BREAKING NEWS

उत्तराखंड : PM मोदी ने फोन पर CM धामी से की बात , हरसंभव सहायता का दिया आश्वासन ◾UK : बारिश भूस्खलन से 34 की मौत, सैकड़ो पर्यटक और श्रद्धालुओं का रेस्क्यू◾अपनी पार्टी बनाएंगे, BJP के साथ सीटों के बंटवारे के लिए बातचीत को तैयार : अमरिंदर सिंह◾कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नई राजनीतिक पार्टी बनाने का किया ऐलान◾बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमला : भाजपा नेता दिलीप घोष हसीना पर नरम, ममता पर गरम◾केंद्र को भाजपा में सही सोचने वाले लोगों की सुननी चाहिए: किसान नेताओं ने कहा◾भारत-पाक टी-20 को लेकर 'AAP' ने की मांग, कहा- कश्मीर में नागरिकों की हत्या को देखते हुए रद्द हो मैच ◾लखीमपुर हिंसा मामले में SIT का नया पैंतरा, छह तस्वीरें जारी कर कहा- पहचान बताने वाले को देंगे इनाम◾पाकिस्तान सेना का दावा- भारत की पनडुब्बी को अपने समुद्री क्षेत्र में घुसने से रोका! जारी की वीडियो फुटेज ◾सिंघु बॉर्डर हत्याकांड: कृषि मंत्री की वायरल फोटो पर मचा बवाल, तोमर के साथ दिखे निहंग अमनदीप सिंह◾बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमले दोनों देशों के रिश्तों को कमजोर करने की साजिश: CM बिप्लब देब◾बांग्लादेश की PM शेख हसीना ने गृह मंत्री से कहा-हिंसा भड़काने वालों के खिलाफ जल्द करे कार्रवाई◾घोषणाओं के बजाय प्रतिज्ञा को तरजीह देगी कांग्रेस, UP की राजनीति महत्वपूर्ण मोड़ पर खड़ी : सुप्रिया श्रीनेत ◾प्रियंका के महिलाओं को टिकट देने के ऐलान को मायावती ने बताया कांग्रेस की कोरी चुनावी नाटकबाजी◾बंगाल उपचुनाव : BJP उम्मीदवार के साथ धक्का-मुक्की, कहा- प्रचार से रोकने के TMC ने की ऐसी हरकत◾पाकिस्तान की उम्मीदें एक बार फिर होंगी तार-तार! FATF की ग्रे सूची में बने रहने की संभावना◾चुनाव प्रचार के दौरान मछली मारते नजर आए तेजस्वी, RJD ने CM नीतीश पर कसा तंज ◾हिंदी ना आने पर भिड़े कस्टमर और जोमैटो का कर्मचारी, विवाद बढ़ने पर कंपनी को मांगनी पड़ी माफी ◾उत्तराखंड में भारी बारिश से मची तबाही, मरने वालों की संख्या 11 हुई, कई लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका◾कश्मीर में बढ़ रही हिंसा पर बोले राहुल गांधी-मोदी सरकार सुरक्षा देने में पूरी तरह से नाकाम साबित हुई◾

महबूबा मुफ्ती ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- वोट लेने के लिए पाकिस्तान का करती है इस्तेमाल

पीडीपी (People's Democratic Party) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने भाजपा पर तालिबान, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के मुद्दों पर वोट हासिल करने के लिए राजनीति करने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा भाजपा का सात साल का शासन देश के लोगों के लिए दुख लाया है और इसने जम्मू कश्मीर को ‘बर्बाद’ कर दिया है।

मुफ्ती ने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकाल में हिंदू नहीं बल्कि लोकतंत्र और भारत खतरे में हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा, कांग्रेस के पिछले 70 वर्षों के सभी ‘‘अच्छे काम’’ को बर्बाद करने पर तुली है और उसने राष्ट्रीय संसाधनों को बेचना शुरू कर दिया है।

केंद्र में सत्तारूढ़ दल ने विपक्षी दलों के विधायकों को ‘‘खरीदने या डराने’’ के लिए अपना खजाना भरने के वास्ते आवश्यक वस्तुओं की कीमतें बढ़ाना शुरू कर दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने आलोचकों पर कटाक्ष किया और कहा कि तालिबान का उल्लेख करने भर से किसी को ‘‘राष्ट्र-विरोधी’’ करार दिया जाता है और बहस तथा चर्चाएं शुरू हो जाती हैं जबकि किसानों के आंदोलन, महंगाई और सार्वजनिक महत्व के अन्य मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए।

पीडीपी की युवा इकाई द्वारा आयोजित रैली को संबोधित करते हुए मुफ्ती ने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर संकट में है और यही हाल देश का है…वे कहते हैं कि हिंदू खतरे में हैं लेकिन वे खतरे में नहीं हैं। असल में उनकी (भाजपा की) वजह से भारत और लोकतंत्र खतरे में हैं।’’

महबूबा मुफ्ती पुंछ और राजौरी जिलों के पांच दिवसीय दौरे के बाद शनिवार देर रात जम्मू पहुंचीं। जम्मू में पीडीपी अध्यक्ष को राष्ट्रीय बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ा। शहर में डोगरा चौक के पास मुफ्ती के काफिले को रोकने के प्रयास को पुलिस ने नाकाम कर दिया।

पीडीपी प्रमुख ने कहा कि जैसे-जैसे विभिन्न राज्यों में चुनाव नजदीक आएंगे, भाजपा तालिबान और अफगानिस्तान का नाम लेना शुरू कर देगी और अगर यह काम नहीं करेगी तो वे पाकिस्तान और ड्रोन को सामने लाएंगे। मुफ्ती ने कहा, ‘‘वे चीन के बारे में बात नहीं करेंगे जिसने लद्दाख में घुसपैठ की है क्योंकि उन्हें उस देश के बारे में बात करने से वोट नहीं मिलता है।

अगर आप लोगों को डराना चाहते हैं तो तालिबान, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बारे में बात करना होगा और कुछ ऐसा करना होगा जिससे कि वोट मिले।’’ उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों का जिक्र करते हुए मुफ्ती ने आरोप लगाया कि भाजपा के मौजूदा मुख्यमंत्री रोजगार प्रदान करने, सड़क और स्कूल की व्यवस्था करने में विफल रहे, जबकि गंगा नदी जिसे देश के लोगों द्वारा पवित्र माना जाता है, उसमें शव बहते नजर आए क्योंकि लोगों के पास अपने रिश्तेदारों का अंतिम संस्कार करने के लिए पैसे नहीं हैं।