BREAKING NEWS

दिल्ली : 24 घंटे में कोरोना से 35 लोगों की मौत, 1606 नए मामले◾राजस्थान में सियासी घमासान के बीच पायलट ने कहा-राम राम सा! तो विश्वेंद्र व मीणा ने पूछा क्या गलती की?◾राजस्थान: सियासी उठापटक के बीच कल सुबह दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे सचिन पायलट ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 2.67 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 6,741 नए केस◾कानपुर शूटआउट : गिरफ्तार शशिकांत पांडेय का खुलासा, विकास के कहने पर ही हुई 8 पुलिसकर्मियों की हत्या◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में कोरोना के 50 फीसदी मामले महाराष्ट्र और तमिलनाडु से◾बिहार में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 16 से 31 जुलाई तक लगाया गया लॉकडाउन ◾राज्यपाल से मुलाकात के बाद बोले गहलोत- कुछ लोग 'आ बैल मुझे मार' रवैये के साथ कर रहे थे काम◾सचिन पायलट की अध्यक्ष पद से बर्खास्ती के बाद गोविंद सिंह डोटासरा को सौंपा गया कार्यभार◾कांग्रेस के एक्शन के बाद सचिन पायलट ने किया ट्वीट- सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं ◾पूर्वी लद्दाख विवाद : भारत और चीन ने पैंगोग झील, देपसांग से सैनिकों को हटाने पर की वार्ता ◾कांग्रेस का सचिन पायलट पर बड़ा एक्शन, प्रदेश अध्यक्ष पद और उपमुख्यमंत्री के पद से किया बर्खास्त◾राजस्थान के मौजूदा संकट के लिए उमा भारती ने कांग्रेस और राहुल को बताया जिम्मेदार◾केजरीवाल ने प्लाज्मा बैंक का किया उद्धाटन, बोले- दिल्ली में कोरोना पीड़ित जरूरतमंदों को प्लाज्मा मिला ◾CBSE 10वीं का रिजल्ट कल होगा जारी, HRD मंत्री पोखरियाल ने की घोषणा ◾अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर पर चीन के दावे को किया खारिज, कही ये बात◾पायलट का गहलोत के खिलाफ बगावती सुर बरकरार, मनाने में जुटा कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व◾कानपुर मुठभेड़ : एक और आरोपी शशिकांत गिरफ्तार, पुलिस को विकास दुबे के घर पर मिली AK-47◾भगवान राम को नेपाली बताने वाले बयान पर भड़के सिंघवी, बोले-ओली का बिगड़ गया है मानसिक संतुलन◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 9 लाख के पार, अब तक 24 हजार के करीब लोगों ने गंवाई जान ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोविड 19 : कश्मीर के सभी जिलों में पाबंदियां लागू, लद्दाख में कोरोना वायरस के 2 मामले , पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर भी लगी रोक

श्रीनगर :  घाटी में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सभी जिलों में लगाई गई पाबंदियों के कारण कश्मीर में शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन एक तरह से बंद की स्थिति रही। कश्मीर में संक्रमण के एक मामले की पुष्टि हुई है।

इस बीच, जम्मू कश्मीर में अधिकारियों ने कोरोना वायरस के कारण शैक्षणिक संस्थानों में 31 मार्च तक अकादमिक कार्य निलंबित किए जाने पर सभी शिक्षकों को अगले आदेश तक घरों में रहने के शुक्रवार को निर्देश दिए। 

शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव असगर सामून ने एक आदेश जारी कर कहा कि कक्षाएं निलंबित होने के कारण स्कूलों में किसी शिक्षक को आने की आवश्यकता नहीं है।’’ 

हालांकि, हेडमास्टर, जोनल शिक्षा अधिकारी, मुख्य शिक्षा अधिकारी और केंद्र प्रायोजित योजनाओं में शामिल इंजीनियरों को काम पर आने लेकिन सामाजिक दूरी बनाए रखने की सलाह दी गई है। 

अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एहतियातन तौर पर घाटी के सभी जिलों में लोगों की आवाजाही और उनके एकत्रित होने पर पाबंदियां लगाई गई। 

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों को तैनात किया गया और श्रीनगर तथा अन्य स्थानों पाबंदियों को लागू करने तथा लोगों की आवाजाही पर लगाम लगाने के लिए कांटेदार तार समेत बैरिकेड लगाए गए।

 उन्होंने बताया कि केवल सरकारी और आवश्यक सेवाओं के कर्मचारियों को वैध पहचान पत्र, मीडियाकर्मियों और आपात सेवाओं को ही आवाजाही की अनुमति है। 

अधिकारियो ने बताया कि पुलिस ने सुबह पाबंदियों की घोषणा करने के लिए लाउडस्पीकरों से लैस वाहनों का इस्तेमाल किया और लोगों से घरों में रहने तथा सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए कहा। 

