BREAKING NEWS

ED ने चिदंबरम के खिलाफ जांच का दायरा बढ़ाया ◾LIVE : सीबीआई ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार, CBI मुख्यालय में हो रही पूछताछ !◾वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान ने मिग 21 उड़ाना किया शुरू◾मैं कानून से छिप नहीं रहा था, आशा है कि एजेंसियां कानून का सम्मान करेंगी : चिदंबरम◾राजनीतिक प्रतिशोध के तहत हो रही है कार्रवाई : कार्ती चिदंबरम ◾चिदंबरम पर उसी मामले में लटक रही है तलवार जिसमें उनके बेटे को जाना पड़ा था जेल◾चिदंबरम ईमानदार हैं तो भाग क्यों रहे हैं : श्रीकांत◾पी चिदंबरम मामले पर बोले अखिलेश : सरकार से लड़ना है तो कागज की लड़ाई जीतनी पड़ेगी ◾Modi सरकार की कंपनियों को बड़ी राहत, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी इसकी जानकारी !◾अनुच्छेद 370 हटने से पाक अधिकृत कश्मीर लेना आसान नहीं : अखिलेश◾प्रियंका ने PM मोदी पर साधा निशाना , कहा - सरकार के दावों की पोल खोल रहे हैं औद्योगिक संस्थाओं के विज्ञापन◾TOP 20 NEWS 21 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾INX मीडिया मामले में चिदंबरम की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾SC में अयोध्या मामले की सुनवाई, हिंदू पक्ष के वकील ने रामलला को बताया नाबालिग◾सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की याचिका पर तत्काल सुनवाई से किया इनकार ◾PM मोदी ने जाम्बिया के राष्ट्रपति से की बातचीत, खनन और कारोबारी सहयोग पर दिया जोर ◾राहुल का केंद्र पर वार, कहा-चिदंबरम के चरित्रहनन के लिए एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही मोदी सरकार◾चिदंबरम के बचाव में प्रियंका, बोली-केंद्र की असफलताओं को उजागर करने की भुगत रहे है सजा◾उत्तर प्रदेश : योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, 23 मंत्रियो ने ली शपथ ◾कश्मीर मामले पर ट्रंप ने फिर की मध्यस्थता की पेशकश, कहा- PM मोदी से करूंगा बात◾

जम्मू-कश्मीर

चेनाब घाटी में नागरिकों को हथियार देने की योजना के ‘गंभीर परिणाम’ होंगे : महबूबा

श्रीनगर : संवेदनशील चेनाब घाटी में नागरिकों को हथियार उपलब्ध कराने की केंद्र और जम्मू कश्मीर प्रशासन की कथित योजना को “खतरनाक” करार देते हुए पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को चेतावनी दी कि इस कदम के “खौफनाक नतीजे” होंगे। 

उन्होंने कहा कि 1990 के दशक में आतंकवाद रोधी अभियान के तहत नागरिकों को सशस्त्र बनाने के ऐसे ही प्रयोगों से पूरी तरह अफरा-तफरी मच गई थी और आम लोगों को उससे मिले घाव अब भी ताजा हैं। 

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख ने एक बयान में यहां कहा, “चेनाब घाटी में ग्राम रक्षा समिति (वीडीसी) बनाने के नाम पर प्रशासन द्वारा नागरिकों को हथियार दिए जाने की कोशिशों से जुड़ी खबरें परेशान करने वाली और खतरनाक हैं, खास तौर पर ऐसे वक्त में जब युवाओं को और अलग-थलग महसूस न करने देने के लिए सरकार को समावेशी होने की जरूरत है।” 

इन समितियों का गठन 1990 के दशक के मध्य में डोडा, किश्तवाड़, रांबा, राजौरी, रियासी, कठुआ और पुंछ जिलों के सुदूरवर्ती और पहाड़ी इलाकों में रहने वाले लोगों की सुरक्षा को मजबूत करने के उद्देश्य से किया गया था।