BREAKING NEWS

राष्ट्रपति चुनाव : शिअद व जजपा करेंगी मुर्मू का समर्थन ◾ Presidential Election 2022: द्रौपदी मुर्मू सर्वसम्मति की उम्मीदवार हो सकती थीं, CM ममता का बड़ा बयान◾ GST collection: जून में 56% उछला जीएसटी संग्रह, मार्च 2022 के बाद से लगातार चौथा महीना है जब कलेक्शन इतना अधिक◾उप्र : नोएडा में अवैध कोरियाई रेस्तरां का भंडाफोड़, भारी मात्रा में शराब बरामद, दो गिरफ्तार◾ यूक्रेन -रूस युद्ध : ओदेसा में रूस के मिसाइल हमले में 19 लोगों की मौत◾ Punjab: क्या पंजाब लोक कांग्रेस का बीजेपी में होगा विलय? कैप्टन अमरिंदर सिंह जल्द कर सकते हैं बड़ा ऐलान ◾राहुल गांधी का भाजपा पर तीखा प्रहार, बोले- देश में ‘‘गुस्से और नफरत" का बनाया माहौल◾ भारत ने पाकिस्तान से हिरासत में रखे कैदियों को रिहा करने को कहा◾ PM Modi News: प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से की फोन पर बात, जानें किन मुद्दों पर हुई चर्चा◾ राजस्थान : कन्हैयालाल के कत्ल के बाद एक्शन में गहलोत प्रशासन, भड़काऊ बयान देने वाला मौलवी गिरफ्तार ◾उपराष्ट्रपति चुनाव में भी चौंका सकती हैं भाजपा, पूर्वोत्तर से हो सकता हैं राजग का उम्मीदवार ◾Prophet Remarks Row: नूपुर शर्मा को बचा रही BJP... मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी क्यों? ओवैसी हमलवार ◾Yair Lapid: यैर लैपिड बने इजराइल के नए प्रधानमंत्री, PM मोदी ने बधाई देते हुए कहा- दोनों देश पूर्ण राजनयिक...◾नूपुर शर्मा को लेकर जो टिप्पणी की है उसको देखते हुए सत्तारूढ दल का सिर शर्म से झुकना चाहिए : कांग्रेस ◾ शिंदे के कदम से कमजोर नहीं होगी पार्टी, जहां ठाकरे-वहीं शिवसेना : संजय राउत ◾Maharashtra News: सत्ता पलटने के बाद ठाकरे का छलका दर्द! बोले- 2019 में अमित शाह मान जाते तो.... ◾जीएसटी ने कारोबारी सुगमता बढ़ाने में योगदान दियाः प्रधानमंत्री◾ वादे पर रहते तो आज BJP का होता मुख्यमंत्री, इस्तीफा देने के बाद उद्धव का शिंदे और भाजपा पर बड़ा हमला◾उदयपुर हत्याकांड : सीसीटीवी कैमरा फुटेज से हत्याकांड में हुआ बड़ा खुलासा, गला रेत बाइक से भागे थे आरोपी ◾ पैगंबर मोहम्मद टिप्पणी मामले में नूपुर शर्मा पर कोर्ट ने की कड़ी टिप्पणी ◾

जम्मू-कश्मीर : रोजा खोलने के लिये रोटी लेने गए बीएसएफ जवान पर आतंकी हमला, दो जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर में बीएसएफ के दो जवान आतंकी हमले में शहीद होने से कुछ ही मिनट पहले इफ्तार करने के लिये रोटी लेने गए थे। इस दौरान एक व्यस्त बाजार में बेकरी से गुजर रहे मोटरसाइकिल सवार आंतकवादियों ने ताबड़तोड़ गोलीबारी की, जिसमें बीएसएफ कांस्टेबल जिया-उल-हक और राणा मंडल ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। हमला बुधवार की शाम श्रीनगर के बाहरी इलाके सूरा में हुआ था। पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) ने हमले की जिम्मेदारी ली है। अधिकारियों ने कहा कि आतंकवादियों ने बेहद नजदीक से जवानों को गोलियां मारीं और भीड़भाड़ वाले इलाके की गलियों से निकलते हुए भाग गए।

उन्होंने कहा कि हक और मंडल पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद के निवासी थे, लेकिन अम्फान चक्रवात के चलते राज्य में हवाई अड्डे बंद होने की वजह से उनके पार्थिव शरीर उनके घर नहीं भेजे जा सके। हक (34) और मंडल (29) दोनों के सिर में गंभीर चोटें आई थीं। अधिकारियों ने बताया कि दोनों दोस्त सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की 37वीं बटालियन से थे और पंडाक कैंप में तैनात थे।

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों ने लश्कर के 3 आतंकियों को किया गिरफ्तार

उनका काम नजदीकी गंदेरबल जिले से श्रीनगर के बीच आवाजाही पर नजर रखना था। उन्होंने बताया कि मौत से कुछ ही मिनट पहले वे रोजा खोलने (इफ्तार) के लिये रोटी लेने गए थे। लेकिन वे इफ्तार नहीं कर सके और रोजे की हालत में ही शहीद हो गए। बीएसएफ की 37वीं बटालियन के जवानों ने कहा कि वे रोजा होने की वजह से पूरे दिन पानी की एक बूंद पिये बिना ही इस दुनिया से रुख्सत हो गए।

जवानों ने अपने साथियों की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह बहुत जल्दी हमेशा के लिये अलविदा कह गए। साल 2009 में बीएसएफ में शामिल हुए हक के परिवार में माता-पिता, पत्नी नफीसा खातून और दो बेटियां... पांच साल की मूकबधिर बेटी जेशलिन जियाउल और और छह महीने की जेनिफर जियाउल हैं। वह मुर्शिदाबाद कस्बे से लगभग 30 किलोमीटर दूर रेजिना नगर में रहते थे।

मंडल के परिवार में माता-पिता के अलावा एक बेटी और पत्नी जैस्मीन खातून है। वह मुर्शिदाबाद में साहेबरामपुर में रहते थे। दोनों जवान केन्द्र सरकार द्वारा 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेकर उसे दो केन्द्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित करने के बाद से कश्मीर में तैनात थे। वे 24 या 25 मई को आने वाला ईद का त्योहार भी नहीं मना सके।