BREAKING NEWS

संसदीय लोकतंत्र में सक्रिय विपक्ष और उसकी भूमिका महत्वपूर्ण : PM मोदी◾डॉक्टरों की देशभर में प्रदर्शन, आज फिर हड़ताल पर रहेंगे एम्स के डॉक्टर◾वर्ल्ड कप में भारत की पाकिस्तान पर सबसे बड़ी जीत, लगा बधाईयों का तांता, अमित शाह ने बताया एक और स्ट्राइक ◾IMA की हड़ताल में शामिल होंगे दिल्ली के अस्पताल, AIIMS ने किया किनारा ◾ममता आज सचिवालय में जूनियर डॉक्टरों से करेंगी बैठक◾विश्व कप 2019 Ind vs Pak : भारत ने पाकिस्तान को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 89 रन से रौंदा◾IMA के आह्वान पर सोमवार को दिल्ली के कई अस्पतालों में नहीं होगा काम ◾सभी वर्गों को भरोसे में लेकर करेंगे सबका विकास : PM मोदी◾PM मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ कूटनीतिक और रणनीतिक रिवायत को बदला : जितेन्द्र सिंह◾प्रणव मुखर्जी से मिले नीतीश कुमार◾बिहार में AES की रोकथाम और इलाज के लिए हरसंभाव सहायता देगा केंद्र : हर्षवर्द्धन◾कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को विदेशों से मिला धन, निजी फायदे के लिए उसका किया इस्तेमाल : NIA◾Top 20 News - 16 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक राष्ट्र, एक चुनाव पर बात करने के लिए PM मोदी ने सभी दलों के प्रमुखों को किया आमंत्रित◾प्रदर्शनकारी डॉक्टरों ने कहा, CM जगह तय करें लेकिन बैठक खुले में होनी चाहिए ◾बिहार : मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों का आंकड़ा पहुंचा 93 ◾नए चेहरों के साथ संसद में आए नई सोच, तभी बनेगा नया भारत : PM मोदी◾धर्मयात्रा नहीं राजनीति करने आए है उद्धव ठाकरे : इकबाल अंसारी◾मूसा की मौत का बदला लेने के लिए फिर हो सकता है पुलवामा जैसा अटैक, J&K में हाई अलर्ट जारी◾मोदी सरकार के पास राम मंदिर पर फैसला करने की है शक्ति : उद्धव ठाकरे◾

जम्मू-कश्मीर

जम्मू कश्मीर में 2014 से बिगड़ गये हैं हालात : शिवसेना 

मुंबई : शिवसेना ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासनकाल में जम्मू कश्मीर में हालात बिगड़ गये हैं और केंद्र की भाजपा नीत सरकार ने 2014 के चुनाव में मिले बड़े जनादेश का सम्मान नहीं रखा। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में एक संपादकीय में लिखा कि मोदी अपने 56 इंच के सीने के बारे में बात करते हैं, लेकिन उनके शासनकाल में पिछली सरकारों की तुलना में सेना के अधिक जवानों ने आतंकवाद प्रभावित राज्य में खून बहाया है। उसने कहा कि 2014 में जबरदस्त बहुमत मिलने के बाद भी भाजपा ने चुनाव से पूर्व किये गये वादों को पूरा नहीं किया है और अब उसके नेता 2019 के लोकसभा चुनावों में और भी बड़ी जीत की बात कर रहे हैं।

शिवसेना ने कहा, ‘‘भाजपा नेता रामलीला मैदान में भाषण दे रहे थे और मजबूत जनादेश के साथ आगामी लोकसभा चुनाव में दूसरे कार्यकाल के लिए जद्दोजहद कर रहे थे। 2014 में मिले जनादेश का क्या हुआ? क्या ये खोखला था।’’ भाजपा की राष्ट्रीय परिषद का दो दिवसीय अधिवेशन पिछले सप्ताह नयी दिल्ली के रामलीला मैदान में हुआ जहां पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनावों की शुरूआत की। केंद्र और महाराष्ट्र में भाजपा नीत सरकारों की सहयोगी शिवसेना ने कहा, ‘‘ऐसे बयान 2014 में मिले जनादेश का अपमान हैं।’’ उसने कहा, ‘‘राम मंदिर निर्माण, भ्रष्टाचार और महंगाई से लड़ाई, रोजगार निर्माण कुछ प्रमुख बिंदु थे जिन पर 2014 के आम चुनावों का अभियान आधारित था।’’ इसमें लिखा गया, ‘‘जम्मू कश्मीर में आतंकवाद से निपटने के बड़े बड़े वादों के साथ 56 इंच को लेकर छाती पीटी गयी। लेकिन हम वहां अपने जवान खोते रहे।’’ शिवसेना ने कहा कि जम्मू कश्मीर के हालात पिछले साढ़े चार साल में और बिगड़ गये हैं।