BREAKING NEWS

आज सोनभद्र जाएंगे CM योगी, पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात ◾LIVE : निगमबोध घाट पर होगा शीला दीक्षित का अंतिम संस्कार, श्रद्धांजलि देने पहुंची सुषमा स्वराज◾शीला दीक्षित की पहले भी हो चुकी थी कई सर्जरी◾BJP को बड़ा झटका, पूर्व अध्यक्ष मांगे राम गर्ग का निधन◾पार्टी की समर्पित कार्यकर्ता और कर्तव्यनिष्ठ प्रशासक थीं शीला दीक्षित : रणदीप सुरजेवाला ◾सोनभद्र घटना : ममता ने भाजपा पर साधा निशाना ◾मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾शीला दीक्षित ने दिल्ली एवं देश के विकास में दिया योगदान : प्रियंका◾शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक◾Top 20 News 20 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शीला दीक्षित के निधन पर जताया दुख ◾दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का निधन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने जताया दुख◾दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन◾

जम्मू-कश्मीर

जम्मू : मूक बधिर बच्ची लौटी अपने माता-पिता के पास

जम्मू : जम्मू कश्मीर में पांच साल की एक मूक बधिर बच्ची अपने परिवार के पास पहुंच गई। वह यहां एक कॉलोनी के पास अकेली मिली थी। 

पुलिस ने रविवार को बताया कि नितिया शनिवार को यहां पुलिस आवासीय कॉलोनी के मुख्य द्वार के पास मिली थी। उसके माता-पिता मध्य प्रदेश के हैं और यहां चन्नी हिम्मत इलाके में किराये के मकान में रहते हैं। पुलिस ने बताया कि नितिया से जब उसके माता-पिता के बारे में पूछा गया तो वह बोल नहीं पा रही थी। इसके बाद उसे चिन्नी थाने ले जाया गया । 

अधिकारी ने बताया कि एसएचओ ने जिले की सभी पुलिस इकाई को गुमशुदा बच्ची के बारे में तत्काल सूचित किया और उसके माता-पिता का सत्यापन शुरू किया। उन्होंने बताया कि पुलिस को बाद में बच्ची के माता-पिता मिल गए और औपचारिकताएं पूरी करने के बाद बच्ची को उसके माता-पिता को सौंप दिया गया।