BREAKING NEWS

PM मोदी के जन्मदिन पर दिव्यांगों को मिलेगी सौगात, गुजरात में शुरू होगी ‘मोबाइल वैन’ सेवा◾अमेरिकी दूत का दावा- असरफ गनी के अचानक बाहर निकलने से तालिबान का सत्ता बंटवारा समझौता ठप◾गुजरात की नई कैबिनेट में पटेल समुदाय का दबदबा, कुल 24 मंत्रियों ने ली शपथ◾UP में सरकार बनने पर हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देगी AAP पार्टी, मनीष सिसोदिया ने की घोषणा◾हैदराबाद रेप-मर्डर : रेलवे ट्रैक पर मिली आरोपी की लाश, 6 साल की बच्ची के साथ किया था दुष्कर्म◾PM ने रक्षा मंत्रालय के नए दफ्तरों का किया उद्घाटन, सेंट्रल विस्टा पर बोले- सच सामने आते ही विरोधी चुप ◾एक्टर सोनू सूद के घर पहुंची इनकम टैक्स की टीम, दूसरे दिन भी घर का सर्वे जारी◾CDS ने PAK को बताया चीन का ‘प्रॉक्सी’, ड्रैगन को चेतावनी- रॉकेट फोर्स तैयार कर रहा है भारत ◾दिल्ली-NCR में मौसम ने ली फिर करवट, तेज हवाओं के साथ कुछ इलाकों में बारिश◾गुजरात : भूपेंद्र पटेल की नई कैबिनेट का गठन, राजभवन में मंत्री लेंगे शपथ◾भारत में कोविड के 30570 नए मामलों की पुष्टि और 431 लोगों की मौत, उपचाराधीन मरीजों की संख्या हुई कम◾मिसाइल परीक्षण को लेकर किम की बहन ने की दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति की आलोचना, दे डाली ये धमकी◾ तालिबान घरों की ले रहा है तलाशी, अफगान महिलाओं ने शासन के खौफ और सदमे के दर्द को किया बयां ◾तालिबान का बयान- अफगानिस्तान को दी जाने वाली सहायता राशि हमें दें, सरकार इसे लोगों तक वितरित करेंगी ◾एलन मस्क की स्पेसएक्स ने रचा इतिहास, पहली बार 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा, मिशन को दिया यह नाम ◾दुनियाभर में कोविड महामारी का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 22.63 करोड़ के पार ◾दुनिया के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में मोदी, ममता, पूनावाला का नाम◾भाजपा ने 'फर्जी हिंदुओं' वाले बयान को लेकर राहुल पर निशाना साधा◾पंजाब को दहलाने की साजिश : ISI समर्थिक आतंकी मॉड्यूल के चार और सदस्य गिरफ्तार, CM अमरिंदर ने जारी किया हाई अलर्ट◾आगामी यूपी विधानसभा चुनाव में AIMIM की क्या भूमिका होगी? असदुद्दीन ओवैसी ने दी विरोधियों को जानकारी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

गुजरात के भरूच में अस्पताल में आग लगने से कोरोना के 16 मरीजों सहित 18 व्यक्तियों की मौत

गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में शुक्रवार देर रात आग लगने की घटना में कोरोना वायरस के 16 मरीजों और दो प्रशिक्षु नर्सों की मौत हो गई। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। राज्य सरकार ने कहा कि आग की घटना की एक न्यायिक जांच की जाएगी जिसमें एक परोपकारी ट्रस्ट द्वारा संचालित पटेल वेलफेयर अस्पताल की गहन देखभाल इकाई नष्ट हो गई।

पुलिस अधीक्षक राजेन्द्रसिंह चुडास्मा ने कहा, ‘‘सोलह कोरोना वायरस रोगियों और दो नर्सिंग कर्मचारियों की कोविड-19 इकाई के अंदर झुलसने या दम घुटने से मौत हो गई।’’ अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि देर रात करीब एक बजे आईसीयू में जब आग लगी तब कोविड-19 इकाई में 57 मरीजों का इलाज चल रहा था जिसमें से 22 मरीज भूतल पर स्थित आईसीयू में थे। उन्होंने कहा कि यह आग शायद शॉर्ट सर्किट के कारण लगी।

