BREAKING NEWS

चीन ने पहली बार माना, खुलासे में बताया गलवान झड़प में मारे गए थे PLA के जवान◾मंत्रियों एवं सांसदों के वेतन, भत्ते में कटौती संबंधी विधेयकों को राज्यसभा ने मंजूरी दी ◾पीएम मोदी ने कोसी रेल महासेतु राष्ट्र को किया समर्पित, MSP को लेकर विपक्ष पर लगाया झूठ बोलने का आरोप◾राज्यसभा में कांग्रेस का वार - बिना सोचे समझे लागू किया लॉकडाउन, 'कोरोना की जगह रोजगार समाप्त'◾विरोध के बाद बैकफुट पर आई योगी सरकार, गाजियाबाद में नहीं बनेगा डिटेंशन सेंटर◾चीन सीमा गतिरोध : LAC विवाद पर आज होगी सरकार की बड़ी बैठक, सेना के अधिकारी भी होंगे शामिल◾मोदी सरकार के कृषि बिल के विरोध में पंजाब के किसान ने खाया जहर, हालत गंभीर◾ड्रग्स केस : NCB की हिरासत में आया ड्रग तस्कर राहिल, अन्य पैडलरों से हैं संबंध◾कोविड-19 : देश में पॉजिटिव मामलों की संख्या 52 लाख के पार, 10 लाख से अधिक एक्टिव केस◾कोरोना वॉरियर्स के डाटा को लेकर राहुल का वार- थाली बजाने, दिया जलाने से ज्यादा जरूरी हैं उनकी सुरक्षा◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ के पार, अब तक साढ़े 9 लाख के करीब लोगों की मौत◾राष्ट्रपति ने हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा किया स्वीकार, इन्हें सौंपा गया अतिरिक्त प्रभार ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 11 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 24,619 नए केस◾विपक्ष के भारी विरोध के बीच,लोकसभा में कृषि से जुड़े 2 अहम बिल हुए पास, वोटिंग से पहले विपक्ष ने किया वॉकआउट ◾J&K में पुलवामा जैसा हमला टला, J&K हाईवे के पास 52 किलो विस्फोट बरामद ◾राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर बरकरार, बीते 24 घंटे में 4,432 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 2.34 लाख के पार ◾यूपी में कोरोना का कहर जारी, बीते 24 घंटे में 6,318 नए केस, 81 की मौत ◾कृषि अध्यादेश के विरोध में हरसिमरत कौर ने मोदी सरकार से दिया इस्तीफा, कहा- किसानों संग खड़े होने पर गर्व◾RJD विधायक का विवादित बयान, सुशांत सिंह के राजपूत होने पर उठाए सवाल, भाजपा नाराज◾भारत की चीन को दो टूक : पूर्वी लद्दाख में सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने पर काम करना चाहिए ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कश्मीर में मध्यरात्रि से एसएमएस सेवा होगी बहाल

नए साल के उपहार रूप में कश्मीर में मंगलवार मध्यरात्रि से शार्ट मेसेज सर्विस (एसएमएस) बहाल हो जाएगी। 

जम्मू-कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने मंगलवार को यह जानकारी दी। ब्राडबैंड सेवाएं भी सरकारी स्कूलों व अस्पतालों में मंगलवार मध्यरात्रि से बहाल होंगी। 

इस कदम का कश्मीर में स्वागत किया गया है। इसके साथ ही लोगों का मानना है कि सरकार को जनता के लिए ब्राडबैंड इंटरनेट सेवाओं को भी अब बहाल करना चाहिए। 

पीएचडी की तैयारी कर रहे रियाज अहमद ने कहा, 'हम कश्मीर में एसएमएस को बहाल करने के सरकार के फैसले का स्वागत करते हैं, लेकिन यह वास्तव में मददगार होता अगर सरकार एक कदम और आगे बढ़ती और इंटरनेट को शुरू करती।'

 

एक सरकारी ठेकेदार अल्ताफ अहमद ने कहा, 'हमें अपना ई-टेंडर दाखिल करने के लिए अब सरकारी कार्यालय जाना होगा। हमारी मुश्किलें खत्म नहीं होंगी। हालांकि, हम इस कदम की सराहना करते हैं।'

 

अनुच्छेद 370 के पांच अगस्त को रद्द किए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में संचार सेवाओं पर रोक लगाई गई थी। रोक को धीरे-धीर हटाया जा रहा है, पहले लैंडलाइन बहाल की गई, जिसके बाद पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवाओं को शुरू किया गया।

 

जम्मू में ब्राडबैंड इंटनेट को बहाल कर दिया गया है, जबकि कश्मीर में इस पर अभी भी रोक रहेगी। मोबाइल इंटरनेट सेवा पर जम्मू और श्रीनगर दोनों में रोक रहेगी। यह सेवा बीते सप्ताह नवगठित केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में बहाल की गई। कश्मीर में प्रीपेड मोबाइल सेवा पर रोक जारी रहेगी।