BREAKING NEWS

आज का राशिफल (01 अक्टूबर 2020)◾हाथरस दुष्कर्म मामले पर विजयवर्गीय बोले - ‘‘UP में कभी भी पलट सकती है कार’’ ◾हाथरस गैंगरेप मामला : लड़की के साथ जो हैवानियत हुई, वो हमारे समाज पर कलंक - सोनिया◾KKR vs RR ( IPL 2020 ) : केकेआर की ‘युवा ब्रिगेड’ ने दिलाई रॉयल्स पर शाही जीत, राजस्थान को 37 रन से हराया◾पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा - दोनों देशों ने छठे दौर की वार्ता के नतीजों का सकारात्मक मूल्यांकन किया◾बंगाल BJP के वरिष्ठ नेता 1 अक्टूबर को करेंगे अमित शाह से मुलाकात◾सोमनाथ ट्रस्ट की बैठक में शामिल हुए PM मोदी◾बाबरी विध्वंस फैसले पर जमीयत का सवाल- जब मस्जिद तोड़ी गई तो फिर सब निर्दोष कैसे, क्या यह न्याय है?◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खोलने की अनुमति ◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खोलने की अनुमति ◾बाबरी विध्वंस मामला : सीबीआई कानूनी विभाग से विमर्श के बाद करेगी फैसले को चुनौती देने का निर्णय ◾मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मस्थान परिसर से नहीं हटेगी शाही ईदगाह, अदालत में खारिज हुई याचिका◾हाथरस बलात्कार कांड: CM योगी ने युवती के पिता से की बात , 25 लाख रुपए, घर और नौकरी का भी ऐलान◾आईपीएल-13 RR vs KKR : राजस्थान ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का किया फैसला ◾हाथरस घटना : सीएम योगी पर बरसी प्रियंका गांधी, पूछा - कैसे मुख्यमंत्री हैं आप, इतनी अमानवीयता◾दिल्लीवासियों के लिए राहत : कोरोना के मद्देनजर पानी के बिल पर 25 से लेकर 100 फीसदी तक की छूट ◾हाथरस घटना को लेकर संजय राउत ने दागा सवाल - क्या न्याय सिर्फ अभिनेत्री के लिए मांगा जाता है ?◾भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में सीमा गतिरोध पर एक और दौर की वार्ता हुई ◾जेपी नड्डा ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए फडणवीस को किया चुनाव प्रभारी नियुक्त ◾बाबरी विध्वंस पर अदालत के फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती देगा मुस्लिम पक्ष : जफरयाब जिलानी ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कश्मीर में इंटरनेट बंद रहने से लोग हो रहे है परेशान

अनुच्छेद 370 को रद्द किए जाने और जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के बाद पांच अगस्त से ही घाटी में इंटरनेट बंद है, जिसके चलते आम लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा नहीं है कि पहले कश्मीर में इंटरनेट को बंद नहीं किया गया। मुठभेड़, विरोध प्रदर्शन और संभावित आंतकी हमलों के चलते ऐसा कई बार किया गया है, लेकिन वर्तमान में लगे प्रतिबंध से स्थानीय व्यापारियों को घाटी के बाहर व्यापार करने में दिक्कतें आ रही हैं। 

इंटरनेट बंद रहने से आने वाली परेशानियों से बचने के लिए श्रीनगर स्थित एक ट्रैवल एजेंसी ने अपने कार्यालयों और कर्मचारियों को पिछले महीने जम्मू स्थानांतरित किया। एजेंसी के मालिक ने कहा, "हमारे पास कोई रास्ता नहीं था। हमारा पूरा व्यापार ही इंटरनेट पर निर्भर करता है। कश्मीर से बाहर व्यापार संभालना नामुमकिन हो गया था।" जम्मू-कश्मीर सूचना विभाग के मीडिया सेंटर से अपनी खबरें अपने कार्यालय भेज रहे कश्मीर के पत्रकार इंटरनेट ब्लैकआउट से निराश महसूस कर रहे हैं। सरकार द्वारा लगाए गए इस प्रतिबंध के संबध में उन्होंने याचिकाएं दाखिल की थी, लेकिन उनका भी कोई असर नहीं हुआ। 

इंटरनेट बंद होने के 100 दिन पूरे होने पर पिछले हफ्ते पत्रकारों ने कश्मीर प्रेस क्लब पर विरोध प्रदर्शन किया था। श्रीनगर के एक स्थानीय पत्रकार आकाश हसन ने कहा, "पत्रकार कश्मीर में असाधारण परिस्थितियों में काम कर रहे हैं, इंटरनेट मिलना हमारा मूल अधिकार है।" श्रीनगर में एक स्टॉक ब्रोकर और कर सलाहकार ने कामकाज चलाने के लिए पिछले दो महीनों से दिल्ली में एक कर्मचारी को तैनात किया है। उसने कहा, "इससे अधिक खर्च बढ़ता है, लेकिन इसके सिवाए कोई उपाय भी नहीं है।" फिलहाल इंटरनेट से प्रतिबंध हटने के कोई लक्षण दिखाई नहीं दे रहे हैं। इसलिए सुविधा को पुन: सुचारू करने की मांग तेज हो रही है। 

दिल्ली : महाराष्ट्र में शिवसेना संग गठबंधन पर सीडब्ल्यूसी ने लगाई मुहर