BREAKING NEWS

भूपेंद्र सिंह चौधरी ने कहा- गजनी, गोरी ने हिंदुओं की आस्था पर प्रहार किया, वही कार्य सपा प्रमुख कर रहे◾मध्यप्रदेश में खेलो इंडिया’यूथ गेम्स 2022 का भव्य आगाज, 6000 खिलाड़ी करेंगे शिरकत◾अडानी पर हिंडनबर्ग का हमला, कहा- 'धोखाधड़ी को राष्ट्रवाद से ढका नहीं जा सकता'◾1 फरवरी को संसद के पटल पर होगा बजट पेश, 'लोगों को काफी उम्मीदें'◾राजस्‍थान में शीतलहर का कहर, 5वीं कक्षा तक के स्‍कूल 31 जनवरी तक बंद ◾आज का राशिफल (30 जनवरी 2022)◾सिर्फ मोदी को लगता है, चीन ने हमारी जमीन नहीं ली : राहुल गांधी◾BCCI ने भारतीय अंडर-19 महिला टीम के लिए 5 करोड़ के नकद पुरस्कार की घोषणा की◾भारतीय महिला टीम बनी अंडर-19 टी20 विश्व कप चैम्पियन, बधाइयों का लगा तांता◾बारिश भी नहीं डिगा सका बीटिंग रिट्रीट के जज्बे को, गणतंत्र दिवस समारोह का हुआ औपचारिक समापन◾दिल्ली में बारिश, अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे◾ओडिशा के मंत्री नब किशोर दास की गोली लगने से मौत, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री ने शोक जताया◾IND vs NZ : स्पिनरों के दबदबे के बीच भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, श्रृंखला 1-1 से बराबर◾हमीरपुर में दूषित जल पीने से बीमार पड़ने वालों की संख्या 535 हुई, मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट मांगी◾प्रधानमंत्री मोदी : 'तकनीकी दशक बनाने का भारत का सपना होगा साकार'◾रामचरितमानस विवाद में घिरे स्वामी प्रसाद को अखिलेश ने बनाया राष्ट्रीय महासचिव, चाचा शिवपाल को भी मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾यूपी के मंत्री जितिन प्रसाद ने स्वामी प्रसाद मौर्य के रामचरितमानस बयान को बताया चुनावी रणनीति◾Air Asia Flight: एयर एशिया के विमान से टकराया पक्षी, लखनऊ एयरपोर्ट पर हुई इमरजेंसी लैंडिंग◾ सपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की लिस्ट में पार्टी नेताओं के नाम किए घोषित,विवादों में रहें स्वामी प्रसाद मौर्य को बनाया गया महासचिव◾पाकिस्तान की जनता पर टूटा दुखों का पहाड़, पेट्रोल, डीजल के दाम 35-35 रुपये लीटर बढ़े◾

गुजरात में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद भूपेंद्र पटेल फिर से संभालेंगे मुख्यमंत्री पद, 12 दिसंबर को लेंगे शपथ

गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मृदुभाषी चेहरा भूपेंद्र पटेल फिर से राज्य की कमान संभालेंगे। प्रदेश भाजपा प्रमुख सीआर पाटिल ने बृहस्पतिवार को कहा कि पटेल 12 दिसंबर को फिर से मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। प्रदेश में भाजपा ने प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) को शिकस्त देकर प्रचंड बहुमत हासिल किया है।

भाजपा के समर्पित कार्यकर्ता भूपेंद्र पटेल ने नगर निकाय स्तर से राज्य की राजनीति में अपना मुकाम हासिल किया। पार्टी ने पिछले साल जब राज्य में पूरी ही सरकार को बदलने का फैसला किया था तब मुख्यमंत्री पद के लिए भूपेंद्र पटेल के चयन ने सबकों को चौंका दिया था। पार्टी ने विजय रूपाणी के स्थान पर भूपेंद्र पटेल का चयन किया था। मुख्यमंत्री पद की दौड़ में भूपेंद्र पटेल ने तत्कालीन उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल समेत कई अन्य को पछाड़ दिया था।

