BREAKING NEWS

महाराष्ट्र : सरकार बनाने की राह में आदित्य को सीएम बनाने की मांग से बाधा ◾आतंक वित्तपोषण : प्रवर्तन निदेशालय ने सलाहुद्दीन, अन्य से जुड़ी सम्पत्तियों को कब्जे में लिया ◾श्रीलंका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति 29 नवम्बर को आयेंगे भारत की यात्रा पर : जयशंकर ◾रजनीकांत, हासन ने तमिलनाडु की भलाई के लिए हाथ मिलाने के दिए संकेत◾जम्मू कश्मीर में जल्द से जल्द राजनीतिक गतिविधियां बहाल होनी चाहिये : राम माधव ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾सोनिया ने दिल्ली के वायु प्रदूषण पर चिंता जताई ◾लोकसभा में उठा प्रदूषण का मुद्दा: पराली जलाने के बजाय वाहनों, उद्योगों को ठहराया गया जिम्मेदार . संसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर पहुंचे श्रीलंका , नये राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात◾आप' के साथ दिल्ली के 'वाटर-वार' में कूदे पासवान◾दिल्ली में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 5.0 रही तीव्रता◾TOP 20 NEWS 19 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या फैसले पर ओवैसी फिर बोले- SC का फैसला किसी भी तरह से ‘पूर्ण न्याय’ नहीं ◾भाजपा के कार्यकर्ताओं ने CM केजरीवाल के गुमशुदगी पोस्टर लगाए, किया प्रदर्शन ◾ममता बनर्जी के 'अल्पसंख्यक अतिवादी' वाले बयान पर ओवैसी ने किया पटलवार ◾JNU विवाद : जीवीएल नरसिम्हा बोले-नर्सरी में एक लाख फीस देने वालों को उच्च शिक्षा के लिए 50 हजार देने में दिक्कत क्यों◾आर्थिक मंदी को लेकर 30 नवंबर को कांग्रेस की होने वाली रैली स्थगित हुई ◾महाराष्ट्र सरकार गठन पर सोनिया के घर हुई बैठक, अहमद, एंटनी और खड़गे भी हुए शामिल◾सांसदों ने आसन के समीप आकर की नारेबाजी, लोकसभा अध्यक्ष ने दी चेतावनी◾

जम्मू-कश्मीर

ईद से पहले जम्मू-कश्मीर में हालात शांतिपूर्ण, लोगों की मदद के लिए मजिस्ट्रेट तैनात

जम्मू/श्रीनगर : कश्मीर में ईद-उल-अजहा से पहले रविवार को बैंक, एटीएम और कुछ बाजार खुले रहे और तमाम प्रतिबंधों में ढील दी गई ताकि लोगों को त्योहार की खरीदारी करने में आसानी हो। वहीं, प्रशासन ने कहा कि वह त्योहर के अवसर पर लोगों के लिए भोजन और अन्य जरूरी चीजें उपलब्ध कराने और सोमवार को मस्जिदों में नमाज के लिए पूरी व्यवस्था करने में जुटा है। 

संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को संसद द्वारा निरस्त किए जाने के बाद बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती, प्रतिबंधों और संचार संपर्क सीमित किए जाने के कारण कश्मीर घाटी में त्योहार का चहल-पहल और उल्लास नजर नहीं आ रहा है। यह अनुच्छेद जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देता था। 

अधिकारियों ने बताया कि घाटी में कहीं से भी हिंसा की सूचना नहीं है। उन्होंने बताया कि जम्मू क्षेत्र में हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। वहां पांच जिलों से निषेधाज्ञा पूरी तरह हटा ली गयी है। अन्य पांच जिलों में ईद को देखते हुए प्रतिबंधों/निषेधाज्ञा में छूट दी गयी है। 

श्रीनगर के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया कि हालात शांतिपूर्ण हैं। पाबंदियों में ढील दी गयी है और सरकारी तथा निजी वाहन सड़कों पर दिख रहे हैं। 

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि लोगों की सुविधा के लिए प्रत्येक महत्वपूर्ण स्थान पर मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गयी है। 

अधिकारियों ने बताया कि बकरीद को ध्यान में रखते हुए श्रीनगर शहर में छह मंडी/बाजार बनाए गए हैं और लोगों के लिए 2.5 लाख भेड़ें उपलब्ध करायी गयी हैं। लोगों के घरों तक सब्जियां, गैस सिलिंडर, मुर्गे-मुर्गियां और अंडे आदि पहुंचाने के लिए वाहनों का इंतजाम किया गया है। 

अनुच्छेद 370 पर पांच अगस्त को हुए फैसले के बाद से घाटी में संचार संपर्क सीमित होने की पृष्ठभूमि में जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल प्रशासन ने 300 विशेष टेलीफोन बूथ लगाने को कहा है ताकि लोग अपने प्रियजन से बातचीत कर सकें।