जम्मू-कश्मीर विधान परिषद के पूर्व सदस्य तथा पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के वरिष्ठ नेता रहे विक्रमादित्य सिंह गुरुवार को कांग्रेस में शामिल हो गये। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने यहाँ पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में श्री विक्रमादित्य के कांग्रेस में शामिल होने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गाँधी से मुलाकात के बाद श्री सिंह ने पार्टी में शामिल होने का निर्णय लिया है।

श्री आजाद ने उम्मीद जतायी कि श्री सिंह के पार्टी में शामिल होने से जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस की स्थिति मजबूत होगी और पार्टी के लिए उनकी भूमिका महत्वपूर्ण साबित होगी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ। कर्ण सिंह के पुत्र विक्रमादित्य सिंह कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन तथा अंतरराष्ट्रीय संबंध विषय में पढ़ई पूरी करने के बाद जम्मू-कश्मीर तथा हिमाचल प्रदेश में पर्यटन व्यवसाय को मजबूत करने के काम में जुट गये।

इसमें उन्होंने अहम भूमिका निभाई। वर्ष 2014 में वह जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के कहने पर पीडीपी में शामिल हुये और 2015 में विधान परिषद के सदस्य बने। पिछले वर्ष अक्टूबर में तत्कालीन मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के साथ मतभेद होने के कारण उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी।