BREAKING NEWS

Adani Group case: कांग्रेस के तीन राज्यसभा सदस्यों ने दिया कार्यस्थगन नोटिस ◾पश्चिम बंगाल : भाजपा को लगे एक के बाद एक झटके, पंचायत चुनाव से पहले छठा विधायक TMC में शामिल◾हिमाचल प्रदेश में हिमस्खलन की चपेट में आने से दो लोगों की मौत, एक लापता◾6 बेटियों का बाप बना दूल्हा... 65 साल के युवक ने 41 साल छोटी लड़की के साथ की शादी◾उत्तर प्रदेश : ट्रक से टकराई एसयूवी, तीन की मौत अन्य घायल ◾उत्तर प्रदेश : सगाई समरोह में हुई फायरिंग से एक युवक की मौत, अन्य व्यक्ति घायल ◾सुप्रीम कोर्ट को मिलेंगे आज पांच नए जज, CJI दिलाएंगे शपथ◾बिहार : मुखिया ने युवकों को बंधक बनाकर पीटा, एक की मौत दो जख़्मी होने पर आगजनी तथा तोड़फोड़ का माहौल ◾आज का राशिफल (06 फरवरी 2023)◾श्रीलंका के राष्ट्रपति विक्रमसिंघे के साथ मुरलीधरन 13 वें संशोधन पर चर्चा की ◾केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा- 'ग्लोबल वार्मिंग, जलवायु परिवर्तन से निपटने एकजुट हों जी-20 सदस्य देश'◾सुशील मोदी ने नीतीश पर कसा तंज- इनके समय था रेलवे का ‘पैसेंजर ट्रेन काल‘, अब विकास बुलेट गति से होगा ◾ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक की मुश्किलें बढ़ी ◾आम आदमी पार्टी ने की वित्तमंत्री की आलोचना, करोड़ो का कर चुकाने के बावजूद दिल्ली को मिला मात्र 325 करोड़◾CM योगी आदित्यनाथ ने कहा- सरकारी योजनाएं महज वोटबैंक के लिए नहीं होतीं◾UP Politics: केशव प्रसाद मौर्य का ये बयान यूपी की राजनीति में मचा सकता है हलचल◾समाधान यात्रा के दौरान लोगों से नहीं मिले नीतीश कुमार, गुस्साए लोगों ने की आगजनी। ◾भारत-ब्रिटेन सुरक्षा संवाद में शामिल होकर ऋषि सुनक ने दिया ‘विशेष संकेत’◾GL ने बेबुनियादी आधार पर 244 प्रधानाचार्यों की नियुक्ति रोकी : सिसोदिया◾भारत सरकार ने चीन को फिर दिया झटका, एक साथ ब्लॉक किए 232 मोबाइल ऐप्स ◾

J&K : जम्मू-कश्मीर पुलिस का खुलासा, युवाओं को हिंसा के लिए भड़का रहे मौलवी

जम्मू-कश्मीर में अब पहले के मुकाबले शांति है। लेकिन इस शांति और अमन के दुश्मन अभी भी अपने काम पर लगे हुए हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने रविवार को बताया कि, हाल ही में कड़े सार्वजनिक सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत धार्मिक मौलवियों के खिलाफ चेतावनी के बावजूद युवाओं को हिंसा के लिए उकसाया जा रहा है। कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विजय कुमार ने कहा कि, कई मौलवियों पर पीएसए के तहत मामला दर्ज किया गया है। कई बार चेतावनी देने के बावजूद ये युवाओं को भड़का रहे हैं।

बारामूला में एक क्रिकेट टूर्नामेंट से अलग पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि, इन लोगों को कई बार चेतावनी दी थी, लेकिन वह नहीं माने। उन्होंने कहा, ऐसी खबरें हैं कि कुछ अन्य मौलवी भी ऐसा ही कर रहे हैं। जल्द ही सबूत मिलने के बाद उन पर भी मामला दर्ज किया जाएगा।

विजय कुमार ने कहा कि इस तरह के खतरे को रोकने के लिए उनके पास अन्य कानूनी विकल्प हैं। इनमें से कुछ मौलवियों को संवेदनशील बनाया जा रहा है और उन्हें घर जाने दिया जा रहा है और जब कोई मौलवी युवाओं को हिंसा के लिए उकसाने का काम करता है तो पीएसए अंतिम विकल्प है।

पुलिस अधिकारी ने कहा, कानून-व्यवस्था बनाए रखना केवल पुलिस का ही कर्तव्य नहीं है, बल्कि लोग भी शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कुछ सालों में स्थिति शांत रही, जबकि पर्यटकों ने भी अच्छी संख्या में घाटी का दौरा किया और इंटरनेट सेवाएं भी बंद नहीं हुईं। शांतिपूर्ण स्थिति से सभी को फायदा होता है और यह पिछले कुछ वर्षों में साबित हुआ है।

दरअसल, पिछले कुछ दिनों में, कश्मीर घाटी में कई धार्मिक मौलवियों को गिरफ्तार किया गया और उनमें से कुछ पर पीएसए के तहत मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने इन मौलवियों पर युवाओं को भड़काने के मामले में कार्रवाई की। हालांकि, पुलिस ने कई बार इन्हें चेतावनी भी दी लेकिन ये नहीं माने।