BREAKING NEWS

कांग्रेस ने झारखंड चुनाव के लिए उम्मीदवारों की आखिरी सूची जारी की◾शेख हसीना के साथ बैठक सौहार्दपूर्ण रही : ममता ◾राजनाथ ने डीआरडीओ और घरेलू रक्षा उद्योगों के बीच सामंजस्य बनाने की अपील की ◾चुनावी बॉन्ड पर सरकार के पास जवाब नहीं : प्रियंका गांधी वाड्रा◾ कांग्रेस नेता अहमद पटेल बोले- बैठक अभी अधूरी है, कल हम फिर करेंगे बैठक ◾BHU में प्रो. फिरोज खान नियुक्ति विवाद पर छात्रों का धरना समाप्त,विरोध जारी◾राज्यसभा में उठा जेएनयू में फीस बढ़ोतरी का मुद्दा ◾TOP 20 NEWS 22 NOV : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾कांग्रेस, NCP और शिवसेना गठबंधन पर बोले गडकरी- वे महाराष्ट्र को एक स्थिर सरकार नहीं दे पाएंगे◾मुंबई में शिवसेना ने मारी बाजी, किशोरी पेडनेकर बीएमसी की नई मेयर चुनीं गईं◾प्रकाश जावड़ेकर बोले- बीजिंग से कम समय में दिल्ली में प्रदूषण से निपट लेंगे◾CM केजरीवाल का बड़ा ऐलान, बोले-पानी और सीवर के नए कनेक्शन पर देने होंगे 2,310 रुपये ◾NCP ने ली भाजपा की चुटकी, कहा- 'शरद पवार ने राजनीति के चाणक्य को दी मात'◾महाराष्ट्र : सरकार गठन को लेकर मुंबई में शाम 4 बजे होगी शिवसेना, NCP और कांग्रेस की बैठक◾संसद परिसर में कांग्रेस ने 'Electoral Bond' के खिलाफ किया प्रदर्शन◾गठबंधन पर संजय निरुपम तंज, कहा- 'तीन तिगाड़े काम बिगाड़े' वाली सरकार चलेगी कब तक?◾महाराष्ट्र में 5 साल के लिए शिवसेना का ही होगा मुख्यमंत्री : संजय राउत◾इजराइल के PM बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी और विश्वासघात मामले में आरोप तय◾सत्यपाल मलिक बोले- अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर में केवट-शबरी की भी हों मूर्तियां, ट्रस्ट को लिखूंगा चिट्ठी◾झारखंड चुनाव: भाजपा के 'बागी' सरयू राय के बहाने नीतीश ने 'तीर' से साधे कई निशाने◾

जम्मू-कश्मीर

भारतीय वायुसेना के कर्मियों की हत्या के 30 साल पुराने मामले में अब होगी सुनवाई

 yasin malik

जम्मू : कश्मीर में करीब 30 साल पहले हुई भारतीय वायुसेना के चार कर्मियों की हत्या के मामले की सुनवाई अब अगले सप्ताह से शुरू हो सकती है क्योंकि एक विशेष अदालत ने इस मुदकमे के संबंध में जेकेएलएफ के प्रमुख और मुख्य आरोपी यासिन मलिक के खिलाफ पेशी वारंटी जारी कर दिया है। 

मलिक के अलावा तीन अन्य लोगों के खिलाफ भी वारंट जारी हुआ है। मलिक फिलहाल आतंकवाद को वित्त पोषण के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद न्यायिक हिरासत में हैं। 

अधिकारियों ने बताया कि मलिक को संभवत: वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश किया जाएगा और इस संबंध में जरुरी अनुमति ली जा रही है। 

श्रीनगर के बाहरी इलाके में 25 जनवरी, 1990 को भारतीय वायुसेना के अधिकारियों की हत्या के अलावा 1989 में तत्कालीन केन्द्रीय गृह मंत्री मुफ्ती मोहम्मद सइद की बेटी के अपहरण का भी आरोप मलिक पर है। 

इस मामले में जम्मू की टाडा अदालत में सीबीआई ने अगस्त 1990 में मलिक के खिलाफ दो आरोपपत्र दायर किए थे। लेकिन 1995 में जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय की एकल पीठ ने यह कहते हुए मलिक के खिलाफ सुनवाई पर रोक लगा दी कि श्रीनगर में कोई टाडा अदालत नहीं है।

 

अब करीब 30 साल बाद एजेंसी को मलिक के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुति मिल गयी है।