अब्दुल्ला पहली बार 1983 में नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष बने थे।

नेकां अध्यक्ष का पद छोड़ने के बावजूद फारूक अब्दुल्ला ‘पीपुल्स एलायंस फॉर गुपकर डिक्लरेशन (पीएजीडी)’ के प्रमुख बने रहेंगे। यह पांच राजनीतिक दलों... नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां), पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) भाकपा, माकपा और अवामी नेशनल कॉन्फ्रेंस का गठबंधन है।

अब्दुल्ला ने स्पष्ट किया, ‘‘हां, मैं गठबंधन का नेतृत्व करता रहूंगा।’’

राज्य के सबसे पुराने राजनीतिक दलों में से एक नेकां ने ट्वीट करके बताया कि अब्दुल्ला ने अपने सहयोगियों को भी जम्मू-कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष पद से हटने के फैसले से अवगत करा दिया है।

नेकां के महासचिव अली मोहम्मद सागर ने पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी की है। उसके मुताबिक चुनाव पार्टी के संस्थापक शेख मोहम्मद अब्दुल्ला की जयंती पर होगा। इसके लिए नामांकन पत्र एक दिसंबर तक दाखिल किया जा सकेगा।