BREAKING NEWS

दिल्ली-NCR के लोगों को मिली राहत, NH-24 और दिल्ली से गाजियाबाद जाने वाले रास्ते खुले◾किसानों की ट्रैक्टर रैली में घायल हुए पुलिस कर्मियों को लेकर केंद्र संवेदनशील, 2 अस्पतालों का दौरा करेंगे गृह मंत्री ◾दिल्ली में फिर से महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 2.8 रही तीव्रता ◾कृषि कानून को लेकर 64वें दिन प्रदर्शन जारी, मंद पड़ी किसान आंदोलन की धार◾देश में कोरोना के 11 हजार नए मामले, महामारी से 123 और लोगों ने गंवाई जान◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 21.7 लाख से पार◾लाल किले पर हिंसा से संबंधित दिल्ली पुलिस की FIR में अभिनेता दीप सिद्धू और लक्खा सिधाना का आया नाम ◾प्रधानमंत्री मोदी आज NCC रैली और विश्व आर्थिक मंच के दावोस संवाद को करेंगे संबोधित ◾कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे भारतीय किसान यूनियन ने अपना धरना वापस लिया◾आज का राशिफल (28 जनवरी 2021)◾BJP ने कांग्रेस पर ट्रैक्टर परेड के दौरान किसानों को उकसाने का आरोप लगाया ◾ट्रैक्टर परेड हिंसा : योगेन्द्र यादव, टिकैत, पाटकर सहित 37 किसान नेताओं के खिलाफ नामजद प्राथमिकी ◾राजनाथ ने अमेरिका के नये रक्षा मंत्री ऑस्टिन से क्षेत्रीय, वैश्विक मुद्दों पर बात की ◾बंगाल विधानसभा का दो दिवसीय सत्र शुरू, कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव लाएगी तृणमूल ◾हिंसा में शामिल थे किसान नेता, शर्तों को नहीं मानकर किया विश्वासघात : पुलिस कमिश्नर◾केंद्र सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस,1 फरवरी से खुलेंगे सिनेमा हॉल और स्वीमिंग पूल◾आप नेता राघव चड्डा ने हिंसा के मुद्दे पर बीजेपी को घेरा, लगाए कई गंभीर आरोप◾दिल्ली में हिंसा के लिए गृह मंत्री जिम्मेदार, कांग्रेस ने कहा- केवल 30 से 40 ट्रैक्टर लेकर उपद्रवी लाल किले में कैसे घुस पाए?◾हिंसा के बाद किसान आंदोलन में पड़ी दरार, दो संगठनों ने खुद को किया अलग◾26 जनवरी हिंसा: राकेश टिकैत, अन्य किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

26/11 हमले की 12वीं बरसी, आज के ही दिन 10 आतंकियों ने मुंबई में खेला था खूनी खेल

आज के ही दिन साल 2008 में देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में आतंकी हमला हुआ, जिसने ना सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया। 26 नवंबर 2008 को लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकियों ने मुंबई को बम धमाकों और गोलीबारी से दहशत का तांडव मचाया। इस काले दिन को आज 12 साल पूरे हो गए। इस हमले में शहीद हुए 18 सुरक्षाकर्मियों के बलिदान को देश आज भी याद करता है।

पाकिस्तान से आए 10 आतंकवादियों ने समुद्री रास्ते से मुंबई में प्रवेश कर इस हमले को अंजाम दिया था। रात के तकरीबन आठ बजे थे, जब ये हमलावर कोलाबा के पास कफ़ परेड के मछली बाजार पर उतरे। वहां से वे चार ग्रुपों में बंट गए और टैक्सी लेकर अपनी मंजिलों का रूख किया।

आतंकियों ने अलग अलग जगहों पर अंधाधुंध गोलीबारी की, जिसमें करीब 180 लोग मारे गये थे और 300 से ज्यादा घायल हुए थे। आतंकियों ने नरीमन हाउस, होटल ताज, होटल ओबेराय को अपने कब्जे में ले लिया था। इस हमले में शामिल आंतकी कसाब को फांसी पर लटका दिया था।

हमले में शहीद हुए सुरक्षाकर्मियों को दी गई श्रद्धांजलि 

मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए हमले में आतंकवादियों से मुकाबले के दौरान शहीद हुए सुरक्षा कर्मियों को बृहस्पतिवार को श्रद्धांजलि दी गई। मुंबई पुलिस ने ट्वीट किया, “उनका बलिदान स्मृति और इतिहास से कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। आज हम 26/11 हमलों के शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं।” 

हमले में आतंकरोधी दल के प्रमुख हेमंत करकरे, सेना के मेजर संदीप उन्नीकृष्णन, मुंबई के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अशोक कामटे, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विजय सालस्कर और सहायक उप निरीक्षक तुकाराम ओम्ब्ले शहीद हो गए थे। सुरक्षाबलों द्वारा नौ आतंकवादी मारे गए थे।