उत्तराखंड में गुरुवार को हुए पहले चरण के मतदान के अंतिम आंकड़े जारी करते हुए निर्वाचन आयोग (ईसी) ने कहा है कि राज्य में 61.50 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। चुनाव आयोग ने शुक्रवार रात को इन आंकड़ों की घोषणा की। मतदान समाप्त होने के बाद गुरुवार को जारी एक पूर्व रिपोर्ट में, आयोग द्वारा बताया गया अस्थाई मतदान आंकड़ा 57.85 प्रतिशत था। मतदाता सूची में कुल 78.56 लाख मतदाता पंजीकृत थे।

2014 के चुनाव में मतदान प्रतिशत 62.15 प्रतिशत था। राज्य की सभी पांच सीटों के अंतिम मतदान आंकड़ें में चुनाव आयोग ने कहा कि हरिद्वार में सबसे अधिक 68.92 प्रतिशत मतदान हुआ, उसके बाद नैनीताल में 68.69 प्रतिशत मतदान हुआ। टिहरी में लगभग 58.30 प्रतिशत, पौड़ी में 54.47 प्रतिशत और अल्मोड़ा में 51.82 प्रतिशत मतदान हुआ। कुल 52 उम्मीदवारों ने राज्य में अपनी किस्मत आजमाई, जहां मुकाबला मुख्य रूप से भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के कट्टर प्रतिद्वंद्वियों के बीच था।

सबसे दिलचस्प मुकाबला नैनीताल में रहा, जहां पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस महासचिव हरीश रावत को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के खिलाफ खड़ा किया गया। मौजूदा भाजपा सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह पीसीसी (प्रदेश कांग्रेस समिति) अध्यक्ष प्रीतम सिंह के खिलाफ लड़ रही थीं, भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत भाजपा सांसद बीसी खंडूरी के बेटे मनीष खंडूरी और भाजपा नेता व केंद्रीय वस्त्र राज्य मंत्री अजय टम्टा कांग्रेस के उम्मीदवार व राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा का सामना कर रहे थे।