BREAKING NEWS

पेट्रोल के दाम में वृद्धि पर आज लगा ब्रेक, डीजल के भाव भी स्थिर◾पूर्वोत्तर और बिहार में बाढ़ से 70 लाख लोग प्रभावित, अब तक 44 की मौत◾अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री से मुलाकात की ◾ओवैसी बोले- डराइए मत, शाह बोले- अगर डर जेहन में है तो क्या करें ◾मोदी ने असम के मुख्यमंत्री से फोन पर बात की, बाढ़ का हाल पूछा ◾Top 20 News -15 July : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾विश्वास मत के दौरान अनुपस्थित रह सकते है कर्नाटक के बागी विधायक ◾ बिहार में बाढ़ का कहर जारी, 55 प्रखंड के 18 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित ◾उदयपुर में बढ़ा तनाव : उग्र भीड़ ने दो रोडवेज बसें फूंकी, पुलिसकर्मियों पर किया पथराव◾लोकसभा में NIA संशोधन विधेयक 2019 को मिली मंजूरी◾सिद्धू के इस्तीफे पर बोले कैप्टन - यदि वह अपना काम नहीं करना चाहते, तो मैं कुछ नहीं कर सकता◾NIA कानून का इस्तेमाल शुद्ध रूप से आतंकवाद को खत्म करने के लिए ही करेंगे : अमित शाह ◾हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल नियुक्त हुए कलराज मिश्रा, आचार्य देवव्रत को भेजा गया गुजरात ◾ओवैसी को शाह की नसीहत, बोले - सुनने की भी आदत डालिए साहब, इस तरह से नहीं चलेगा◾बीजेपी ने CM कुमारस्वामी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग की ◾सूरत रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की आसाराम की जमानत याचिका◾इलाहाबाद हाई कोर्ट से अगवा हुए युवक-युवती फतेहपुर से बरामद, अपहरणकर्ता गिरफ्तार ◾इलाहाबाद HC का आदेश, BJP विधायक की बेटी साक्षी और अजितेश को मिलेगी सुरक्षा◾बागी कर्नाटक विधायकों ने फिर लिखा पुलिस को पत्र, कहा- कांग्रेसी नेताओं से खतरा ◾हिमाचल प्रदेश के सोलन में इमारत ढही , 6 जवान समेत सात लोगों की मौत◾

जम्मू-कश्मीर

लोन कश्मीर में आतंकवाद के लिए जिम्मेदार : फारुक

नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला ने रविवार को कहा कि पीपुल्स कांफ्रेंस (पीसी) के संस्थापक अब्दुल गनी लोन कश्मीर में आतंकवाद के लिए जिम्मेदार हैं।

श्री लोन पीसी अध्सक्ष सजाद गनी लोन के पिता हैं। श्री सजाद गनी लोन ने गत सप्ताह भारतीय जनता पार्टी के समर्थन से सरकार के गठन का दावा पेश किया था। इसबीच राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबबूबा मुफ्ती की ओर से सरकार के गठन के दावा पेश करने के चंद घंटे के भीतर ही विधान सभा को भंग कर दिया।

डॉ़. अब्दुल्ला ने बारामुला में संवाददाताओं से कहा,‘‘वर्ष 1984 में जब तत्कालीन राज्यपाल जगमोहन ने उन्हें (श्री अब्दुल्ला को) मुख्यमंत्री पद से बर्खास्त किया तब श्री लोन मेरे पास आए और कहा कि वह (श्री लोन) सीमा पार जा रहे हैं तथा वहां से बंदूकें लायेंगे। ‘‘ उन्होंने कहा कि यदि वह श्री लोन के बारे में सारी बातें सार्वजनिक कर दें तो उनके पुत्र सजाद लोन को जवाब देते नहीं बनेगा।

करतारपुर की तरह नियंत्रण रेखा, अंतरराष्ट्रीय सीमा के रास्ते खोले भारत, पाक : फारूक

आरोपों के खुलासों पर जोर देने पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह सजाद को सबकुछ बता देंगे लेकिन तब उसे जवाब भी देना होगा।

डॉ. अब्दुल्ला ने कहा कि कश्मीर मसले का केवल एक जवाब है वह है स्वायत्तता का। यह पूछे जाने पर कि इस संबंध में केंद, सरकार ने वर्ष 2006 में एनसी के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था तो उन्होंने कहा कि वे इसे देने से इंकार नहीं कर सकते तथा जम्मू-कश्मीर के लोगों को स्वायत्तता प्रदान करनी होगी।

करतरपुर कॉरिडोर जैसी भावना जम्मू-कश्मीर में भी दोहराने की केन्द्र सरकार और पाकिस्तान सरकार से अनुरोध करते हुए उन्होंने कहा कि दोनों पड़सी देशों की सरकारों के बीच पारंपरिक मार्ग खोल देना चाहिए।

उन्होंने कहा,‘‘मैं भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के बीच पारंपरिक मार्ग खोलने का आग्रह करता हूं। यह पहल न केवल सीमा के दोनों पारों पर आर्थिक गतिविधियों को बढ़वा देने में मदद करेगी, बल्कि दोनों पड़सी देशों के बीच दोस्ती की लौ को फिर से जगाने में भी मदद करेगी।’’