एक अधिकारी ने बताया कि बचाव कार्यों के लिए दमकल कर्मियों के अलावा 15 अधिकारियों सहित लगभग 100 पुलिसकर्मियों को मौके पर तैनात किया गया था। अधिकारी ने बताया कि आग पर एक घंटे के भीतर काबू पा लिया गया। स्थानीय लोगों और मरीजों के परिजनों ने बचाव अभियान में मदद की। इस दौरान कई मरीजों को एम्बुलेंस द्वारा अन्य सुविधाओं में स्थानांतरित किया गया।

कुछ को व्हीलचेयर पर या कपड़े से बने अस्थायी स्ट्रेचर पर इमारत से बाहर लाया गया।चार-मंजिला निर्दिष्ट कोविड-19 अस्पताल अहमदाबाद से 190 किलोमीटर दूर भरूच-जंबूसर राजमार्ग पर स्थित है। सहायक पुलिस आयुक्त विकास सुदा को आग की इस घटना की जांच सौंपी गई है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की।

उन्होंने अतिरिक्त मुख्य सचिव (श्रम) विपुल मित्रा और नगर पालिका प्रशासन के आयुक्त राजकुमार बेनीवाल को जांच करने का निर्देश दिया। दोनों आईएएस अधिकारी शनिवार दोपहर में मौके पर पहुंचे और आईसीयू का दौरा किया। रूपाणी ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार इस त्रासदी की न्यायिक जांच भी करेगी। वडोदरा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक हरिकृष्ण पटेल ने भी अस्पताल का दौरा किया। फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) और राज्य के स्वामित्व वाली बिजली वितरक कंपनी की टीमें भी मौके पर पहुंचीं।

स्वास्थ्य राज्य मंत्री कुमार कनानी ने संवाददाताओं से कहा कि एयर कंडीशनर और वेंटिलेटर के चौबीस घंटे इस्तेमाल से अस्पतालों में आग लगने का खतरा बढ़ गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया। मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘भरूच के एक अस्पताल में आग लगने हुई जनहानि से दुखी हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना।’’

शाह ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘मैं गुजरात के भरूच के एक अस्पताल में आग की दुर्घटना से बेहद दुखी हूं। मैं इस दुर्घटना में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करता हूं।’’ अस्पताल के बाहर अफरातफरी का माहौल था। अधिकारी मृतकों के परिजनों को शांत करने की कोशिश कर रहे थे जो इस दुर्घटना के लिए अस्पताल प्रशासन को दोषी ठहरा रहे थे।

अस्पताल के भीतर, दृश्य और अधिक भयावह थे जहां हादसे की दिल दहला देने वाली तस्वीरों में कुछ मरीजों के शव स्ट्रेचरों और बिस्तरों पर झुलसे नजर आए। एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, ‘‘आग इतनी भीषण थी कि आईसीयू वार्ड जलकर खाक हो गया। वेंटिलेटर और दवाएं रखने के लिए फ्रिज के साथ ही बिस्तरों सहित अंदर रखे सभी उपकरण पूरी तरह जल गए।’’

सिविल अस्पताल में स्थानांतरित किए गए एक मरीज की एक रिश्तेदार को राख के ढेर में मरीज की केस फाइल तलाशते देखा गया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं फ़ाइल तलाश रही हूं ताकि उस अस्पताल के डॉक्टर तुरंत इलाज शुरू कर सकें जहां उन्हें (मरीज को) ले जाया गया है।’’ इससे पहले 26 मार्च को सूरत के एक अस्पताल में आग लगने के बाद स्थानांतरित किये जाने के दौरान चार मरीजों की मौत हो गई थी।

भरूच अस्पताल में शुक्रवार को लगी आग में जान गंवाने वाले कोविड-19 मरीजों की पहचान सईद पटेल, एडम सरिघाट, इब्राहिम रैंडेरा, यूसुफ दीवान, आयशा जॉली, आरिफा मंसूरी, शबीना पटेल, रशीदा मोरली, रेणुका सोलंकी, आयशा पटेल, हजरत वलीशा दीवान, जुलेला इस्माइल पटेल, मेहरुबेन मुसाभाई, यूसुफ बेलिम, जरीना मुसाभाई और महेंद्र श्रीमाली के रूप में की गई। वहीं माधवी पडियार और फरीदा खातून, दोनों प्रशिक्षु नर्सों ने भी इस आग में जान गंवा दी।