BREAKING NEWS

कल्याण और विकास के उद्देश्यों के बीच तालमेल बिठाने पर व्यापक बातचीत हो: उपराष्ट्रपति◾वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हआ निधन, दिल्ली के अपोलो अस्पताल में थे भर्ती◾ MSP और केस वापसी पर SKM ने लगाई इन पांच नामों पर मुहर, 7 को फिर होगी बैठक◾ IND vs NZ: एजाज के ऐतिहासिक प्रदर्शन पर भारी पड़े भारतीय गेंदबाज, न्यूजीलैंड की पारी 62 रन पर सिमटी◾भारत में 'Omicron' का तीसरा मामला, साउथ अफ्रीका से जामनगर लौटा शख्स संक्रमित ◾‘बूस्टर’ खुराक की बजाय वैक्सीन की दोनों डोज देने पर अधिक ध्यान देने की जरूरत, विशेषज्ञों ने दी राय◾देहरादून पहुंचे PM मोदी ने कई विकास योजनाओं का किया शिलान्यास व लोकार्पण, बोले- पिछली सरकारों के घोटालों की कर रहे भरपाई ◾ मुंबई टेस्ट IND vs NZ - एजाज पटेल ने 10 विकेट लेकर रचा इतिहास, भारत के पहली पारी में 325 रन ◾'कांग्रेस को दूर रखकर कोई फ्रंट नहीं बन सकता', गठबंधन पर संजय राउत का बड़ा बयान◾अमित शाह बोले- PAK में सर्जिकल स्ट्राइक कर भारत ने स्पष्ट किया कि हमारी सीमा में घुसना आसान नहीं◾केंद्र ने अमेठी में पांच लाख AK-203 असॉल्ट राइफल के निर्माण की मंजूरी दी, सैनिकों की युद्ध की क्षमता बढ़ेगी ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे के दौरान 8 हजार से अधिक नए केस, 415 लोगों की मौत◾चक्रवाती तूफान 'जवाद' की दस्तक, स्कूल-कॉलेज बंद, पुरी में बारिश और हवा का दौर जारी◾विश्वभर में कोरोना के आंकड़े 26.49 करोड़ के पार, मरने वालों की संख्या 52.4 लाख से हुई अधिक ◾आजाद ने सेना ऑपरेशन के दौरान होने वाली सिविलिन किलिंग को बताया 'सांप-सीढ़ी' जैसी स्थिति◾SKM की बैठक से पहले राकेश टिकैत ने कहा- उम्मीद है कि आज की मीटिंग में कोई समाधान निकलना चाहिए◾राष्ट्रपति ने किया ट्वीट, देश की रक्षा सहित कोविड से निपटने में भी नौसेना ने निभाई अहम भूमिका◾तेजी से फैल रहा है ओमिक्रॉन, डब्ल्यूएचओ ने कहा- वेरिएंट पर अंकुश लगाने के लिए लॉकडाउन अंतिम उपाय◾सिंघु बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की आज होगी अहम बैठक, आंदोलन की आगे की रणनीति होगी तय◾ओमीक्रोन का असर कम रहने का अंदाजा, वैज्ञानिक मार्गदर्शन पर होगा बूस्टर देने का फैसला◾

जम्मू-कश्मीर: श्रीनगर में आतंकियों से मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने मार गिराया एक दहशतगर्द

श्रीनगर में हैदरपोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी को मार गिराया। अभी भी मुठभेड़ जारी है। पूरे इलाके को सुरक्षाबलों ने खाली करवा दिया है। सोमवार शाम को आतंकियों की मौजूदगी की सूचना के बाद इलाके में सुरक्षाबल पहुंचे थे। जब इलाके में सुरक्षाबलों ने चेकिंग शुरू की तो आतंकियों ने उन पर हमला कर दिया। इस बीच जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी मारा गया है। उसके पहचान नहीं हो पाई है।  

उधर राज्य में टारगेट किलिंग की घटनाओं को देखते हुए सुरक्षा एजेंसियों ने रणनीति में बदलाव भी किया है। जम्मू कश्मीर में छुपे पाकिस्तानी आतंकियों के सफाए के लिए सुरक्षा एजेंसियों ने एक लिस्ट तैयार की है। इस लिस्ट में कश्मीर में मौजूद 38 पाकिस्तानी आतंकी के नाम मौजूद हैं। इसमें 27 लश्कर के और 11 जैश ए मोहम्मद के आतंकी हैं। इसमें से 4 आतंकी श्रीनगर में 3 कुलगाम,10 पुलवामा और 10 बारामुला और 11 आतंकी कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में मासूमों का खून बहाने के लिए छिपे हैं

बीएसएफ को दी गई रणनीति को सफल बनाने की जिम्मेदारी

अब आतंक के खिलाफ इस बदली हुई रणनीति को सफल बनाने की जिम्मेदारी बीएसएफ को दी गई है। 14 साल बाद आतंक के सफाए के लिए बीएसएफ को फिर मैदान में उतारा गया है। अब कश्मीर घाटी में आतंकियों का कब्र में दफ्न होना तय है.अब कश्मीर में आतंरिक सुरक्षा और आतंक विरोधी अभियान में फिर से बीएसएफ को शामिल किया गया है। पहले चरण में बीएसएफ की दो दर्जन कंपनियों को कश्मीर में तैनात किया जा रहा है।

बीएसएफ की हर कंपनी में सामान्य तौर पर 90 से 100 अधिकारी और जवान होते हैं। बीएसएफ को श्रीनगर, पुलवामा, शोपियां, अनंतनाग, गांदरबल, कुलगाम और बारामुला में तैनात किया जा रहा है। जम्मू-कश्मीर में बीएसएफ की तैनाती इसलिए अहम है क्योंकि आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई का  बीएसएफ का रिकॉर्ड बेहद शानदार रहा है और बीएसएफ को कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन का पुराना अनुभव भी है।

30 सितंबर 2021 तक 117 आतंकी ढेर

इस साल 1 जनवरी 2021 से लेकर 30 सितंबर 2021 तक जम्मू-कश्मीर में 117 आतंकियो को मुठभेड़ में मार गिराया गया। इस दौरान 254 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया। आंतकवादियों से 105 AK-47, 126 पिस्टल और 276 हैंड ग्रेनेड बरामद किया गया। अक्टूबर के महीने में भी सुरक्षाबलों ने 20 आतंकियों को मार गिराया है।सेना और सुरक्षाबलों के एक्शन से कश्मीर की निगेहबानी कर रहे जांबाज जवान साफ कर चुके हैं कि घाटी से एक-एक आतंकी का नामोनिशान खत्म होगा। देश भी यही चाहता है और इसीलिए कश्मीर में सेना जहां दहशतगर्दों पर बारूद बरसा रही है। वहीं आतंक की तबाही के लिए फूल-प्रूफ प्लान तैयार हो चुका है।