पटना : बिहार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक गया के महबोधि होटल स्थित अटल बिहारी वाजपेयी नगर में संपन्न हो गया। बिहार भर से आए भाजपा के लगभग 600 से ज्यादा प्रतिनिधियों को दो दिनों तक भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ गहन संवाद करने और उनके वैचारिक सम्बोधन व दिशा- निर्देश सुनने का मौका मिला। बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्री नित्यानंद राय ने इस कार्यसमिति के दुसरे व आखिरी दिन अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में संगठन के भावी योजनाओं के बारे में बताया।

श्री राय ने कहा कि बिहार के सभी बूथों पर भाजपा की मजबूत उपस्थित सुनिश्चित करके हम बिहार में लोकसभा की सभी 40 की 40 सीटें जितेन्गे। भाजपा का असली मकसद तभी पुरा होगा जब हम 51प्रतिशत मत प्राप्त कर चुनाव जितेन्गे। श्री नित्यानंद राय की अध्यक्षीय टिप्पणी हालांकि संगठन को लेकर था लेकिन उन्होने राजद और कॉंग्रेस पर आज भी कई तल्ख बातें कही। श्री राय ने राहुल गाँधी व तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि जो भारत माता का जायकारा नहीं लगा सकता वो मानसरोवर जाकर क्या करेगा। परिवार की विरासत को आगे बढ़ाना ही जिसका मकसद हो वो देश- प्रदेश का भला कैसे करेगा।

बिहार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में समापन सम्बोधन भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री, राज्यसभा सांसद व बिहार प्रभारी श्री भूपेंद्र यादव का हुआ। श्री भूपेंद्र यादव ने श्री नरेंद्र मोदी सरकार के विकास योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि ‘सबका साथ, सबका विकास’ से बेहतर गवर्नेंस का कोई मॉडल और भावना नहीं हो सकती है। भारत के सर्वांगीण विकास एवं ट्रांसफ़ॉरमेशन के लिए भाजपा ने राष्ट्रव्यापी आन्दोलन खड़ा किया है। हमारी पार्टी परिवार की पार्टी नहीं है बल्कि पार्टी ही हमारा परिवार है।

बिहार में भाजपा सभी 40 सीटें जीते यह संगठन और विचारधारा की ताकत के बुते हम कर दिखाएँगे ऐसा हमें पुर्ण विश्वास है। लेकिन बिहार से भ्रष्ट और परिवारवादी पार्टी को उखाड़ फेकना भी होगा ताकि भविष्य का यह प्रदेश क्रांतिकारी चहुँमुखी विकास का लम्बा रास्ता तय कर सके। श्री भूपेंद्र यादव ने महागठबंधन को एक हायपोथेसिस और मिथ करार देते हुए इसे अवसरवादी- परिवारवादी नेताओं व दलों का जमावड़ा बताया। कॉंग्रेस सत्ता के सुविधाभोगियों का एक तंत्र भर है और यही कारण है कि जब भी कॉंग्रेस सत्ता से जिस किसी प्रदेश से बाहर गई है उसका वापस आना मुश्किल है।

श्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि मोदी सरकार के साढ़े चार सालों में 22करोड़ आम लोगों का जीवन बेहतर हुआ है। 2014 में एनडीए में 14 दल थे जो आज 2018 में 30 दल एनडीए में थे लेकिन यूपीए खत्म होता जा रहा है। 2014 में 5 राज्यों में एनडीए की सरकार थी आज 2018 में 19 राज्यों मे एनडीए की सरकार है। श्री भूपेंद्र यादव ने दम ठोकते हुए कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शह जी के नेतृत्व में हम 2019 के लोकसभा चुनाव में 2014 से ज्यादा सीटें जीतकर श्री नरेंद्र मोदी जी को फिर से प्रधानमंत्री बनाएँगे।

कार्यसमिति की बैठक को अंतिम दिन सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार के 65 प्रतिशत मतदाता एनडीए के साथ है इसलिए यहां 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान 65 प्रतिशत बनाम 35 प्रतिशत के बीच लड़ाई है। हम राष्ट्रवाद के वैचारिक अधिष्ठान, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का नेतृत्व, अमित शाह के संगठन कौशल व केन्द्र तथा राज्य सरकार के कामों के आधार पर जनता के बीच जायेंगे।

श्री मोदी ने कहा कि बिहार में महागठबंधन टूट चुका है। जदयू महागठबंधन का चेहरा था जिसपर पिछले चुनाव में बड़ी जीत मिली थी। दूसरी ओर नीतीश कुमार के आने से एनडीए और मजबूत हुआ है। राजद परिवार में महाभारत छिड़ चुका है। तेज प्रताप यादव घर पर रहते हुए भी राजद की बैठक और यहां तक भारत बंद में भी शामिल नहीं होते हैं। यह पारिवारिक संघर्ष जल्द ही गुल खिलाने वाला है। नरेन्द्र मोदी आज भी देश की जनता की पहली पसंद हैं। आगामी लोकसभा चुनाव नेतृत्वविहीन विपक्ष और नरेन्द्र मोदी के बीच होने वाला है।