BREAKING NEWS

ममता ने नागरिकता कानून को लेकर बंगाल में तोड़फोड़ करने वालों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी ◾भाजपा ने आज तक जो भी वादे किए है वह पूरे भी किए गए हैं - राजनाथ◾असम में हालात काबू में, 85 लोगों को गिरफ्तार किया गया : असम DGP◾पीएम मोदी के सामने मंत्री देंगे प्रजेंटेशन, हो सकता है कैबिनेट विस्तार◾मध्यम आय वर्ग वाला देश बनना चाहते हैं हम : राष्ट्रपति ◾कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रैली में पकौड़े बेच सत्ताधारियों का मजाक उड़ाया ◾भाजपा ने किया कांग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन : किसानों के प्रति असंवेदनशील होने का लगाया आरोप ◾कांग्रेस जवाब दे कि न्यायालय में उसने भगवान राम के अस्तित्व पर क्यों सवाल उठाए : ईरानी◾दिल्ली के रामलीला मैदान में 22 दिसंबर को रैली कर दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार शुरू करेंगे PM मोदी ◾जामिया के छात्रों ने आंदोलन फिलहाल वापस लिया◾सीएए के खिलाफ जनहित याचिका दायर की, एआईएमआईएम हरसंभव तरीके से कानून के खिलाफ लडे़गी : औवेसी◾गंगा बैराज की सीढियों पर अचानक फिसले प्रधानमंत्री मोदी ◾संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ पूर्वोत्तर, बंगाल में प्रदर्शन जारी◾PM मोदी ने कानपुर में वायुसेना कर्मियों के साथ की बातचीत ◾कानपुर : नमामि गंगे की बैठक के बाद PM मोदी ने नाव पर बैठकर गंगा की सफाई का लिया जायजा ◾राहुल गांधी के लिए ‘राहुल जिन्ना’ अधिक उपयुक्त नाम : भाजपा ◾TOP 20 NEWS 14 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾उत्तर प्रदेश : फतेहपुर में दोहराया गया 'उन्नाव कांड', बलात्कार के बाद पीड़िता को जिंदा जलाया ◾साबित हो गया कि मोदी ने झूठे वादे किए थे : मनमोहन सिंह◾जम्मू-कश्मीर : फारुक अब्दुल्ला की हिरासत अवधि 3 महीने और बढ़ी◾

जम्मू-कश्मीर

जम्मू-कश्मीर प्रशासन बृहस्पतिवार को तीन नेताओं को करेगा रिहा

 kashmir force security

जम्मू-कश्मीर प्रशासन राज्य का विशेष दर्जा पांच अगस्त को समाप्त किए जाने के बाद से हिरासत में लिये गये तीन नेताओं को बृहस्पतिवार को रिहा करेगा। अधिकारियों ने बुधवार रात यह जानकारी दी। 

उन्होंने बताया कि यावर मीर, नूर मोहम्मद और शोएब लोन को एक शपथ पत्र पर हस्ताक्षर करने समेत विभिन्न आधार पर रिहा किया जाएगा। 

मीर पीडीपी के राफियाबाद विधानसभा सीट से पूर्व विधायक रह चुके हैं, जबकि लोन ने कांग्रेस के टिकट से उत्तर कश्मीर से चुनाव लड़ा था जिसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। उन्होंने बाद में कांग्रेस छोड़ दी थी। उन्हें पीपुल्स कांफ्रेंस प्रमुख सज्जाद लोन का करीबी माना जाता है। 

नूर मोहम्मद नेशनल कांफ्रेंस के कार्यकर्ता हैं। अधिकारियों ने बताया कि रिहा किए जाने से पहले नूर मोहम्मद एक शपथ पत्र पर हस्ताक्षर कर शांति बनाए रखने एवं अच्छे व्यवहार का वादा करेंगे। 

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को समाप्त करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के केंद्र सरकार के पांच अगस्त के फैसले के बाद नेताओं, अलगाववादियों, कार्यकर्ताओं और वकीलों समेत हजार से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया था।