BREAKING NEWS

FB ने अपना नाम बदल कर किया Meta , फेसबुक के CEO मार्क जुकरबर्ग का ऐलान◾T20 World CUP : डेविड वॉर्नर की धमाकेदार पारी, ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को सात विकेट से हराया◾जी-20 की बैठक में महामारी से निपटने में ठोस परिणाम निकलने की उम्मीद : श्रृंगला◾क्रूज ड्रग केस : 25 दिन के बाद आखिरकार आर्यन को मिली जमानत, लेकिन जेल में ही कटेगी आज की रात ◾विप्रो के संस्थापक अजीम प्रेमजी ने 2020-21 में हर दिन दान किए 27 करोड़ रु, जानिये कौन है टॉप 5 दानदाता ◾नया भूमि सीमा कानून पर चीन की सफाई- मौजूदा सीमा संधियों नहीं होंगे प्रभावित, भारत निश्चिन्त रहे ◾कांग्रेस ने खुद को ट्विटर की दुनिया तक किया सीमित, मजबूत विपक्षी गठबंधन की परवाह नहीं: टीएमसी ◾त्योहारी सीजन को देखते हुए केंद्र सरकार ने कोविड-19 रोकथाम गाइडलाइन्स को 30 नवंबर तक बढ़ाया ◾नवाब मलिक का वानखेड़े से सवाल- क्रूज ड्रग्स पार्टी के आयोजकों के खिलाफ क्यों नहीं की कोई कार्रवाई ◾बॉम्बे HC से समीर वानखेड़े को मिली बड़ी राहत, गिरफ्तारी से तीन दिन पहले पुलिस को देना होगा नोटिस◾समीर की पूर्व पत्नी के पिता का सनसनीखेज खुलासा- मुस्लिम था वानखेड़े परिवार, रखते थे 'रमजान के रोजे'◾कैप्टन के पार्टी बनाने के ऐलान ने बढ़ाई कांग्रेस की मुश्किलें, टूट के खतरे के कारण CM चन्नी ने की राहुल से मुलाकात ◾अखिलेश का भाजपा पर हमला: यूपी चुनाव में 'खदेड़ा' तो होगा ही, उप्र से कमल का सफाया भी होगा ◾दूसरे राज्यों में बढ़ रहे कोरोना के केस से योगी की बड़ी चिंता, CM ने सावधानी बरतने के दिए निर्देश ◾भारत के लिए प्राथमिकता रही है आसियान की एकता, कोरोना काल में आपसी संबंध हुए और मजबूत : PM मोदी◾वानखेड़े की पत्नी ने CM ठाकरे को चिट्ठी लिखकर लगाई गुहार, कहा-मराठी लड़की को दिलाए न्याय ◾सड़क हादसे में 3 महिला किसान की मौत पर बोले राहुल गांधी- देश की अन्नदाता को कुचला गया◾नीट 2021 रिजल्ट का रास्ता SC ने किया साफ, कहा- '16 लाख छात्रों के नतीजे को नहीं रोक सकते'◾देश में कोरोना के मामलों में उतार-चढ़ाव का दौर जारी, पिछले 24 घंटे के दौरान संक्रमण के 16156 केस की पुष्टि ◾प्रियंका का तीखा हमला- किसान विरोधी योगी सरकार की नीति और नीयत में खोट, कानों पर जूं तक नहीं रेंगता ◾

गुपकार गठबंधन ने ED द्वारा महबूबा मुफ्ती की मां को तलब किए जाने की निंदा की

पीएजीडी (Gupkar Manifesto Alliance) ने बुधवार को पीडीपी (People Democratic Party) की अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती (Mehbooba Mufti) की मां को प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) द्वारा तलब किए जाने की निंदा की। प्रवर्तन निदेशालय ने मंगलवार को महबूबा की मां गुलशन नाजिर को नोटिस भेजकर श्रीनगर में एजेंसी के कार्यालय में धन शोधन के एक मामले में 14 जुलाई को पेश होने को कहा था। पीएजीडी प्रवक्ता एम वाई तारिगामी ने एक बयान में कहा, ‘‘ पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की विधवा को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा तलब किया जाना घोर असम्मानजनक है और इस कार्रवाई की निंदा करने के लिए पर्याप्त शब्द नहीं हैं।’’ गठबंधन ने कहा कि गुलशन नाजिर बुजुर्ग हैं और कमजोर हैं तथा उन्हें तलब करना सरकार की दबाव डालने की तिकड़म के अलावा और कुछ नहीं है। तारिगामी ने कहा, ‘‘ हद तो यह है कि पीडीपी द्वारा परिसीमन आयोग के सदस्यों से मिलने से इनकार करने के कुछ घंटे बाद समन जारी किया गया। राजनीतिक विरोधियों के ख़िलाफ़ जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर असहमति की आवाज को दबाना स्वीकार्य नहीं है।’’