BREAKING NEWS

बॉर्डर पर हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाक, जम्मू में देखा गया ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद लौटा वापस◾सत्येंद्र जैन बोले- बिना शर्त बात करे केंद्र, आगे की रणनीति को लेकर किसानों की बैठक जारी ◾'मन की बात' में बोले पीएम मोदी- नए कृषि कानून से किसानों को मिले नए अधिकार और अवसर◾हैदराबाद निगम चुनावों में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, 2023 के लिटमस टेस्ट की तरह साबित होंगे निगम चुनाव ◾गजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर पर डटे किसान, राकेश टिकैत का ऐलान- नहीं जाएंगे बुराड़ी ◾बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा- कृषि कानूनों पर फिर से विचार करे केंद्र सरकार◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 94 लाख के करीब, 88 लाख से अधिक लोगों ने महामारी को दी मात ◾योगी के 'हैदराबाद को भाग्यनगर बनाने' वाले बयान पर ओवैसी का वार- नाम बदला तो नस्लें होंगी तबाह ◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामले 6 करोड़ 20 लाख के पार, साढ़े 14 लाख लोगों की मौत ◾सिंधु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी, आगे की रणनीति के लिए आज फिर होगी बैठक ◾छत्तीसगढ़ में बारूदी सुरंग में विस्फोट, CRFP का अधिकारी शहीद, सात जवान घायल ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾भाजपा नेता अनुराग ठाकुर बोले- J&K के लोग मतपत्र की राजनीति में विश्वास करते हैं, गोली की राजनीति में नहीं◾आज का राशिफल ( 29 नवंबर 2020 )◾किसान आंदोलन से देश की राजधानी में फलों, सब्जियों की आपूर्ति पर असर◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे में वैक्सीन निर्माण की प्रगति का लिया जायजा◾सरकार ने कहा, किसानों से किसी भी समय बातचीत के लिए तैयार ◾भारत, श्रीलंका और मालदीव समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए ◾राज्यसभा उप चुनाव के लिये उम्मीदवार पर फैसला करने के लिये भाजपा स्वतंत्र : चिराग◾उत्तर भारत में सर्दी बढ़ी, दक्षिणी राज्यों में एक दिसंबर से भारी बारिश की आशंका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कश्मीर में मध्यरात्रि से एसएमएस सेवा होगी बहाल

नए साल के उपहार रूप में कश्मीर में मंगलवार मध्यरात्रि से शार्ट मेसेज सर्विस (एसएमएस) बहाल हो जाएगी। 

जम्मू-कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने मंगलवार को यह जानकारी दी। ब्राडबैंड सेवाएं भी सरकारी स्कूलों व अस्पतालों में मंगलवार मध्यरात्रि से बहाल होंगी। 

इस कदम का कश्मीर में स्वागत किया गया है। इसके साथ ही लोगों का मानना है कि सरकार को जनता के लिए ब्राडबैंड इंटरनेट सेवाओं को भी अब बहाल करना चाहिए। 

पीएचडी की तैयारी कर रहे रियाज अहमद ने कहा, 'हम कश्मीर में एसएमएस को बहाल करने के सरकार के फैसले का स्वागत करते हैं, लेकिन यह वास्तव में मददगार होता अगर सरकार एक कदम और आगे बढ़ती और इंटरनेट को शुरू करती।'

 

एक सरकारी ठेकेदार अल्ताफ अहमद ने कहा, 'हमें अपना ई-टेंडर दाखिल करने के लिए अब सरकारी कार्यालय जाना होगा। हमारी मुश्किलें खत्म नहीं होंगी। हालांकि, हम इस कदम की सराहना करते हैं।'

 

अनुच्छेद 370 के पांच अगस्त को रद्द किए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में संचार सेवाओं पर रोक लगाई गई थी। रोक को धीरे-धीर हटाया जा रहा है, पहले लैंडलाइन बहाल की गई, जिसके बाद पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवाओं को शुरू किया गया।

 

जम्मू में ब्राडबैंड इंटनेट को बहाल कर दिया गया है, जबकि कश्मीर में इस पर अभी भी रोक रहेगी। मोबाइल इंटरनेट सेवा पर जम्मू और श्रीनगर दोनों में रोक रहेगी। यह सेवा बीते सप्ताह नवगठित केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में बहाल की गई। कश्मीर में प्रीपेड मोबाइल सेवा पर रोक जारी रहेगी।