BREAKING NEWS

14वां G-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जापान रवाना हुए PM मोदी◾पाकिस्तान समेत एशिया-प्रशांत समूह के सभी देशों ने किया भारत का समर्थन◾World Cup 2019 PAK vs NZ : पाक ने न्यूजीलैंड का रोका विजय रथ , नाकआउट की उम्मीद बढ़ायी ◾काफिले का मार्ग बाधित करने को लेकर थर्मल पावर के कर्मचारियों पर भड़के कुमारस्वामी ◾जयशंकर ने S-400 समझौते पर पोम्पिओ से कहा : भारत अपने राष्ट्रीय हितों को रखेगा सर्वोपरि◾‘जय श्रीराम’ का नारा नहीं लगाने पर ट्रेन से धकेल दिये गये 3 लोगों को ममता देंगी मुआवजा◾RAW चीफ बने 1984 बैच के IPS सामंत गोयल, अरविंद कुमार बनाए गए IB डायरेक्टर◾कांग्रेस ने राज्यसभा चुनाव में वैष्णव को BJD के समर्थन पर CM से स्पष्टीकरण मांगा ◾बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय का MLA बेटा पहुंचा जेल, अधिकारी से की थी मारपीट◾पलायन रोकने के लिए गांवों का हो विकास : गडकरी◾दुष्कर्म मामले में केरल के CPI (M) नेता के बेटे के खिलाफ जारी किया लुकआउट नोटिस◾कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्री नेपाल में फंसे, यात्रा संचालकों पर लगाया कुप्रबंधन का आरोप ◾विपक्ष त्यागे नकारात्मकता, विकास यात्रा में दे सहयोग : पीएम मोदी ◾Top 20 News - 26 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक देश एक चुनाव व्यवहारिक नहीं : कांग्रेस ◾नई ऊंचाइयों पर पहुंच रही है अमेरिका-भारत के बीच साझेदारी : माइक पोम्पियो◾दुखद और शर्मनाक है बिहार में चमकी बुखार से हुई बच्चों की मौत : PM मोदी ◾इंदौर: BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश ने नगर निगम अफसरों को बल्ले से पीटा◾कांग्रेस ने 2014 से देश की विकास यात्रा शुरू करने के दावे पर मोदी सरकार को लिया आड़े हाथ ◾SC ने राजीव सक्सेना को विदेश जाने की अनुमति देने वाले दिल्ली HC के फैसले पर लगाई रोक ◾

अन्य राज्य

जन्म के समय हाथों में लेने वाली नर्स राजम्मा से मिले राहुल गांधी, लगाया गले

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज केरल के कोड़िकोड में रोडशो किया। रोडशो से पहले राहुल गांधी रिटायर्ड नर्स राजम्मा से मिले। राहुल ने अपनी यात्रा के तीसरे दिन कोझिकोड में 72 वर्षीय सेवानिवृत्त नर्स राजम्मा से भेंट की और उनके प्रति अपना सम्मान व्यक्त किया। 

ठीक 49 साल पहले दिल्ली के एक अस्पताल में नवजात शिशु के तौर पर राहुल गांधी को अपने हाथों में उठाने वाली 72 वर्षीय सेवानिवृत्त नर्स राजम्मा ववाथिल को रविवार को जब कांग्रेस अध्यक्ष ने गले लगाया तो उन्हें अपनी आंखों पर विश्वास ही नहीं हुआ। 


राहुल के जन्म की गवाह रहीं राजम्मा के लिए अब युवा हो चुके राहुल को अपने सामने देखने के बाद अपनी खुशी को संभाल पाना बहुत मुश्किल था। केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने राजम्मा का हाथ पकड़कर उनको गले लगाया और उनके परिजनों से मुलाकात की। ये सभी लोग यहां स्थित एक अतिथि गृह में राहुल से मिलने आए थे।

राहुल ने 4.31 लाख मतों के अंतर से जिताकर खुद को संसद भेजने के लिए वायनाड के लोगों का आभार व्यक्त करने की खातिर यहां आए राहुल गांधी ने अपनी व्यस्तता के बावजूद राजम्मा के पति, नाती-पोतों सहित पूरे परिवार के लिए समय निकाला। उन्होंने राजम्मा के रिश्तेदारों और कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ फोटो भी खिंचवाई। 

इन लोगों को राहुल से मिलने के लिए बड़ी देर तक इंतजार करना पड़ा। 19 जून 1970 को जब दिल्ली के होली फैमिली अस्पताल में राहुल गांधी का जन्म हुआ था तो तब राजम्मा ने एक प्रशिक्षु नर्स के तौर पर वहां राहुल की देखभाल की थी। जब राजम्मा ने बताया कि उनके सामने राहुल का जन्म हुआ और नवजात राहुल को उन्होंने ही अपने हाथों में उठाया था तब मुस्कराते हुए राहुल उनकी बात ध्यान से सुनते रहे। 

जाने से पहले राजम्मा ने राहुल को कटहल के चिप्स और मिठाई भेंट की जो उन्होंने खुद अपने हाथ से बनाई थी। राहुल ने राजम्मा से पुन: मिलने का वादा किया। रोमांचित राजम्मा ने बाद में कहा कि इतने साल बाद राहुल से मिलकर उन्हें बहुत खुशी हुई। उन्होंने संवाददाताओं से कहा ‘‘मैं सचमुच बहुत खुश और रोमांचित हूं। मैं उन लोगों में से एक थी जिन्होंने नवजात राहुल को अपने हाथों में उठाया था। जब मैं उनसे मिली तब उन दिनों की यादें ताजा हो गईं।’’ 

राजम्मा ने कहा ‘‘मुझे लगा कि मैं उन्हें कुछ भेंट करूं। इसलिए मैंने अपने हाथ से बनाए चिप्स और मिठाइयां उन्हें भेंट कीं।’’ लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान जब राहुल की नागरिकता को लेकर विवाद उठा था तब राजम्मा ने कहा था कि 19 जून 1970 को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल के जन्म के दौरान होली फैमिली हॉस्पिटल में जो लोग ड्यूटी पर थे, उनमें वह भी शामिल थीं। 

उन्होंने यह भी कहा था कि वह उन लोगों में से हैं जिन्होंने नवजात राहुल को अपने हाथों में उठाया था। तब राजम्मा ने कहा था ‘‘मैं बहुत भाग्यशाली हूं क्योंकि मैं उन लोगों में से एक थी जिन्होंने नवजात राहुल को अपने हाथों में लिया था। वह बहुत ही प्यारे थे। मैं उनके जन्म की गवाह हूं। मैं रोमांचित थी... (तत्कालीन) प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पोते को देखकर हम सभी रोमांचित थे।’’ 

उन्होंने बताया था कि राहुल की मां सोनिया गांधी को प्रसव के लिए अस्पताल के प्रसूति कक्ष में ले जाया गया और उनके पिता राजीव गांधी और चाचा संजय गांधी प्रसूति कक्ष के बाहर इंतजार कर रहे थे। होली फैमिली अस्पताल से नर्सिंग का कोर्स करने वाली राजम्मा बाद में बतौर नर्स सेना में शामिल हो गई थीं। बाद में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर राजम्मा 1987 में केरल चली गईं और वायनाड में सुल्तान बठेरी के पास कल्लूर में रहने लगीं।