BREAKING NEWS

सोनिया ने पार्टी सांसदों को दिया रात्रिभोज◾UP : चौथी बार बुंदेलियों ने मोदी को लिखी खून से चिट्ठी ◾पूर्वोत्तर में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ व्यापक प्रदर्शन, सामान्य जनजीवन ठप पड़ा◾लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत पर मोदी के Tweet को इस साल मिले सबसे अधिक LIKE◾नागरिकता संशोधन विधेयक देश के मुसलमानों के खिलाफ नहीं : BJP◾कांग्रेस ने एक व्यक्ति के निजी हित के लिए द्विराष्ट्र के सिद्धान्त को किया स्वीकार : गोयल◾शिवसेना सरकार ने पहले से चल रही परियोजनाओं को रोकने के अलावा कुछ नहीं किया : फडणवीस◾एकनाथ खडसे ने CM उद्धव ठाकरे से की मुलाकात, कहा- भाजपा से कोई दिक्कत नहीं ◾19 साल में मारे गए 22 हजार आतंकी, 370 हटने के बाद भी जारी है घुसपैठ◾शाह की हरी झंडी के बाद होगा कर्नाटक कैबिनेट का विस्तार : मुख्यमंत्री ◾हैदराबाद एनकाउंटर : पुलिस ने दुष्कर्म आरोपियों के एनकाउंटर की रिपोर्ट एनएचआरसी को सौंपी◾TOP 20 NEWS 10 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾उन्नाव रेप मामला : पूर्व बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर 16 दिसंबर को कोर्ट सुनाएगा फैसला◾सीएबी बिल पर उद्धव ठाकरे बोले- जब तक कुछ बातें स्पष्ट नहीं होतीं, हम नहीं करेंगे समर्थन◾दिल्ली से लेकर असम तक CAB के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन, मालीगांव में सुरक्षाबलों से भिड़े लोग◾नागरिकता विधेयक का समर्थन करना भारत की बुनियाद को नष्ट करने का प्रयास होगा : राहुल गांधी◾दिल्ली हाई कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आपराधिक मानहानि मामले की सुनवाई पर लगाई रोक◾लोकसभा में बोले शाह- J&K में हिरासत में लिए गए नेताओं को छोड़ने का निर्णय स्थानीय प्रशासन लेगा◾पीएमओ में सत्ता का केंद्रीकरण अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा नहीं : शिवसेना◾दिल्ली : किराड़ी इलाके के गोदाम में लगी आग, मौके पर पहुंची 8 दमकल की गाड़ियां◾

जम्मू-कश्मीर

चेनाब घाटी में नागरिकों को हथियार देने की योजना के ‘गंभीर परिणाम’ होंगे : महबूबा

 mehbooba mufti main

श्रीनगर : संवेदनशील चेनाब घाटी में नागरिकों को हथियार उपलब्ध कराने की केंद्र और जम्मू कश्मीर प्रशासन की कथित योजना को “खतरनाक” करार देते हुए पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को चेतावनी दी कि इस कदम के “खौफनाक नतीजे” होंगे। 

उन्होंने कहा कि 1990 के दशक में आतंकवाद रोधी अभियान के तहत नागरिकों को सशस्त्र बनाने के ऐसे ही प्रयोगों से पूरी तरह अफरा-तफरी मच गई थी और आम लोगों को उससे मिले घाव अब भी ताजा हैं। 

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख ने एक बयान में यहां कहा, “चेनाब घाटी में ग्राम रक्षा समिति (वीडीसी) बनाने के नाम पर प्रशासन द्वारा नागरिकों को हथियार दिए जाने की कोशिशों से जुड़ी खबरें परेशान करने वाली और खतरनाक हैं, खास तौर पर ऐसे वक्त में जब युवाओं को और अलग-थलग महसूस न करने देने के लिए सरकार को समावेशी होने की जरूरत है।” 

इन समितियों का गठन 1990 के दशक के मध्य में डोडा, किश्तवाड़, रांबा, राजौरी, रियासी, कठुआ और पुंछ जिलों के सुदूरवर्ती और पहाड़ी इलाकों में रहने वाले लोगों की सुरक्षा को मजबूत करने के उद्देश्य से किया गया था।