श्रीनगर : नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के नेता उमर अब्दुल्ला ने शुक्रवार को कहा कि वह यह देखना चाहेंगे कि भाजपा से जुड़े लोग उन खबरों पर कैसे सफाई देंगे कि राफेल सौदे पर अपनाई गई पीएमओ की प्रक्रिया का रक्षा मंत्रालय ने विरोध किया था। उन्होंने एक दस्तावेज टैग किया जो कथित तौर पर रक्षा मंत्रालय का था जो ‘द हिंदू’ अखबार की एक खबर के हिस्से के तौर पर प्रकाशित किया गया है।

लेख के मुताबिक फ्रांस सरकार के साथ बातचीत में प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के दखल पर मंत्रालय ने कड़ी आपत्ति जताई थी। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं यह देखना चाहता हूं कि भाजपा से संबद्ध लोग इस पर क्या सफाई देंगे। रक्षा मंत्री तक पहुंची मंत्रालय की फाइल के इस नोट के मुताबिक पीएमओ इंडिया, ‘ने रक्षा मंत्रालय एवं भारत की वार्ता टीम के पक्ष को कमजोर किया’।” नेकां राजग की सहयोगी थी जब अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे लेकिन 2009 में उसने संप्रग-दो से हाथ मिला लिया था।

भाजपा को हार के लिए मोदी को जिम्मेदार ठहराना चाहिए : उमर अब्दुल्ला

जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने बुधवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को मुख्य राज्यों में पार्टी की चुनावी हार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराना चाहिए। नेशनल कांफ्रेंस नेता ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में उनकी पार्टी की सफलता के लिए बधाई दी, जहां उन्होंने भाजपा को सत्ता से बेदखल किया है।

अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा, ‘इन चुनावों में शानदार जीत के लिए कांग्रेस और विशेष रूप से उनके नेता राहुल गांधी को बधाई। उन्होंने सभी असफलताओं के लिए जिम्मेदारी ली थी और अब वह इस जीत के श्रेय के हकदार हैं। मतगणना के दिन जश्न मनाने के लिए कुछ होना अच्छा है।’ उन्होंने कहा कि भाजपा को इस हार के लिए मोदी को जिम्मेदार ठहराने से बचना नहीं चाहिए। उन्होंने कहा, ‘और भाजपा में मेरे दोस्तों के लिए, आप चुनाव में हार के लिए राहुल गांधी को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते।’