न्यूरो सर्जन डॉ सिद्धार्थ वर्मा ने किया 83 वर्षीय बुजुर्ग का सफल ऑपरेशन

0
38

अजमेर,(कासं.): पुष्कर रोड स्थित मित्तल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेन्टर के ब्रेन एवं स्पाइन रोग विशेषज्ञ डॉ. सिद्धार्थ वर्मा ने 83 वर्षीय वृद्धा सोमती देवी के रीढ़ की हड्डी में फ्रेक्चर का बैलून काइफोप्लास्टी द्वारा सफल इलाज कर उन्हें पीड़ा से मुक्त कर दिया। सोमती देवी ऑपरेशन से पूर्व विगत दो माह से बिस्तर पर ही थीं। ऑपरेशन के बाद अगले ही दिन से वह चलने-फिरने में समर्थ हो गई।
ब्रेन व स्पाइन रोग विशेषज्ञ वर्मा ने बताया कि वृद्धा सोमती देवी को देखने के बाद उन्होंने बैलून काइफोप्लास्टी करने का निर्णय किया। डॉ.सिद्धार्थ के अनुसार यह एक मिनिमली इनवेसिव स्पाइन सर्जरी की नवीनतम तकनीक है। इस तकनीक में एक सेंटीमीटर से भी छोटे चीरे के जरिए रीढ़ की हड्डी के फ्रेक्चर वाले हिस्से को बैलून की मदद से ठीक करके उसमें बोन सीमेंट भर दी जाती है। उन्होंने बताया कि सोमती देवी के मामले में बिना किसी चीर-फाड़ के किए ऑपरेशन में करीब 45 मिनट का समय लगा। इस तकनीक का फायदा यह रहा कि मरीज अगले ही दिन से चलने-फिरने में समर्थ हो गया। ऑपरेशन के लिए मरीज को तैयार करने में एनस्थेटिस्ट डॉ.अशोक विजयवर्गीय, ओटी स्टाफ मुकेश शर्मा, हेमा व रामेश्वर का बड़ा योगदान रहा।
निदेशक डॉ दिलीप मित्तल ने बताया कि मित्तल हॉस्पिटल एडं रिसर्च सेंटर अजमेर में सभी प्रकार के एक्सीडेंट व ट्रोमा, ब्रेन हेमरेज, ब्रेन ट्यूमर, सिर व रीढ़ की हड्डी में चोट एवं कैंसर सहित लकवा, माइग्रेन, कमर व गर्दन में दर्द, सरवाइकल स्पोंडिलाइटिस, सियाटिका, सिर में पानी, कमर में गांठ आदि का विश्वसनीय एवं गुणवत्तापूर्ण उपचार संभव है।

LEAVE A REPLY