अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी के कब्जे से मिली 50 करोड़ की म्याऊं-म्याऊं

0
103

नई दिल्ली,(पंजाब केसरी): विदेश से तस्करी होकर भारत के विभिन्न शहरों में होने वाली रहिसजादों की रेव पार्टियों में इस्तेमाल होने वाली म्याऊं-म्याऊं ड्रग्स के साथ तीन तस्करों को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान अमनदीप सिंह, हरप्रीत सिंह और हरनिश सरपाल के रूप में हुई है।

आरोपियों के कब्जे से 25 किलो छह सौ 50 ग्राम म्याऊं-म्याऊं ड्रग्स जब्त की है। जिसकी अतंर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब पचास करोड़ रुपए बताई जा रही है। अमनदीप डिस्क थ्रो में अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी रह चुका है। वह भारत की तरफ से कॉमनवेल्थ गेम्स मे सिल्वर और एसएएफ गेम्स में भी ब्रॉन्ज मेडल जीत चुका है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पिछले काफी समय से स्पेशल सेल की टीम को सूचनाएं मिल रही थी कि नोटबंदी खत्म होने के बाद विदेशों से ड्रग्स की तस्करी हो रही है। जिसमें आजकल युथ की सबसे ज्यादा मनपसंद ड्रग्स म्याऊं-म्याऊं की तस्करी हो रही है। सेल की टीमें दिल्ली और दूसरे शहरों की पुलिस से संपर्क में थी।

इस बीच एक सूचना पर एसीपी अखिलेश्वर स्वरूप यादव की देखरेख में इंस्पेक्टर तिलक चंद बिष्ट और राजेश सेहरावत की टीम ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर घेराबंदी की। जब दादर-अमृतसर ट्रैन आई। तीनों को ड्रग्स के साथ पकड़ लिया गया। आरोपियों से पूछताछ करने पर पता चला कि अमनदीप शुरुआत में राजस्थान में रहने वाले किशन और हनीश उर्फ शीनू के संपर्क में आया था।

उनके संपर्क में आने के बाद अमनदीप ड्रग्स की सप्लाई करने लगा था। जिसमें उसे काफी रुपए मिलते थे। गैंग में किशन और कैलाश राजपूत है। कैलाश दुबई जबकि किशन आजकल यूके में रह रहा है। दोनों गैंग के सरगना है। दोनों वहीं से अपने विदेशी साथियों के साथ ड्रग्स खरीदकर भारत समेत दूसरे देशों में भी सप्लाई कर रहे हैं। पकड़े गए तीनों आरोपी दिल्ली में उनके एजेंट हैं।

LEAVE A REPLY