BREAKING NEWS

आज का राशिफल ( 05 जुलाई 2022) ◾Maharashtra Politics: शिंदे ने भेजा उद्धव गुट के विधायकों को अयोग्यता नोटिस, 'बालासाहेब के सम्मान' में आदित्य ठाकरे का नाम छोड़ा◾डिजिटल प्रौद्योगिकी की सराहना करते हुए मोदी बोले- भारत ने ‘ऑनलाइन’ जाकर सभी ‘लाइन’ को खत्म किया ◾मोदी सात जुलाई को जाएंगे वाराणसी, विकास परियोजनाओं का करेंगे शिलान्यास◾ रो-कर बागियों को वापस लौटने की अपील करने वाले विधायक शिंदे गुट में शामिल◾राष्ट्रपति चुनाव : मुर्मू संकल्प ले वह निर्वाचित होने के बाद ‘रबर स्टाम्प राष्ट्रपति’ नहीं होगी - यशवंत सिन्हा ◾राष्ट्रपति चुनाव : मुर्मू संकल्प ले वह निर्वाचित होने के बाद ‘रबर स्टाम्प राष्ट्रपति’ नहीं होगी - यशवंत सिन्हा ◾दिल्ली में दरिंदों ने की हदपार! लक्ष्मीनगर इलाके में 7 साल की बच्ची के साथ किया कुर्कम, पॉस्कों एक्ट के तहत दर्ज मामला◾ PM Modi security breach : पीएम मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक, चॉपर के उड़ान भरते ही आसमान में उड़ाए गए काले गुब्बारे ◾Punjab News: मान ने पंजाब कैबिनेट का किया विस्तार, इन पांच विधायकों ने ली मंत्री पथ की शपथ ◾मीडिया का परिदृश्य पिछले कुछ सालों में बदल गया......., बोले केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ◾RCP Singh: भाजपा को बड़ा झटका! केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह BJP में नहीं हुए शामिल ◾आप आग से नहीं खेल सकते... नूपुर शर्मा को करें गिरफ्तार! CM ममता ने फिर उठाई कड़ी कार्रवाई की मांग ◾ खाली हाथ रह गया उद्धव गुट, अजीत पवार को चुना गया महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ◾ ज्ञानवापी केस : जिला अदालत में सुनवाई टली, 12 को पक्ष रखेंगे मुस्लिम अधिवक्ता ◾Punjab Board Result 2022: पंजाब में कल छात्र-छात्राओं का अहम दिन, जारी होगा 10वीं का रिजल्ट, इस लिंक पर करें चेक◾ यशवंत सिन्हा की मुर्मू से अपील उनकी ओछी मानसिकता को दर्शाती है - सीटी रवि ◾शरद के बाद कांग्रेस ने भी शिंदे सरकार को लेकर की भविष्यवाणी, कहा - लंबे समय तक नही़ टिकेगी सरकार ◾महाराष्ट्र में 'कानून का शासन' नहीं, शिवसेना बोली- BJP का स्पीकर चुनाव जीतना हैरानी की बात नहीं... ◾राम रहीम को लेकर याचिकाकर्ता पर भड़का हाईकोर्ट, कहा - ये फिल्म चल रही है क्या ◾

गृहमंत्री अमित शाह के दौरे से पहले जम्मू-कश्मीर में कड़ा पहरा, सैकड़ों बाइक जब्त, ड्रोन और स्नाइपर तैनात

जम्मू कश्मीर में आतंकवादी हिंसा की बढ़ती घटनाओं के बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज केंद्र शासित प्रदेश की तीन दिन की यात्रा पर श्रीनगर जा रहे हैं। जम्मू कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त किए जाने तथा अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने के बाद गृहमंत्री की यह पहली कश्मीर यात्रा है।

आतंकवादी हिंसा की घटनाओं से निपटने के लिए रणनीति और योजनाओं पर भी व्यापक विचार विमर्श

श्रीनगर पहुंचने के बाद वह अपराह्न साढ़े बारह बजे एकीकृत कमान की बैठक में सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करेंगे। बैठक में आतंकवादी हिंसा की घटनाओं से निपटने के लिए रणनीति और योजनाओं पर भी व्यापक विचार विमर्श किया जाएगा। बैठक में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और सुरक्षा बलों तथा पुलिस एवं अन्य संबंधित एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी भी हिस्सा लेंगे।

श्रीनगर और शारजाह के बीच अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा का शुभारंभ करेंगे

इसके बाद वह वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जम्मू कश्मीर यूथ क्लब के युवा सदस्यों के साथ बातचीत करेंगे। शाम को केंद्रीय गृहमंत्री वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से ही श्रीनगर और शारजाह के बीच अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा का शुभारंभ करेंगे।अमित शाह के दौरे से पहले श्रीनगर समेत पूरे कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गयी है। पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र बलों को अलर्ट किया गया है। श्रीनगर के विभिन्न इलाकों में तलाशी अभियान तेज कर दिया गया है।

अप्रिय घटना को टालने के लिए सुरक्षा बल हाई अलर्ट पर

सुरक्षा बलों ने दोपहिया वाहनों को जब्त करना जारी रखा है, हालांकि पुलिस का कहना है कि इसका गृह मंत्री के दौरे से कोई लेना-देना नहीं है। पिछले दो दिनों में पुलिस ने विभिन्न थानों में सैकड़ों दुपहिया वाहन जब्त किए हैं। एक सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि शाह के दौरे के दौरान किसी भी अप्रिय घटना को टालने के लिए सुरक्षा बल हाई अलर्ट पर हैं। पुलिस के मशविरे के मुताबिक  शाह के दौरे के दौरान गुप्कार रोड और बाउलेवर्ड का एक हिस्सा बंद रहेगा।

सुरक्षा बलों ने भी आतंकवाद विरोधी अभियान तेज कर दिया है

शाह प्रधानमंत्री पैकेज के तहत विभिन्न विकास परियोजनाओं के क्रियान्वयन में प्रगति की समीक्षा भी करेंगे। वह पंचायती राज प्रतिनिधियों और कश्मीर में मुख्य धारा के कुछ राजनेताओं के साथ भी बातचीत करेंगे। यह दौरा ऐसे समय में हो रहा है जब कश्मीर में लक्षित हत्या की कई घटनाओं को अंजाम दिया गया है। अक्टूबर में, लक्षित हमलों में 11 नागरिक मारे गए, जिनमें ज्यादातर प्रवासी श्रमिक और अल्पसंख्यक थे। सुरक्षा बलों ने भी आतंकवाद विरोधी अभियान तेज कर दिया है और 18 आतंकवादी मारे गए हैं। इस महीने सेना ने जम्मू-कश्मीर में अपने 10 जवानों को भी खोया है।

अमरिंदर की पाकिस्तानी मित्र अरूसा के साथ संबंधों की जांच के दिए आदेश, कैप्टन ने किया तीखा पलटवार