BREAKING NEWS

जम्मू-कश्‍मीर की शांति भंग करने वाले बख्‍शे नहीं जाएंगे, आतंक पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिया सख्‍त संदेश◾लखीमपुर खीरी हिंसा मामला : आशीष मिश्रा डेंगू से पीड़ित , अस्पताल में कराया गया भर्ती ◾दिवाली पर कैबिनेट सहयोगियों के साथ पूजा करेंगे CM केजरीवाल◾ कांग्रेस चाहे जिस प्रतिज्ञा का ढोंग करे, जनता उसे सत्ता से बाहर रखने का संकल्प ले चुकी है: BJP ◾चीन की आकांक्षाओं के कारण दक्षिण एशिया की स्थिरता पर ‘सर्वव्यापी खतरा’ :जनरल रावत◾हर दलित बच्चे को उत्तम शिक्षा मिलनी चाहिए, लेकिन 70 सालों में वह पूरा नहीं हुआ: CM केजरीवाल◾ पंजाब में कोई पोस्टिंग गिफ्ट और पैसे के बिना नहीं हुई: सिद्धू की पत्नी ने लगाया आरोप◾यूपी में दलितों के बाद सबसे अधिक नाइंसाफी मुसलमानों के साथ हुई, यादव और दलित से सबक लो: ओवैसी ◾आर्यन के लिए झलका दिग्विजय का दर्द, बोले- शाहरुख के बेटे हैं इसलिए प्रताड़ित किया जा रहा◾ आतंकवाद का खात्मा करने के लिए करें अंतिम वार, कश्मीरियों से बोले शाह- एक बार POK से कर लेना तुलना◾BJP का NCP पर निशाना, कहा- NCB अधिकारियों को कार्रवाई करनी चाहिए ताकि मलिक को परिणाम का पता चले◾योगी ने सुलतानपुर में मेडिकल कॉलेज समेत 126 विकास परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया◾सीएम अरविंद केजरीवाल जाएंगे अयोध्या, 26 अक्टूबर को करेंगे रामलला के दर्शन◾ हवाई सेवा शुरू करना दिखावटी कदम, कश्मीर की वास्तविक समस्या का समाधान नहीं : महबूबा◾बांग्लादेश की आर्थिक प्रगति और समृद्धि के लिए भारत हमेशा एक साझेदार के तौर पर प्रतिबद्ध रहेगा: हर्षवर्धन श्रृंगला ◾कानून मंत्री के सामने ही CJI एनवी रमन्ना ने अदालतों की जर्जर इमारतों पर खड़े किये सवाल ◾CJI एनवी रमन्ना ने किरण रिजिजू के सामने, कानून व्यवस्था को लेकर कही ये बात◾प्रियंका का वादा- अगर कांग्रेस सरकार बनी तो नौकरी और बिजली के साथ किसानों का पूरा कर्ज होगा माफ◾यूपी: अयोध्या कैंट के नाम से जाना जाएगा फैजाबाद रेलवे जंक्शन, CM योगी का फैसला◾ T20 World Cup: महा मुकाबले में पाक को चित करने के लिये तैयार हैं भारतीय खिलाडी◾

‘पूरे देश में खेल होगा’ : ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यहां बुधवार को कहा कि पूरे देश में ‘खेल होगा।’ वहीं, उन्होंने चुनाव में मशहूर हुए अपने नारे ‘खेला होबे’ (खेल होगा) से भाजपा को चुनौती दी, जिससे उन्होंने राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को विधानसभा चुनाव में शिकस्त दी थी।

बनर्जी ने यहां मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा, “ अगर यह बंगाल में हो पाया तो अन्य राज्यों में भी हो सकता है।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कटु आलोचक तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख बनर्जी ने हल्के अंदाज़ में कहा कि उन्होंने हिंदी मोदी से सीखी है जबकि गुजराती का ‘केम छो’ (कैसे हैं) को गृह मंत्री अमित शाह से सीखा है।

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने संयुक्त विपक्ष के लिए ‘खेला होबे’ जैसा कोई नारा तय किया है तो बनर्जी ने कहा, ‘‘पूरे देश में खेला होगा।”

उन्होंने कहा, “ यह सतत प्रक्रिया है.. जब मोदी अगला चुनाव लड़ेंगे तो यह देश के साथ होगा।” मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका मतलब है कि अगला लोकसभा चुनाव मोदी बनाम संयुक्त विपक्ष होगा। वह बंगाल में भाजपा को पराजित करने के बाद राष्ट्रीय राजधानी की पहली यात्रा पर आई हुई हैं।

पूछा गया कि पिछले कुछ सालों में उनकी हिंदी में काफी सुधार आया है तो बनर्जी ने कहा, “ हिंदी नरेंद्र मोदी से सीखी है और गुजराती अमित शाह से।”

गुजरात मोदी और शाह का गृह राज्य है, जहां अगले साल दिसंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं। तृणमूल कांग्रेस 21 जुलाई को ‘शहीद दिवस’ मनाती है और टीएमसी ने बनर्जी के भाषण का गुजराती अनुवाद राज्य के सभी जिलों में प्रसारित कराया है।

यह पहली बार है कि तमिलनाडु, दिल्ली, पंजाब, त्रिपुरा और उत्तर प्रदेश जैसे अन्य राज्यों में भी भाषण को प्रसारित किया गया है।

पश्चिम बंगाल के हाल के विधानसभा चुनाव में जबर्दस्त जीत ने ममता बनर्जी को यह आत्मविश्वास दिया है कि वह देश के बाकी हिस्सों तक पहुंच बनाने की कोशिश करें।

उनकी पार्टी के नेता 2024 के चुनाव में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए संयुक्त विपक्ष के चेहरे के तौर पर उन्हें आगे कर रहे हैं। हालांकि, मुख्यमंत्री ने इसपर मिली जुली प्रतिक्रिया दी है।

संयुक्त विपक्ष से संबंधित सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “ आप मुझसे बच्चे के जन्म से पहले ही उसका नाम पूछ रहे हैं।”

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए बनर्जी ने कहा कि कोरोना वायरस संकट के 'कुप्रबंधन' से भगवा पार्टी को नुकसान होगा।

टीएमसी प्रमुख ने भाजपा के 2014 के चुनावी नारे ‘अच्छे दिन आने वाले हैं’ पर तंज कसते हुए कहा, “ मैं अच्छे दिन देखना चाहती हूं, बहुत अच्छे दिन देख लिए हैं।”मीडिया के साथ बातचीत के दौरान वह मोदी सरकार पर तंज कसती रहीं।

हमेशा की तरह सफेद साड़ी और सैंडल पहनी बनर्जी ने हिंदी और अंग्रेजी दोनों में बात की और वाराणसी की मिठाई को लेकर अपनी पसंद का इज़हार किया, जो मोदी का निर्वाचन क्षेत्र है।

उन्होंने कहा, “2019 में नरेंद्र मोदी लोकप्रिय थे.. .आज, उन्होंने शवों का रिकॉर्ड नहीं रखा है, शवों का अंतिम संस्कार नहीं हो सका और शवों को गंगा नदी में फेंक दिया गया था। जिन लोगों ने अपनों को खोया वे भूलेंगे नहीं और माफ नहीं करेंगे।”