BREAKING NEWS

भारत के महान धावक मिल्खा सिंह की हालत गंभीर : PGIMER सूत्र◾केजरीवाल ने उपराज्यपाल बैजल से कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की कार्ययोजना पर चर्चा की◾टेस्ट से डरें नहीं, जरूर कराएं वैक्सीनेशन : योगी आदित्य नाथ ◾वैक्सीन लगवाने के बाद संक्रमित होने पर अस्पताल में भर्ती होने का जोखिम 75-80 % कम : केंद्र ◾संसदीय समिति ने Twitter को लगाई फटकारा, कहा- देश का कानून सर्वोपरि है, आपकी नीति नहीं◾देश को नए संसद भवन की ज़रूरत, दोनों सदनों द्वारा आग्रह करने के समय किसी सांसद ने नहीं किया विरोध : बिरला◾टूलकिट मुद्दा कुछ नहीं, बल्कि सरकार की नाकामियों से ध्यान भटकाने का है प्रयास : कपिल सिब्बल◾कृषि कानून नहीं होंगे रद्द, सरकार किसानों से किसी भी प्रावधान पर बात करने को तैयार : तोमर◾कोलकाता में कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ BJP कार्यालय के बाहर लगे ‘वापस जाओ’ के पोस्टर ◾4 दिनों में गौतम अडानी को लगा 12 अरब डॉलर का झटका, एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति का टैग गंवाया ◾उत्तर प्रदेश में वैक्सीन की बर्बादी में आई कमी, अभीष्ट संख्या में लोगों को लगाई जा रही वैक्सीन ◾संक्रमित मामलों में उतार-चढ़ाव जारी, दिल्ली में कोविड-19 के 165 नए मामले, 14 लोगों की मौत◾'Baba Ka Dhaba' के मालिक कांता प्रसाद ने की आत्महत्या की कोशिश, सफदरजंग अस्पताल में भर्ती◾दिल्ली हिंसा : SC ने UAPA को सीमित करने के मुद्दे पर दखल देने से किया इंकार, तीनो आरोपियों को भेजा नोटिस ◾अगर दोनों टीकों की वैक्सीन होगी अलग-अलग, तो कोविड के खिलाफ मिलेगी ज्यादा सुरक्षा ◾मुकुल रॉय की विधायकी को अयोग्य ठहराने की मांग को लेकर शुभेंदु अधिकारी ने स्पीकर को दी अर्जी◾पश्चिम बंगाल के राज्यपाल धनकड़ ने अधीर रंजन से की मुलाकात ,कांग्रेस में मची सियासी खलबली ◾ कश्मीर को लेकर पकिस्तान की भारत को धमकी, फैसला लेने से पहले सोच लो अगर कुछ किया तो.... ◾कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए PM मोदी ने शुरू किया 'क्रैश कोर्स', लाखों युवाओं को मिलेगी ट्रेनिंग◾नंदीग्राम चुनाव को लेकर कोलकाता HC में ममता की याचिका पर 24 जून तक टली सुनवाई◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

तिरंगे पर महबूबा मुफ्ती के बयान से नाखुश पीडीपी के तीन नेताओं ने पार्टी से दिया इस्तीफा, NC ने भी किया किनारा

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के तीन वरिष्ठ नेताओं ने तिरंगे को लेकर पार्टी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के बयान के विरोध में सोमवार को इस्तीफा दे दिया। महबूबा मुफ्ती को संबोधित पत्र में, जम्मू-कश्मीर के पीडीपी नेताओं--टीएस बाजवा, वेद महाजन और हुसैन वफा ने कहा कि वे उनके कुछ बयानों पर 'असहज' महसूस कर रहे हैं, जो उनकी देशभक्ति की भावनाओं को चोट पहुंचाते हैं।

ये नेता महबूबा मुफ्ती के दिवंगत पिता मुफ्ती मुहम्मद सईद के दिनों से पीडीपी के साथ थे। 14 महीने की नजरबंदी से रिहा होने के बाद शुक्रवार को अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि उनकी पार्टी भारतीय तिरंगा नहीं फहराएगी, जब तक कि उन्हें जम्मू-कश्मीर का झंडा फहराने की इजाजत नहीं दी जाती।

पिछले साल 5 अगस्त को संविधान का अनुच्छेद 370 निरस्त होने से पहले, जम्मू और कश्मीर का अलग झंडा और अलग संविधान था। वही नेशनल कॉन्फ्रेंस ने महबूबा के बयान की निंदा करते हुए किनारा कर लिया है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के सीनियर नेता देवेंद्र सिंह राणा ने कहा कि पार्टी नेताओं के लिए राष्ट्र की एकता और संप्रभुता सर्वोपरि है।

हम राष्ट्र की संप्रभुता और एकता से समझौता नहीं करेंगे। जम्मू क्षेत्र के नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता देवेंद्र राणा ने फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला के साथ बैठक में महबूबा मुफ्ती के बयान पर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला ने उन्हें आश्वस्त किया है कि गुपकार का कोई नेता ऐसा कोई बयान नहीं देगा जिससे राष्ट्र का हित प्रभावित हो।