BREAKING NEWS

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के करीबी पूर्व ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या◾भाजपा बंगाल में सांप्रदायिक जहर फैलाकर जीती : ममता◾मतदाताओं और कार्यकर्ता का धन्यवाद करने वायनाड जायेंगे राहुल◾केरल के तटों पर हाई अलर्ट, ISIS के 15 आतंकवादी भारत में घुसने की फिराक में - खुफिया रिपोर्ट◾ममता के इस्तीफे की पेशकश को बीजेपी ने बताया 'नाटक' ◾सोनिया गांधी ने जीत के लिए अपने संसदीय क्षेत्र की जनता एवँ सपा-बसपा के कार्यकर्ताओं का आभार किया व्यक्त◾राज्य के विशेष दर्जा को बरकरार रखने के लिए एनसी लड़ेगी लड़ाई : फारूक अब्दुल्ला◾2019 के जनादेश ने लोकतंत्र को परिवारवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण के नासूरों से निकाला : शाह◾जनता का आभार जताने सोमवार को वाराणसी जाएंगे मोदी◾नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति से मिलकर सरकार बनाने का दावा किया पेश ◾संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद PM मोदी बोले- नये भारत के निर्माण के लिए हम अब नयी यात्रा शुरू करेंगे◾सूरत अग्निकांड : कोचिंग सेंटर का संचालक गिरफ्तार, बिल्डर फरार ◾जेट एयरवेज के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल, पत्नी को विदेश जाने से रोका◾TOP 20 News : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾ममता बनर्जी की मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे की पेशकश, पार्टी ने खारिज की ◾नरेंद्र मोदी भाजपा और राजग संसदीय दल के नेता चुने गए◾मुस्लिम परिवार ने नवजात का नाम रखा नरेन्द्र दामोदर दास मोदी ◾चुनाव आयोग ने लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों की सूची राष्ट्रपति को सौंपी◾राहुल ने की इस्तीफे की पेशकश, कार्य समिति ने इसे ठुकराया : सुरजेवाला ◾कांग्रेस कार्य समिति की बैठक खत्म, राहुल ने की इस्तीफे की पेशकश◾

जम्मू-कश्मीर

माता-पिता की भावुक अपील के बाद आतंकवाद की राह छोड़कर घर लौटा कश्मीरी छात्र

माता-पिता की भावुक अपील के बाद नोएडा के एक विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा जम्मू कश्मीर का छात्र एहतेशाम बिलाल रविवार दोपहर को घर लौट आया। उसके प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ जम्मू कश्मीर (आईएसजेके) में शामिल होने की खबरें आई थीं।

जम्मू कश्मीर पुलिस ने किसी का नाम लिए बगैर एक ट्वीट कर कहा, ‘‘परिवार और पुलिस की मदद से एक व्यक्ति मुख्यधारा में लौट आया। विस्तृत जानकारी का इंतजार करें।’’

श्रीनगर के खानयार का रहने वाला 20 वर्षीय एहतेशाम सोशल नेटवर्किंग साइट पर काली पगड़ी और काला पठानी सूट पहने दिखाई दिया था। उसके सीने पर विस्फोटक बंधे थे तथा पीछे इस्लामिक स्टेट का झंडा दिखाई दे रहा था। वह अक्टूबर के मध्य में नोएडा में विश्वविद्यालय से लापता हो गया था।

करतारपुर की तरह नियंत्रण रेखा, अंतरराष्ट्रीय सीमा के रास्ते खोले भारत, पाक : फारूक

उसके लापता होने की खबर से परिवार हैरान हो गया था और उन्होंने उसे लौटने के लिए राजी करने के वास्ते हर दरवाजा खटखटाया। पुलिस ने उनके बेटे की वापसी के लिए हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया।

हाथ जोड़े हुए परिवार के सदस्यों की तस्वीरें स्थानीय अखबारों में प्रकाशित हुई जिसमें एहतेशाम से ‘‘कम से कम अपने माता-पिता के शव को कंधा’’ देने के लिए घर लौटने की अपील की गई जिसके बाद युवक अपने घर लौट आया।

उसके माता-पिता ने आतंकवादी संगठन से उनके बेटे को भेजने की भावुक अपील की थी। उन्होंने कहा था कि, ‘‘वह पूरे सोफी कबीले में उनका इकलौता बेटा है और उसे अपने परिवार के पास लौटने दिया जाए।’’ एहतेशाम नोएडा के शारदा विश्वविद्यालय में बीटेक का छात्र था। उसके पिता बिलाल सोफी के हवाले से कहा गया, ‘‘मेरे बेटे, तुम कहते थे कि जन्नत अम्मी-अब्बू के पैरों में है, इसलिए आ जाओ और फिर से हमारे साथ रहो।’’

इन अपीलों और पिछले दरवाजे से बातचीत के आखिरकार सकारात्मक नतीजे निकले और वह दोपहर को अपने घर लौट आया। इसके तुरंत बाद पुलिस की एक टीम उसे चिकित्सा जांच के लिए एक अज्ञात स्थान पर ले गई। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने उन दावों को खारिज कर दिया कि एहतेशाम को हिरासत में लिया गया है।

अधिकारी ने कहा, ‘‘हम भी इंसान हैं। हम युवक के माता-पिता के साथ हैं। उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं है और उसे केवल चिकित्सीय जांच के लिए ले जाया गया है। परिवार के सदस्य उसके साथ हैं।’’