उन्होंने बताया कि घाटी के ज्यादातर हिस्सों में शुक्रवार को दुकानें, पेट्रोल पम्प और अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे जबकि सार्वजनिक यातायात भी निलंबित कर दिया गया। 

अधिकारियों ने बनिहाल-श्रीनगर-बारामुला मार्ग पर ट्रेन सेवाएं निलंबित कर दी। ऐसी खबरें थी कि ट्रेनों में बहुत ज्यादा भीड़ है जिससे यात्रियों की जांच करना मुश्किल हो गया है। 

कश्मीर में शैक्षणिक संस्थान पहले ही बंद हैं जबकि जिमखानों, पार्कों, क्लबों और रेस्तरां समेत सभी सार्वजनिक स्थान बंद कर दिए गए हैं। 

शहर के खानयार इलाके में सऊदी अरब से उमरा करने के बाद 16 मार्च को लौटी 67 वर्षीय महिला के कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद यह कदम उठाए गए। 

संक्रमित महिला को लौटने पर पृथक न रखने के कारण अधिकारियों को उसके आवास के 300 मीटर के दायरे में आने वाले इलाकों को सील करना पड़ा। 

महिला से संपर्क रखने वाले उसके कई रिश्तेदारों को जांच कराने की सलाह दी गई जबकि मरीज के सीधे संपर्क में न आने वाले लोगों को दो हफ्तों के लिए खुद को पृथक रखने के लिए कहा गया। 

श्रीनगर जिले में विषाणु को फैलने से रोकने के लिए प्रशासन ने घर-घर जाकर निरीक्षण करने और संक्रमित महिला के आसपास के इलाके के नमूने एकत्रित करने के लिए बृहस्पतिवार को 21 चिकित्सा दलों का गठन किया। 

श्रीनगर के महापौर जुनैद अजीम मट्टू ने शुक्रवार को कहा कि संक्रमित महिला जहां-जहां गई थी उस जगह को संक्रमण से मुक्त करने के लिए 60 सदस्यों के साथ 12 दस्तों को काम में लगाया गया है। 

मट्टू ने कहा कि मस्जिदों, सार्वजनिक स्थलों, बाजारों, गलियों और सभी संवेदनशील स्थानों को संक्रमण मुक्त करने के लिए शहर भर में श्रीनगर नगर निगम की टीमें तैनात रहेंगी। उन्होंने लोगों को शुक्रवार की नमाज इकट्ठा होकर पढ़ने से बचने की सलाह दी है। 

लद्दाख में कोरोना वायरस के दो मामले, संक्रमितों की संख्या 10 हुई 

लद्दाख में शुक्रवार को कोरोनावायरस संक्रमण के दो और जांचें पॉजिटिव पाई गईं। इस तरह से केंद्र शासित प्रदेश में नोवेल कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या 10 हो गई है। 

लद्दाख मामलों के सचिव/आयुक्त रिगजिन सम्फेल ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में दो लोग और कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं, इस तरह से क्षेत्र में संक्रमित लोगों की संख्या 10 हो गई है। 

गौरतलब है कि इन दोनों मरीजों का कोई विदेश यात्रा का रिकॉर्ड नहीं है। लद्दाख में 10 संक्रमित रोगियों में से एक सेना का जवान है। 

जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या चार है। इसमें एक घाटी से है और तीन जम्मू क्षेत्र से हैं। 

यहां आज व बीते रोज बांग्लादेश से पहुंचे 90 से ज्यादा छात्रों को श्रीनगर सिटी में विभिन्न अस्थायी सुविधाओं में आइसोलेशन में रखा गया है। 

जम्मू में पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर रोक, एसआरटीसी बसें चलती रहेंगी 

जम्मू एवं कश्मीर प्रशासन ने शुक्रवार को जम्मू जिले में सभी तरह के पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बंद करने का फैसला किया है। एसआरटीसी बसों को हालांकि पाबंदी से दूर रखा गया है। 

सरकारी आदेश में कहा गया है कि एसआरटीसी बसें सरकारी कर्मचारियों को दफ्तरों तक ले जाने और वहां से वापस लाने के लिए निर्धारित रूटों पर चलती रहेंगी। 

जम्मू के डिविजनल कमिश्नर संजीव वर्मा ने बताया कि ऑटोरिक्शा, टैक्सी इत्यादि सिर्फ तीन सवारियां लेकर चल सकेंगी। इससे अधिक सवारी लेकर चलने पर पाबंदी है। वर्मा ने बताया कि मेडिकल शॉप्स, ग्रॉसरी दुकानें और स्टेशनरी दुकानें खुली रहेंगी।