BREAKING NEWS

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को संबोधित करेंगी राष्ट्रपति मुर्मू◾आज का राशिफल (14 अगस्त 2022)◾‘हर घर तिरंगा’ मुहिम को मिली प्रतिक्रिया से बहुत खुश एवं गौरवान्वित हूं : PM मोदी◾उद्धव ने CM शिंदे पर साधा निशाना , कहा - शिवसेना कोई खुले में रखी चीज नहीं कि कोई उसे उठा ले जाए◾Independence Day : देशभक्ति के जोश में डूबी दिल्ली, तिरंगे से जगमगाती प्रतिष्ठित इमारतें◾सावधान ! चीनी मांझे का खतरा बरकरार : कुछ लोगों की जा चुकी है जान , कई लोग घायल◾हर घर तिरंगा अभियान : मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय पर फहराया तिरंगा ◾CM योगी ने वीर जवानों की सराहना की , कहा - देश के लिए बलिदान देने की जरूरत पड़ी, तो जवानों ने कभी संकोच नहीं किया◾NGT चीफ और जयराम रमेश ने उपराष्ट्रपति धनखड़ से की मुलाकात ◾विपक्ष के 11 दलों ने ईवीएम, धनबल और मीडिया के ‘दुरुपयोग’ के खिलाफ लड़ने का किया संकल्प◾ पाक : बारूदी सुरंग हमले में एक जवान की मौत, दो घायल◾ केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोलीं- लोगों से अपने घरों पर तिरंगा फहराने का आग्रह करने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं मोदी ◾J-K News: जम्मू कश्मीर में आतंकियों का कहर! श्रीनगर में ग्रेनेड हमले में CRPF का एक जवान घायल◾जयराम ठाकुर ने कहा- पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की मांग से केंद्र को अवगत कराऊंगा◾ उपराज्यपाल सिन्हा का दावा - आतंकवाद के ताबूत में आखिरी कील ठोकेगी सरकार◾Delhi: सिसोदिया ने कहा- स्कूलों के छात्र उद्यमिता......... कम उम्र में स्टार्ट-अप स्थापित कर रहे◾16 को होगा महागठबंधन सरकार का शपथ ग्रहण समारोह, कांग्रेस की भागीदारी तय ◾तिरंगा अभियान पर मोदी की मां ने बढ़ चढ़कर लिया भाग, पीएम की मां ने बाटे तिरंगे◾आत्मनिर्भर चाय वाली मोना पटेल की चर्चा देश में होगी और वह ब्रांड बनेगी:चिराग पासवान◾हिमाचल में सामूहिक धर्मांतरण जिहाद-रोधी विधेयक ध्वनिमत से पारित ◾

सुबैर हत्या मामले में RSS के तीन वर्कर गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

 केरल के पलक्कड़ जिले में 15 अप्रैल को पीएफआई के एक नेता की हत्या करने के आरोप में आरएसएस के तीन कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। केरल पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस ने कहा कि तीनों आरएसएस के एक नेता के दोस्त थे, जिसकी पिछले साल नवंबर में यहां हत्या कर दी गई थी।

 सभी आरएसएस के कार्यकर्ता हैं

एडीजीपी (कानून व्यवस्था) विजय सखारे ने बताया कि तीन आरोपियों रमेश, अरुमुघन और सरवनन को गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी आरएसएस के कार्यकर्ता हैं। माना जा रहा है कि उन्होंने नवंबर 2021 में आरएसएस नेता संजीत की मौत का बदला लेने के लिए सीधे तौर पर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के नेता सुबैर (43) की हत्या की।

संलिप्तता का खुलासा नहीं हुआ

एडीजीपी ने कहा कि इनमें से रमेश संजीत का बहुत करीबी दोस्त था। रमेश के अनुसार संजीत ने उससे कहा था कि अगर उसे कभी कुछ हुआ तो उसके लिए सुबैर जिम्मेदार होगा। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि संजीत की हत्या की जांच के दौरान सुबैर की संलिप्तता का खुलासा नहीं हुआ था। इसलिए, संजीत की हत्या के बाद रमेश ने कथित तौर पर पीएफआई नेता की हत्या की योजना बनानी शुरू कर दी और तीनों ने उसे एक-दो बार मारने की कोशिश की, लेकिन इलाके में पुलिस की मौजूदगी के कारण वे ऐसा नहीं कर सके। अधिकारी ने कहा कि 15 अप्रैल को वे फिर आए और हत्या को अंजाम दिया।

हत्या के संबंध में सखारे ने कहा

सखारे ने  बताया कि यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि क्या कोई अन्य साजिशकर्ता इसमें शामिल था। आरएसएस नेता एस के श्रीनिवासन (45) की हत्या के संबंध में सखारे ने कहा कि आरोपियों की पहचान कर ली गई है और उन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है। अधिकारी ने कहा, ''वे फरार हैं। इसलिए उन्हें गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है।''

दोनों मामलों में अब तक पहचाने गए दोषियों

सखारे ने सोमवार को कहा था कि दोनों मामलों में अब तक पहचाने गए दोषियों में पीएफआई-एसडीपीआई और भाजपा-आरएसएस दोनों के सदस्य या कार्यकर्ता शामिल हैं।आरएसएस के पूर्व जिला नेता और पदाधिकारी श्रीनिवासन पर शनिवार को मेलमुरी में उनकी मोटरसाइकिल की दुकान पर छह सदस्यीय गिरोह ने हमला किया था। इससे महज 24 घंटे पहले शुक्रवार दोपहर जुमे की नमाज पढ़कर अपने पिता के साथ घर लौट रहे सुबैर की जिले के इलापुल्ली में हत्या कर दी गई थी।

लोगों की एक के बाद एक हत्याओं की इस तरह की यह दूसरी घटना

केरल में पिछले कुछ महीनों में भाजपा/आरएसएस और एसडीपीआई/पीएफआई से जुड़े लोगों की एक के बाद एक हत्याओं की इस तरह की यह दूसरी घटना है। पिछले साल दिसंबर में अलाप्पुझा में 24 घंटे के भीतर एसडीपीआई के एक नेता और बीजेपी के एक नेता की हत्या कर दी गई थी।