जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में पिछले 28 घंटे से एनकाउंटर जारी है। सीआरपीएफ कैंप पर हमले की कोशिश करने वाले आतंकवादी पास की ही इमारत में छिपे हुए हैं और कल से मुठभेड़ चल रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीआरपीएफ कैंप के नजदीक स्थित इमारत में 4 आतंकी अभी भी छिपे हुए हैं जिन्होंने एक बार फिर कैंप में हमले की कोशिश की। हालंकि समय रहते सुरक्षाबलों ने उनकी कोशिश को नाकाम करते हुए इमारत में जोरदार धमाका किया। वही दूसरी तरफ सुंजवान आर्मी कैंप से एक और जवान का शव मिला है।

सुंजवान हमले में अबतक 6 जवान शहीद हो गए हैं। करण नगर में फिलहाल ऑपरेशन जारी है और दोनों तरफ से रह-रहकर फायरिंग हो रही है। दरअसल आतंकी सीआरपीएफ की श्रीनगर के करन नगर में 23वीं बटालियन के हेडक्वार्टर पर हमले की फिराक में थे। सुबह 4.30 बजे के करीब बटालियन के गेट पर संतरी रघुनाथ ने दोनों आतंकियों को देखा था। दोनों आतंकी भागते हुए कैंप के पास बने एक मकान में जा छिपे। आतंकी जिस मकान में छिपे वो एसएमएचएस अस्पताल के पास है। सुरक्षाबलों ने इमारत के आसपास रह रहे लोगों को फौरन निकाला। तलाशी के दौरान आतंकियों ने करीब साढ़े नौ बजे फायरिंग शुरू कर दी।

अस्पताल पर ही कुछ दिनों पहले आतंकियों ने हमला किया था और अपने साथी को छुड़ा कर ले भागे थे। संतरी की मुस्तैदी ने इस हमले को नाकाम कर दिया, लेकिन एनकाउंटर के दौरान सीआरपीएफ के जवान मोजाहिद खान शहीद हो गए। बता दें कि चार दिन में सुरक्षा बलों पर ये तीसरा बड़ा हमला है। शनिवार को जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप पर आतंकियों ने हमला किया था, जिसमें पांच जवान शहीद हो गए थे।रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण सोमवार को जम्मू का दौरा कर रही हैं।

केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन जम्मू-कश्मीर में सेना के ठिकानों पर बढ़ रहे आतंकी हमलों के बीच सोमवार शाम को सुंजवां आर्मी कैंप पहुंची। उन्होंने इस कैंप का हवाई निरीक्षण किया। यहां से वह यहां आर्मी हॉस्पिटल में भी गईं, जहां वह इस हमले में घायल हुए सैनिकों से मिलीं। इसके बाद उन्होंने मीडिया को भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। पाकिस्तान को हर हाल में इसकी कीमत चुकानी होगी।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।