BREAKING NEWS

‘जनभागीदारी’ देश की आजादी के 75 वें वर्ष के उत्सव की मूल भावना, भारत के गौरव की भी हो झलक : PM मोदी◾मराठा आरक्षण पर SC का राज्यों से सवाल, क्या आरक्षण सीमा 50 फीसदी से बढ़ाई जा सकती है?◾मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिले विस्फोट मामले की जांच अब NIA करेगी◾रेप के आरोपी को पीड़िता से शादी करने के लिए नहीं कहा, गलत की गई रिपोर्टिंग : CJI◾बाटला हाउस एनकाउंटर मामले में इंडियन मुजाहिदीन आरिज खान दोषी करार, 15 मार्च को सजा सुनाएगी कोर्ट ◾बिहार विधान परिषद में गुस्से में दिखे CM नीतीश, RJD एमएलसी को कहा- 'पहले नियम जान लो' ◾Punjab Budget : 1.13 लाख किसानों का कर्ज माफ, बुजुर्गों की पेंशन 750 रुपए से बढ़ाकर 1500 महीना◾नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रावत दिल्ली तलब ◾सिंघु बॉर्डर पर फायरिंग, कार से आए 4 युवक गोली चलाकर फरार, जांच में जुटी पुलिस◾मेगन और हैरी ने शाही परिवार के साथ विवादों को लेकर खुलकर की बात, कहा- कभी आए थे सुसाइड के खयाल ◾देश में लगातार तीसरे दिन कोरोना के 18 हजार से अधिक मामलों की पुष्टि, एक्टिव केस 1 लाख 88 हजार ◾TOP 5 NEWS 08 MARCH: आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस : पीएम मोदी ने नारी शक्ति को किया सलाम, कहा- भारत को महिलाओं पर गर्व◾आज का राशिफल (08 मार्च 2021)◾बंगाल चुनाव : मोदी ने ममता को बताया धोखेबाज, बोलीं- झूठे हैं मोदी ◾उत्तराखंड : भाजपा कोर ग्रुप की अचानक हुई बैठक से प्रदेश में बढ़ी सियासी सरगर्मी ◾हरियाणा ने आपूर्ति घटाई, दिल्ली में जलसंकट का खतरा ◾तेजप्रताप की बहन की रिंग सेरीमनी में एक हुआ यादव परिवार ◾कम हो सकती है संसद सत्र की अवधि ◾PM मोदी भारत और बांग्लादेश के बीच बने ‘मैत्री सेतु’ का मंगलवार को करेंगे उद्घाटन ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना वायरस के कारण कश्मीरी नेता चाहते हैं सभी बंदियों की रिहाई

जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी (जेकेएपी) के अध्यक्ष अल्ताफ बुखारी ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की रिहाई का स्वागत किया और मांग की कि कोरोना वायरस (कोविड-19) प्रकोप को देखते हुए पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती सहित अन्य सभी राजनीतिक बंदियों को भी जल्द से जल्द रिहा किया जाए।

बुखारी ने जारी एक बयान में उमर अब्दुल्ला के खिलाफ पीएसए के निरस्तीकरण को एक महत्वपूर्ण कदम करार दिया। उन्होंने मांग की कि वर्तमान में जम्मू-कश्मीर की जेलों के भीतर और बाहर हिरासत में लिए गए सैकड़ों अन्य राजनीतिक कार्यकर्ताओं को कोरोनावायरस महामारी के मद्देनजर मुक्त किया जाए। बुखारी ने बताया कि "यह हमारी लगातार मांग रही है कि पूर्व मुख्यमंत्रियों सहित सभी राजनीतिक कार्यकतार्ओंऔर नेताओं को रिहा किया जाए।"

कोरोना वायरस : CM केजरीवाल बोले - विनिर्माण मजदूरों को 5,000 रुपये देगी दिल्ली सरकार

अपनी पार्टी नेता ने कहा कि कोविड-19 संकट के कारण तो अब ये रिहाई और भी महत्वपूर्ण हो गई है। जम्मू-कश्मीर के विभिन्न राजनीतिक नेताओं को तत्काल रिहाकर उनके मूल निवास में भेज देना चाहिए। बुखारी ने यह भी कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए सभी उपाय कर रही है और दूसरी तरफ ऐसा लगता है कि राजनीतिक बंदियों और उनके परिवारों की दुर्दशा को नजरअंदाज किया जा रहा है।"

उन्होंने कहा कि जो लोग 5 अगस्त, 2019 के बाद हिरासत में लिए गए हैं, वो अपने कई ऐसे परिवार हैं जो 5 अगस्त, 2019 के बाद हिरासत में लिए गए अपने प्रियजनों से मिलने की स्थिति में नहीं हैं। सरकार को सभी राजनीतिक बंदियों को तुरंत रिहा करना चाहिए।