गुजरात में पाटीदार जाति का वर्चस्व

सितंबर 2021 में मुख्यमंत्री बनने से पहले भूपेंद्र पटेल को अहमदाबाद से बाहर कम ही लोग जानते थे। यहां तक कि उनसे पार्टी के अंदर भी ज्यादा लोग परिचित नहीं थे। उन्होंने गुजरात में अपने आप को एक नेता के तौर पर स्थापित करने के लिए कड़े फैसले किए हैं। भाजपा पहले ही ऐलान कर चुकी थी की पार्टी को बहुमत मिलने पर भूपेंद्र पटेल ही राज्य के मुख्यमंत्री होंगे। ‘ओपिनियन पोल्स’ (सर्वेक्षणों) में वह गुजरात का नेतृत्व करने के लिए लोगों की पहली पसंद के तौर पर उभरे थे।

गुजरात में पाटीदार जाति का वर्चस्व है और अच्छी खासी संख्या में उसके मतदाता हैं और उनका राज्य की राजनीति पर प्रभाव है। उनका प्रभाव शिक्षा, रियलटी और सहकारिता क्षेत्रों पर है।

भूपेंद्र पटेल ने 2017 में 1.17 लाख मतों के अंतर से सीट जीती

पाटीदार आरक्षण आंदोलन के कारण भाजपा 2017 में 99 सीटों पर सिमट गई थी। पार्टी ने 1995 के बाद सबसे कम सीटें जीती थी। पार्टी के लिए यह जरूरी था कि वह इस वर्ग का भरोसा फिर से जीते। पाटीदार के उपसमूह ‘केडवा’ से ताल्लुक रखने वाले भूपेंद्र पटेल को तरक्की देकर और फिर मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाकर पार्टी ने ‘केडवा’ पाटीदार समुदाय को रिझाने की योजना बनाई थी। कुछ राजनीतिक पर्यवेक्षकों को लगता है कि यह वर्ग पार्टी से दूर हो गया था।

अहमदाबाद में जन्मे भूपेंद्र पटेल घाटलोडिया सीट से विधायक हैं। इस सीट से पहले पूर्व मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल विधायक रही थीं। भूपेंद्र पटेल ने 2017 में 1.17 लाख मतों के अंतर से यह सीट जीती थी।

1.92 लाख मतों के अंतर से घाटलोडिया सीट पर जीत दर्ज

बृहस्पतिवार को घोषित हुए नतीजों के मुताबिक, भपेंद्र पटेल ने घाटलोडिया सीट पर अपना कब्जा बरकरार रखा है। पटेल ने 1.92 लाख मतों के अंतर से घाटलोडिया सीट पर जीत दर्ज की है। यह सीट गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है जिसका प्रतिनिधित्व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह करते हैं।

भूपेंद्र पटेल को बहुत से लोग प्यार से ‘दादा’ बुलाते हैं। उन्हें आनंदीबेन पटेल का करीबी माना जाता है। भूपेंद्र पटेल 2015-2017 के बीच अहमदाबाद शहरी विकास प्राधिकरण के प्रमुख रह चुके हैं। इससे पहले वह 2010 से 2015 के बीच अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) की स्थायी समिति के प्रमुख रहे।

विधानसभा चुनाव लड़ने से पहले सक्रिय

सिविल इंजीनिरिंग में डिप्लोमा रखने वाले भूपेंद्र पटेल के करीबी लोगों का कहना है कि वह खुशमिज़ाज हैं और ज़मीन से अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं। विधानसभा चुनाव लड़ने से पहले वह स्थानीय स्तर पर सक्रिय थे और अहमदाबाद जिले की मेमनगर नगर निकाय के सदस्य बने। उन्होंने दो बार इसके प्रमुख के तौर पर सेवा दी।

भूपेंद्र पटेल सरदारधाम विश्व पाटीदार केंद्र के न्यासी भी हैं। यह पाटीदार समुदाय के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए समर्पित संगठन है। पटेल की शादी हेतलबेन से हुई है जो गृहणी हैं। उनका आवास अहमदाबाद के शिलाज इलाके में हैं। उन्हें आध्यात्मिक गतिविधियों के साथ-साथ क्रिकेट और बैडमिंटन जैसे खेल पसंद हैं।