महाराष्ट्र के सतारा जिले में संभवत सूखे तथा अपने मवेशियों के लिए पानी एवं चारे की अनुपलब्धता से परेशान 47 वर्षीय एक किसान ने कथित रूप से खुदकुशी कर ली। दहीवाडी थाने के एक अधिकारी ने बताया कि यहां से करीब 250 किलोमीटर दूर मान तहसील में किसान संपत कोकरे ने अपने घर में फांसी लगा ली। उस वक्त उसकी पत्नी और बेटे किसी काम से घर से बाहर गये थे। अधिकारी के अनुसार सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया।

 किसान के भतीजे उत्तम कोकरे ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘ मेरे चाचा बहुत तनाव में थे क्योंकि सूखे और पानी की कमी के चलते उनके पास कोई काम नहीं था। उनके पास कुछ जमीन और मवेशी थे लेकिन वह मवेशी को चारा नहीं दे पा रहे थे।’’ हालांकि पुलिस अधिकारी का कहना है कि संपत को पिछले दस साल से शराब की आदत थी और वह बेरोजगार था, संभवत: इसी वजह से उसने यह कदम उठाया हो। उन्होंने कहा, ‘‘हमने उनके रिश्तेदारों को बयान दर्ज करने के लिए बुलाया है।’’ उन्होंने कहा कि मामले की जांच चल रही है।